18
January - 2018
Thursday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

Archive for November, 2017

केदार जाधव ने सूरत में खोली एमएस धोनी की ‘दुकान’

Posted by mp samachar On November - 30 - 2017Comments Off on केदार जाधव ने सूरत में खोली एमएस धोनी की ‘दुकान’

download (4)भारतीय क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी केदार जाधव ने सूरत में महेंद्र सिंह धोनी की दुकान खोली है। बुधवार को सूरत में माही के लाइफस्टाइल ब्रांड के नए स्टोर का उद्घाटन समारोह था। कंपनी के इस स्टोर के खुलने से पहले 19 नवंबर को राजस्थान के अजमेर में एक स्टोर की लॉन्चिंग हुई थी। यहां बता दें कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ‘सेवन’ नाम की कंपनी के मालिक भी हैं। यह कैजुअल वियर, स्पोर्ट्स वियर कपड़े और फुटवियर बनाती है। खास बात है कि धोनी खुद ही इसके ब्रांड अंबैस्डर हैं। कंपनी के स्टोर रांची और अजमेर में पहले ही खुल चुके हैं और इसके प्रोडक्ट्स विभिन्न शहरों के मॉल्स में मिलने के साथ ऑनलाइन भी आसानी से मिल जाते हैं। स्टोर के उद्घाटन के बाद ‘सेवन’के आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल से इस बाबत कुछ ट्वीट भी किए गए।

सूरत में स्टोर के खुलने पर उनमें से एक में लिखा था, “आखिरकार हमारे स्टार केदार जाधव ने सूरत में रिबन काटा (स्टोर का)।” साथ ही केदार जब दुकान के बाहर लगे रिबन को काट रहे थे, उसकी तस्वीर भी उसमें पोस्ट की गई थी।

केदार जब यहां स्टोर का उद्घाटन करने आने वाले थे, उससे पहले ही एयरपोर्ट से लेकर स्टोर तक में फैंस उनकी एक झलक पाने के लिए जमा हो गए थे। स्टोर के उद्घाटन समारोह के बाद केदार ने फैंस के साथ स्टोर में तस्वीरें खिंचाई और उन्हें ऑटोग्राफ भी दिए।

धोनी का यह ब्रांड फरवरी 2016 में ‘आरएस सेवन लाइफस्टाइल’ के सहयोग से लॉन्च हुआ था। कंपनी के कपड़े और फैशन एसेसरीज सेक्शन आरएस सेवन लाइफस्टाइल के पास है। वहीं, फुटवियर सेक्शन धोनी का है। रोचक बात है कि कंपनी का नाम और धोनी की जर्सी (वनडे और टी-20) का नंबर एक ही है। भारत के अलावा ब्रांड के अमेरिका और मिडिल ईस्ट में भी वितरक हैं।

पद्मावती: संसदीय कमेटी के सामने भंसाली की आज होगी पेशी

Posted by mp samachar On November - 30 - 2017Comments Off on पद्मावती: संसदीय कमेटी के सामने भंसाली की आज होगी पेशी

padmavati-mos_113017084939विवादों में घिरी फिल्म पद्मावती के लिए आज बेहद अहम दिन है. यह बहुचर्चित विवाद आज संसद के गलियारे में गूंजेगा. आज डायरेक्टर संजय लीला भंसाली और सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी को संसद की इन्फॉर्मेशन और टेक्नॉलजी कमेटी के सामने पेश होना है, जहां वो अपना पक्ष रखेंगे. दूसरी तरफ लोकसभा की पेटीशन कमेटी के सामने भंसाली, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और सेंसर बोर्ड पद्मावती विवाद पर अपना पक्ष रखेंगे. वहीं दिल्ली विश्वविद्यालय में रानी पद्मिनी के लिए लेक्चर रखे गए हैं.

11 बजे पिटीशन कमेटी के सामने सुनवाई

सबसे पहले बात करते हैं पद्मावती पर होने वाली सियासी सुनवाई की. निर्देशक भंसाली को सुबह 11 बजे संसद की पिटीशन कमेटी के सामने हाजिर होना है. स्टैंडिंग पिटीशन कमेटी ने आज CBFC और सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधिकारियों को भी समन किया गया है, ताकि ये पता किया जा सके कि इस मामले में अब तक क्या कार्रवाई हुई है.

दोपहर 3 बजे भंसाली और सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी को संसद की इन्फॉर्मेशन और टेक्नॉलजी की स्टैंडिंग कमेटी के सामने पेश होना है. इस कमेटी की अध्यक्षता अनुराग ठाकुर करेंगे. जहां भंसाली फिल्म को लेकर अपना पक्ष रखेंगे. इस कमेटी में परेश रावल और राज बब्बर को भी शामिल किया गया है.

बता दें, 17 नवंबर को हुई कमेटी की बैठक में ये फैसला किया गया था कि फिल्म से जुड़ी चुनौतियों पर विचार करने के लिए इंडस्ट्री के लोगों को बुलाकर बात करनी चाहिए. पद्मावती विवाद के बाद जिस तरह फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने अपनी नाराजगी जताई थी. उसे देखते हुए कमिटी के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने तय किया सबसे पहले सबसे पहले डायरेक्टर भंसाली को बुलाया जाए.

जिस तरह से फिल्म पद्मावती पर इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप लग रहे हैं. इसे देखते हुए दिल्ली यूनिवर्सिटी के दौलत राम कॉलेज में इस हफ्ते लेक्टर रखे गए हैं. इसका मकसद स्टूडेंट को रानी पद्मिनी से जुड़े फैक्चुअल तथ्यों से अवगत कराना है. यह चर्चा रानी पद्मिनी के ऐतिहासिक और सांस्कृतिक प्रासंगिकता पर आधारित होगी. लेक्चर को RSS से जुड़े संगठन अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना (ABISY) के UGC मेंबर इंद्र मोहन, IGNOU प्रोफेसर कपिल कुमार, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक शिक्षक फ्रंट के महासचिव विरेंद्र सिंह द्वारा दिया जाएगा. हालांकि कॉलेज ने इस लेक्टर से खुद को अलग कर लिया है.

इस लेक्चर्स पर पैनल मेंबर वीरेंद्र सिंह ने कहा, रानी पद्मिनी को मिथक के रूप में खारिज किया जा रहा है. यह कहा जा रहा है कि रानी पद्मिनी के अस्तित्व को सिद्ध करने के लिए कोई ऐतिहासिक सबूत नहीं हैं. वे एक ऐतिहासिक फिगर हैं और यह ऐतिहासिक विशेषज्ञों और वरिष्ठ प्रोफेसरों द्वारा पढ़ाया जाएगा.

भंसाली की फिल्म ने राजनीतिक रंग पहले ही ले लिया था. गुजरात, राजस्थान, यूपी, एमपी और बिहार में फिल्म को बैन करने का ऐलान किया जा चुका है. 1 दिसंबर को रिलीज होने वाली इस फिल्म की रिलीज डेट पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है. ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि150 करोड़ के बड़े बजट की फिल्म पद्मावती रिलीज भी होगी या विरोध की आग में जल जाएगी.

ग्वालियर के ITM यूनिवर्सिटी ने दी युवराज को डॉक्टरेट की उपाधि

Posted by mp samachar On November - 30 - 2017Comments Off on ग्वालियर के ITM यूनिवर्सिटी ने दी युवराज को डॉक्टरेट की उपाधि

201711301615334100_gwaliors-ITM-university-felicitated-yuvraj-singh_SECVPFग्वालियर। भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी युवराज सिंह को ग्वालियर के आईटीएम विश्वविद्यालय द्वारा ‘डॉक्टरेट इन फिलोसिफी होनोरिस कॉसा (पीएचडी एच.सी)’ की उपाधि से नवाजा गया है। इन दिनों टीम से बाहर चल रहे युवराज वापसी के लिए राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में फिटनेस ट्रेनिंग कर रहे हैं।

युवराज के साथ-साथ डॉ. ए.एस. कुमार, गोविंद निहलानी (फिल्म जगत), डॉ. अशोक वाजपेयी (कविता), रजत शर्मा (मीडिया), डॉ. आर.ए. माशलेकर (विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी) और अरुणा रॉय (सामाजिक कार्य) को भी इस उपाधि से नवाजा गया है। इस सम्मान को प्राप्त कर युवराज ने कहा, “मैं इस उपाधि से नवाजे जाने पर काफी सम्मानित महसूस कर रहा हूं। इस क्रम में इस उपाधि के साथ मुझ पर एक अतिरिक्त जिम्मेदारी आ गई है।”

युवराज ने अपने करियर में एक खिलाड़ी के तौर पर 400 मैच खेले हैं और उनमें 10,000 से अधिक रन बनाए हैं। चंडीगढ़ के निवासी युवराज ने 2007 में भारतीय टीम की टी-20 विश्व कप में खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाई। इसके अलावा, 2011 विश्व कप में खिताबी जीत पर टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार मिला।

क्रिकेट जगत से हटकर युवराज ने सामाजिक कार्यो में अपनी हिस्सेदारी दी है। कैंसर की बीमारी से जूझने और इससे बाहर निकलने के बाद 2012 में बॉम्बे ट्रस्ट अधिनियम 1950 के तहत उन्होंने ‘यू वी केन’ संस्था की शुरुआत की थी।

इस संस्था का लक्ष्य कैंसर से पीड़ित लोगों की मदद करना और उन्हें इस बीमारी से लड़ने के लिए प्रेरित करना है। इसके साथ ही यह संस्था कैंसर पीड़ितों की वित्तीय सहायता के लिए धन भी जुटाती है।

भारत और अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुका पाकिस्तान, हाफिज सईद फिर हिरासत में

Posted by mp samachar On November - 30 - 2017Comments Off on भारत और अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुका पाकिस्तान, हाफिज सईद फिर हिरासत में

download (3)इस्लामाबाद
भारत और अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुकते हुए पाकिस्तान ने मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड और जमात उद दावा के चीफ हाफिज सईद को एक बार फिर हिरासत में ले लिया है। हमारे सहयोगी कुछ दिन पहले नजरबंदी से रिहा किए गए आतंकी सरगना सईद को एक बार फिर से हिरासत में लिया गया है। हालांकि यह साफ नहीं हो पाया है कि उसे किस केस में फिर से हिरासत में लिया गया है।

भारत ने हाफिज को रिहा किए जाने के खिलाफ कड़ी नाराजगी जाहिर की थी। साथ ही अमेरिका ने भी पाकिस्तान से साफ कहा था कि हाफिज को फिर से गिरफ्तार किया जाए। माना जा रहा है कि इसी दबाव के आगे पाकिस्तान को झुकना पड़ा है।

हाफिज को भले ही फिर हिरासत में ले लिया गया हो, लेकिन इस बार उसके खिलाफ कमजोर केस बनाए जाने के संकेत मिल रहे हैं। ऐसे में उसे फिर अदालत से राहत मिल जाए तो हैरानी नहीं होगी। जानकार यह भी बता रहे हैं कि पाकिस्तान ने सिर्फ दुनिया के आगे अपना चेहरा बचाने के लिए यह कार्रवाई की है।

24 नवंबर को पाकिस्तान की एक अदालत ने सबूतों के अभाव में हाफिज को नजरबंदी से रिहाई दे दी थी। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और सेना चीफ रह चुके परवेज मुशर्रफ ने बुधवार को कहा था कि वह हाफिज सईद के बड़े समर्थक हैं।इस्लामाबाद
भारत और अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुकते हुए पाकिस्तान ने मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड और जमात उद दावा के चीफ हाफिज सईद को एक बार फिर हिरासत में ले लिया है। हमारे सहयोगी चैनल टाइम्स नाउ के मुताबिक, कुछ दिन पहले नजरबंदी से रिहा किए गए आतंकी सरगना सईद को एक बार फिर से हिरासत में लिया गया है। हालांकि यह साफ नहीं हो पाया है कि उसे किस केस में फिर से हिरासत में लिया गया है

ATM से लेन-देन फेल होने पर बैंक को देना होता है 100 रुपये रोज मुआवजा, ये है RBI का नियम

Posted by mp samachar On November - 30 - 2017Comments Off on ATM से लेन-देन फेल होने पर बैंक को देना होता है 100 रुपये रोज मुआवजा, ये है RBI का नियम

29_11_2017-rupee1पैसे निकालने के लिए अब लोग ATM जाना ही पसंद करते हैं, यहां बस कार्ड लगाओ और पैसे निकल आते हैं। बैंक भी एटीएम को बढ़ावा दे रहे हैं, इससे बैंकों में लाइन भी नहीं लगती और लोगों का टाइम भी बचता है। कभी कभी एटीएम से पैसे निकालते वक्त दिक्कत का भी सामना करना पड़ता है, जैसे कि आप एटीएम से पैसे निकाल रहे हैं और पैसे निकालते वक्त आपके खाते से तो पैसे कट गए लेकिन एटीएम से नहीं निकले। इस स्थिति में बैंक आपके पैसे 7 दिन के अंदर-अंदर अपने आप आपके अकाउंट में जमा कर देता है। आरबीआई के नियम के मुताबिक जिस बैंक में आपका अकाउंट है वह बैंक 100 रुपए रोजाना पेनल्टी के तौर पर देगा।
ये है नियम: ATM से पैसे निकालते वक्त ऐसी स्थिति आने पर कस्टमर को अपने बैंक जाना होगा, जिसमें खाता है। वहां इससे संबंधित शिकायत देनी होगी। शिकायत देने के 7 दिन के अंदर-अंदर यदि पैसे नहीं आते हैं तो बैंक को रोजाना 100 रुपए के हिसाब से जुर्माना देगा। यह जुर्माना तब तक देना होगा जब तक पैसे वापस नहीं आ जाते। अगर 7 दिन में पैसे वापस आ जाते हैं तो बैंक कोई जुर्माना नहीं देगा। RBI के निर्देश हैं कि बैंकों को जुर्माने की रकम कस्टमर के खाते में खुद डालनी होगी। इसके लिए कस्टमर की ओर से दावा ठोकने की जरूरत नहीं होगी। खास बात यह है कि जिस दिन फेल्ड ट्रांजैक्शन के पैसे वापस होंगे। उसी दिन जुर्माने की रकम भी अकाउंट में डालनी होगी।

कैसे करें क्लेम: बैंक से पेनल्टी लेने के लिए ट्रांजैक्शन फेल होने के बाद 30 दिन के अंदर शिकायत दर्ज करानी होगी। शिकायत के साथ ट्रांजैक्शन की पर्ची या अकाउंट स्टेटमेंट बैंक में देनी होगी। बैंक के अधिकृत कर्मचारी को अपने डेबिट कार्ड की डिटेल देनी होंगी। अगर 7 दिन के भीतर आपका पैसा वापस नहीं आता तो आपको एनेक्शर-5 फॉर्म भरना होगा, जिस दिन आप ये फॉर्म भरेंगे आपकी पेनल्टी उसी दिन से चालू हो जाएगी।

इस साल जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने मारे 200 आतंकी, अब दी वॉर्निंग ‘सरेंडर करो वरना मारे जाओगे’

Posted by mp samachar On November - 30 - 2017Comments Off on इस साल जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने मारे 200 आतंकी, अब दी वॉर्निंग ‘सरेंडर करो वरना मारे जाओगे’

30_11_2017-terrorist-attackश्रीनगर। सुरक्षाबलों ने आज कश्मीर के बडगाम और सोपोर में दो अलग-अलग मुठभेड़ों में पांच आतंकियों को मार गिराया। इसके साथ ही वादी में जारी आप्रेशन ऑल आउट में मरने वाले आतंकियों की संख्या भी 200 का आंकड़ा पार कर गई है। इन दोनों मुठभेड़ों में दो सुरक्षाकर्मी भी जख्मी हो गए, जबकि आतंकियों के समर्थन में हिंसा पर उतरी भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस के बल प्रयोग में तीन लोग जख्मी हुए।

इस बीच, संबंधित प्रशासन ने शरारती तत्वों के मंसूबों को नाकाम बनाने और अफवाहों पर काबू पाने के लिए बडगाम, पुलवामा व सोपोर के कुछ हिस्सों में इंटरनेट सेवाओं को ठप कर दिया है। सुबह एक विशेष सूचना पर सेना की 10 गढ़वाल रेजिमेंट के जवानों और राज्य पुलिस विशेष अभियान दल के जवानों के संयुक्त कार्यदल ने जिला बढगाम में चरार-ए-शरीफ के साथ सटे फुटलीपोरा में जैश ए मोहम्मद के आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर तलाशी अभियान चलाया।

देखें तस्वीरें: जम्मू-कश्मीर में आतंकियों और सुरक्षाबलों में मुठभेड़

सुबह सात बजे के करीब जैसे ही जवान अस्सदुल्लाह नामक एक ग्रामीण के मकान के पास पहुंचे, अंदर छिपे आतंकियों ने फायरिंग कर दी। जवानों ने भी अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। इसके साथ ही वहां मुठभेड़ शु़रू हो गई, जिसमें दोपहर दो बजे तक चार आतंकी मारे गए थे और दो मकान तबाह हुए थे। इसी दौरान आतंकियों व सुरक्षाबलों के बीच फायरिंग की चपेट में आकर सिनार अहमद नामक एक युवक गोली लगने से जख्मी हो गया।

अलबत्ता, स्थानीय सूत्रों ने बताया कि मुठभेड़ की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में स्थानीय लोग नारेबाजी करते हुए घरों से बाहर निकल आए। उन्होंने जवानों पर पथराव करते हुए उनके साथ मारपीट का प्रयास किया। इस पर हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठियों और आंसूगैस के अलावा हवाई फायरिंग का भी सहारा लेना पड़ा। इसमें ही सिनार जख्मी हुआ। उसके अलावा एक अन्य युवक भी जख्मी हुआ है।

बडगाम में मुठभेड़ शुरू होने के करीब चार घंटे बाद सोपोर के सगीपोरा में भी सेना की 9 पैरा और राज्य पुलिस विशेष अभियान दल के जवानों के संयुक्त कार्यदल ने आतंकियों को जिंदा या मुर्दा पकड़ने के लिए एक अभियान चलाया। जवानों ने जैसे ही आतंकी ठिकाने की घेराबंदी शुरू की,आतंकियों ने उन पर राइफल ग्रेनेड दागते हुए अपने स्वचालित हथियारों से फायरिंग कर दी। जवानों ने भी अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। इसके बाद शुरू हुई मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया और 9 पैरा के एक कमांडो समेत दो सुरक्षाकर्मी जख्मी हो गए।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि बडगाम और सोपोर में जारी मुठभेड़ों में पांच आतंकी मारे गए हैं। उन्होंने बताया कि फुटलीपोरा में एक या दो आतंकी और छिपे हो सकते हैं।

दिसम्बर माह में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत होंगे सामूहिक विवाह सम्मेलन

Posted by mp samachar On November - 29 - 2017Comments Off on दिसम्बर माह में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत होंगे सामूहिक विवाह सम्मेलन

burhanpurजिले में आगामी दिसम्बर माह में मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना के तहत सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजन की तैयारियां अभी से पूर्ण कर ले। इसके अलावा निर्धारित तिथियों का अभी से प्रचार-प्रसार करायें, जिससे अधिक से अधिक लोगों को इसकी जानकारी रहे एवं अधिकाधिक कन्याओं के विवाह इन सम्मेलनों के माध्यम से हो सके। यह निर्देश कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बुधवार को कलेक्टोरेट सभागृह में आयोजित समय सीमा की बैठक में जिले के सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं नगरीय निकायों के मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को दिये। इसके अलावा जिन हितग्राहियों को इसमें सम्मिलित होना हैं उनका पंजीयन शीघ्रता से करवाना सुनिश्चित करें। जनपद पंचायत खकनार में 14 दिसम्बर व बुरहानपुर में 23 दिसम्बर को ये सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित किए जायेंगे। बुरहानपुर के सम्मेलन में बुरहानपुर विकासखण्ड के सभी पंचायतों तथा बुरहानपुर शहर के हितग्राही लाभान्वित हो सकेंगे। जबकि नगरीय निकाय नेपानगर में 7 दिसम्बर, शाहपुर में 21 दिसम्बर को ये सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित किए जायेंगे।
लंबित प्रकरणों का निराकरण करें संबंधित अधिकारी
समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने सीएम हेल्पलाईन, जनसुनवाई, समय सीमा, समाधान ऑनलाईन, 250 दिवस से अधिक लंबित प्रकरण एवं वरिष्ठ कार्यालयों से प्राप्त पत्रों की समीक्षा करते हुए शीघ्रता से निराकरण करने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिये। कलेक्टर ने बैंक संबंधी प्रकरणों की समीक्षा करते हुए जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक को निर्देशित किया कि बैंकर्स से आपसी समन्वय स्थापित कर प्रकरणों का निराकरण करवाना सुनिश्चित करें, ताकि आवेदकों को राहत मिल सकें। इसके लिये वे फील्ड भ्रमण कर सभी संबंधित बैंक से संपर्क करें।
प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा कर तेजी लाने के निर्देश
कलेक्टर श्री सिंह ने समय सीमा की बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजनान्तर्गत आवास निर्माण की समीक्षा कर संबंधितो को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होनें दोनो जनपदों के सीईओ को निर्देशित किया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत तीसरी किश्त जारी करवाना सुनिश्चित करें। इसके अलावा उन्होंने नगरीय निकायों में प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रगति की जानकारी नगर निगम और दोनों सीएमओ से प्राप्त की। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया कि इस कार्य में तेजी लायें।
कलेक्टर ने बैठक में आदि शंकराचार्य की प्रतिमा हेतु ‘‘एकात्म यात्रा‘‘ के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रस्तावित यात्रा 19 दिसम्बर 2017 को ओंकारेश्वर से प्रांरभ होकर बुरहानपुर नगर में 22 व 23 दिसम्बर को जिले में निर्धारित मार्ग से होती हुई पुनः खरगोन के लिए रवाना होगी। इसके लिये सभी संबंधित अधिकारी अपने-अपने स्तर पर आवश्यक तैयारियां कर लें। इस यात्रा के तहत विभिन्न गतिविधियां आयोजित होगी। इसमें 1 से 10 दिसम्बर 2017 के मध्य सभी शासकीय/निजी महाविद्यालयों में जिला स्तरीय चित्रकला प्रतियोगिता एवं जिला स्तरीय संभाषण प्रतियोगिता का आयोजन होगा। वहीं 3 दिसम्बर को प्रत्येक ग्राम पंचायत पर भजन संध्या का आयोजन स्थानीय भजन मण्डली के द्वारा किया जाना है।
केसलेस भुगतान हेतु जागरूकता लाये अधिकारी
कलेक्टर ने सीईओ जनपद, जिला अग्रणी प्रबंधक व ई-गवर्नेंस प्रबंधक को ग्राम पंचायत निम्बोला एवं नेपानगर में केशलेस भुगतान संबंध में जन-जागरूकता लाने हेतु निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित कर ले कि उक्त दोनों स्थानों पर सभी के पास रू-पे कार्ड सभी दुकानों में पीओएस मशीन उपलब्ध हो जायें। इस हेतु सभी तैयारियां कर ले तथा कार्यशालाऐं आयोजित करें ताकि केसलेस भुगतान के संबंध में अधिक से अधिक लोगों को जागरूक किया जा सकें।
बैठक में यह भी दिये निर्देश
बैठक में कलेक्टर ने जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी को आधार सीडिंग करवाने के निर्देश दिये।
वहीं जिला कार्यक्रम अधिकारी और डीपीसी को आधार पंजीयन में तेजी लाने के।
रोजगार अधिकारी को 15 एवं 16 दिसम्बर को महिलाओं के लिये रोजगार मेला कार्यक्रम का आयोजन करने के।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दस्तक अभियान की आवश्यक तैयारिया करने के निर्देश दिये।

12 वर्ष प्रदेश के विकास में मिल के पत्थर के समान – सांसद श्री पटेल

Posted by mp samachar On November - 29 - 2017Comments Off on 12 वर्ष प्रदेश के विकास में मिल के पत्थर के समान – सांसद श्री पटेल

khargone उत्कृष्ट विद्यालय क्र.1 में बुधवार को मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल सम्मेलन आयोजित किया गया। आयोजित सम्मेलन में 156 हितग्राहियों को 3 करोड़ 34 लाख 84 हजार 272 रूपए की राशि के प्रमाण पत्र वितरित किए गए। सम्मेलन में क्षेत्रीय सांसद श्री सुभाष पटेल, क्षेत्रीय विधायक श्री बालकृष्ण पाटीदार, कलेक्टर श्री अशोक कुमार वर्मा, अपर कलेक्टर श्री शीलेंद्रसिंह, पूर्व विधायक श्री बाबुलाल महाजन उपस्थित रहे। सम्मेलन के पश्चात सांसद श्री पटेल ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों का अवलोकन किया। साथ ही सांसद श्री पटेल ने परिसर में पौधारोपण भी किया। मेला प्रारंभ होने से पूर्व सांसद श्री पटेल ने बेटी बचाओं जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाई।
इस दौरान क्षेत्रीय सांसद श्री पटेल ने कहा कि श्री शिवराजसिंह चौहान ने मुख्यमंत्री के तौर पर आज बुधवार को अपने 12 वर्ष पूर्ण किए है। ये 12 वर्ष प्रदेश के विकास में मिल के पत्थर के समान है। शासन ने विकास के लिए योजनाओं का जिस तरह क्रियांवयन किया वो सराहनीय और प्रशंसनीय है। इन 12 वर्षों में कई योजनाओं के द्वारा अनेक लोगों के सपने भी पूरे हुए है। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक श्री पाटीदार ने भी प्रदेश सरकार में मुख्यमंत्री के 12 वर्षों को याद करते हुए शुभकामनाएं दी। उन्होंने यह भी कहा कि आज मध्यप्रदेश में उनके कार्यकाल के दौरान विकास की पूरी संभावनाएं सफल हो रही है। इन 12 वर्षों में समाज के अंतिम व्यक्ति के विकास के अवसर भी बनाए गए है। कलेक्टर श्री वर्मा ने रोजगार सम्मेलन में उपस्थित हुए विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि आप एक बरगद के पेड़ के समान हो। यह मेला आपके विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। आप संकल्प ले और जुनून के साथ आगे बढ़े। सम्मेलन को पूर्व विधायक श्री महाजन ने भी संबोधित किया।
यह सब भी हुआ सम्मेलन में

आयोजित सम्मेलन में बड़ी तादाब में मौजूद विद्यार्थियों ने अपनी योग्यतानुसार कंपनियों के साथ चर्चा भी की। साथ ही उन्होंने विभाग के अधिकारियों के साथ उद्यमी बनने के सुत्र भी जाने। उत्सुक और योग्य छात्रों ने विभाग के अधिकारियों से सलाह मशविरा करते हुए किस योजना का कैसे लाभ दिया जा सकता है और उसके लिए आवश्यक योग्यता के साथ किस तरह के दस्तावेजों की जरूरत होगी। आयोजित सम्मेलन में आईआईटी और पॉलेटेक्निक द्वारा बनाए गए मॉडल प्रदर्शनी में हौनहार छात्रों के कौशल और कला को सभी ने सराहा। सम्मेलन में विभिन्न विभागों द्वारा गत वर्षों में बनाए गए हितग्राहियों के उत्पादों का भी प्रदर्शन रखा गया। साथ ही विभागों ने अपनी-अपनी प्रदर्शनियां लगाकर योजनाओं की जानकारियां भी प्रदान की।
इन योजनाओं के द्वारा हितग्राहियों को दिए प्रमाण पत्र
आयोजित सम्मेलन में 156 हितग्राहियों को 3 करोड़ 34 लाख 84 हजार 272 रूपए की राशि के प्रमाण पत्र वितरित किए। इनमें राष्ट्रीय परिवार सहायता योजनांतर्गत 5 हितग्राहियों को 1 लाख रूपए की राशि। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 10 हितग्राहियों को लाभांवित किया गया। पशु चिकित्सा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं में 10 हितग्राहियों को 593500 की राशि। नगर पालिका की चक्रीय निधि आरएफ द्वारा संचालित योजना में 9 हितग्राहियों को 90 हजार रूपए की राशि। मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनांतर्गत 15 हिग्राहियों को 7 लाख 30 हजार रूपए की राशि। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 4 हितग्राही को 1197762 रूपए की राशि। मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनांतर्गत 5 हितग्राहियों को 5 लाख रूपए की राशि। जिला व्यापार एवं उद्योग द्वारा मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजनांतर्गत 8 हितग्राहियों को लाभांवित किया गया। जिला व्यापार एवं उद्योग द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 11 हितग्राहियों को 63.50 लाख रूपए की राशि के प्रमाण पत्र वितरित किए गए।
इसी तरह जिला अंत्यावसायी विभाग द्वारा मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजनांतर्गत 1 हितग्राही को 20 लाख रूपए की राशि। जिला अंत्यावसायी विभाग द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 2 हितग्राही को 5 लाख रूपए की राशि। पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विभाग द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 5 हितग्राही को 23 लाख रूपए की राशि। पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विभाग द्वारा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनांतर्गत 10 हितग्राही को 1 करोड़ लाख रूपए की राशि। जिला शहरी विकास अभिकरण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनांतर्गत 1 हितग्राही को 50 लाख रूपए की राशि। जिला शहरी विकास अभिकरण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 3 हितग्राहियों को 8 लाख रूपए की राशि। आदिवासी वित्त विकास निगम द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 1 हितग्राही को 1.50 लाख रूपए की राशि। हरकरधा विभाग द्वारा योजनांतर्गत 6 हितग्राहियों को 11 लाख रूपए की राशि। जिला पंचायत खरगोन द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत 5 हितग्राहियों को 5 लाख रूपए की राशि। जिला पंचायत खरगोन द्वारा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजनांतर्गत 5 हितग्राहियों को 2.5 लाख रूपए की राशि। सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग द्वारा 5 हितग्राहियों को 4 लाख रूपए की राशि तथा नर्मदा झाबुआ ग्रमीण बैंक क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा अलग-अलग योजनाओं में 20 हिग्राहियों को 20 लाख रूपए की राशि के प्रमाण पत्र वितरित किए गए। मेले में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के 10 हितग्राहियों और मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के 8 हितग्राहियों को भी लाभांवित किया गया, जिनकी राशि में इनमें शामिल नहीं है।

लखनऊ: लश्कर-ए-तैयबा का फरार आतंकी अब्दुल नईम शेख होटल से अरेस्ट

Posted by mp samachar On November - 29 - 2017Comments Off on लखनऊ: लश्कर-ए-तैयबा का फरार आतंकी अब्दुल नईम शेख होटल से अरेस्ट

Terror suspect Abdul-Nayeem Sheikh arrestedनई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने लश्कर-ए-तैय्यबा के फरार आतंकी अब्दुल नईम शेख को मंगलवार को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया। वह वर्ष 2014 में मुंबई पुलिस की हिरासत से फरार हो गया था। उसे बुधवार को दिल्ली की अदालत में पेश कर एनआईए पूछताछ के लिए रिमांड पर लेगी। वह वाराणसी व लखनऊ में रहकर महत्वपूर्ण सुरक्षा स्थलों की रैकी कर रहा था। वह कश्मीर व हिमाचल में भी रहा। उस पर गुजरात दंगों के बाद महाराष्ट्र में रहकर गुजरात के बड़े नेता और विश्व हिन्दू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया की हत्या करने की साजिश रचने के भी आरोप रहे है।

एनआईए के सूत्रों ने बताया कि वर्ष 2006 में महाराष्ट्र के औरंगाबाद में लश्कर-ए-तैय्यबा के द्वारा सप्लाई किए गए भारी मात्रा में एके-47 बरामद की गई थी। इस मामले में औरंगाबाद पुलिस ने अबू जुंदाल समेत 22 लश्कर के आतंकियों को गिरफ्तार किया गया था। इसी मामले में लश्कर का सबसे सक्रिय आतंकी अब्दुल नईम शेख भी गिरफ्तार किया गया था। वह औरंगाबाद का रहने वाला था। महाराष्ट्र पुलिस उसे वर्ष 2014 में कोलकाता से लेकर मुंबई जा रही थी, तभी छत्तीसगढ़ में रायपुर के करीब वह ट्रेन से कूद कर भाग निकला था।
एनआईए सूत्रों का कहना है कि उसे लखनऊ में चारबाग रेलवे स्टेशन के करीब एक होटल से गिरफ्तार किया गया। उसे बड़े ही गोपनीय ढंग से एटीएस, एनआईए और सैन्य खुफिया एजेंसियों ने पूछताछ की। उसने कबूला है कि वह फरार होने के बाद कश्मीर गया और वहां लश्कर आतंकियों से मिलकर उसने सैन्य प्रतिष्ठानों की जासूसी की। वह कुछ दिनों तक हिमाचल में भी रहा, जहां उसने कसोल में रैकी की। इस दौरान उसकी योजना इज़राइली नागरिकों को निशाना बनाने की थी।

वह कुछ दिन तक वाराणसी में रहा। वहां उसने अपना नेटवर्क बनाया और किराये का कमरा लेकर रहने लगा। वह इस दौरान लगातार पाकिस्तान में बैठे आईएसआई और लश्कर के आकाओं से संपर्क में रहा। खुफिया एजेंसियों के लिए उसकी गिरफ्तारी एक बड़ी चुनौती बनी हुई थी। उसके वर्ष 2016 में उसके साथी आतंकियों को महाराष्ट्र की मकोका अदालत ने सजा सुनाई, जिसमें सात आतंकियों को उम्रकैद की सजा हुई।

एनआईए सूत्रों ने बताया कि उस पर आंध्र प्रदेश में मक्का मसजिद में आतंकी हमले, मुंबई में ट्रेन ब्लास्ट के भी आरोप रहे हैं। उसने वाराणसी व लखनऊ में अपने साथियों का बड़ा नेटवर्क बना लिया था। साथ ही उसने दिल्ली में भी कुछ महत्वपूर्ण सैन्य स्थलों की जासूसी की है। इस संबंध में यूपी एटीएस को भी सूचना दी गई है।

लश्कर आतंकी को एनआईए की हिरासत में भेजा

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को पाकिस्तान के लश्कर-ए-तैयबा संगठन के कथित आतंकवादी को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की 10 दिन की हिरासत में भेज दिया। संदिग्ध आतंकी को पिछले दिनों कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर गिरफ्तार किया गया था। उसकी पहचान मोहम्मद आमिर अवान के रूप में की गई है, जिसे सेना ने 24 नवंबर को उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा इलाके से गिरफ्तार किया था। इससे पहले एनआईए ने जिला न्यायाधीश पूनम ए बांबा के सामने आरोपी को पेश किया और पूछताछ के लिए हिरासत मांगी। शुरुआती पड़ताल में पता चला है कि लश्कर में उसका कोड अबू हमजा था। वह कराची के पास बरदिया का रहने वाला है और उसे पीओके से घाटी में भेजा गया था।

हाफिज सईद के हर मंसूबे को खाक करने को तैयार BSF’

Posted by mp samachar On November - 29 - 2017Comments Off on हाफिज सईद के हर मंसूबे को खाक करने को तैयार BSF’

BSF 'ready to clean up every motive of Hafiz Saeed'नई दिल्ली। मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और आतंक का आका हाफिज सईद की आजादी के बाद भारतीय सीमा पर आतंकी हमलों की अटकलें तेज हो गई हैं. कयास यह भी लगाए जा रहे हैं कि हाफिज सईद अपने किसी बेहद खतरनाक मंसूबे को अंजाम देने के फिराक में है. ऐसे में आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब देने के लिए भारत की तैयारी कैसी है, इस पर आज तक की टीम ने बीएसएफ के डीजी केके शर्मा से बातचीत की.

किसी भी आतंकी हमले से निपटने को तैयार

हाफिज सईद के आजाद होने के बाद इंटेलिजेंस एजेंसियों का कहना है कि हाफिज आतंकी ट्रेनिंग कैम्प में आ सकता है. इस पर BSF के डीजी केके शर्मा ने बताया कि हाफिज सईद पहले भी आतंकी ट्रेनिंग कैम्प और लॉन्च‍िंग पैड पर आता रहा है. इस बात पर कोई शक नहीं है कि वो दोबारा सीमा पार बने लॉन्चिंग पैड पर आए. लेकिन इसके लिए हमारी सेना पूरी तरह तैयार है. सीमा पार बहुत सारे लॉन्च‍िंग पैड और ट्रेनिंग कैम्प चल रहे हैं. ऐसे में उनसे निपटने की हमारी पूरी तैयारी है.

बर्फबारी में घुसपैठ

केके शर्मा ने बताया कि घुसपैठ करने वाले अध‍िकांश आतंकी बर्फबारी का इंतजार करते हैं. इस बार भी ऐसी जानकारी मिल रही है कि आतंकी बर्फबारी के समय घुसपैठ कर सकते हैं. लेकिन BSF के जवान उनकी यह ख्वाहिश इस बार पूरी नहीं होने देगी. बीएसएफ घुसपैठ से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है.

शर्मा ने कहा कि आतंकियों ने पिछले साल भी पाक के एक सीमा चौकी घुसपैठ करने की कोश‍िश कर रहे थे, तभी BSF ने पाकिस्तानी चौकी अभियाल डोगरा को फायर कर उड़ा दिया. इस साल भी अभियाल डोगरा और उसके आस पास पूरी नजर रखी जा रही है.

तकनीक की मदद

सीमाओं की सुरक्षा और अभेद्य बनाने के लिए बीएसएफ ने स्मार्ट फेंस की मदद ली है. इससे भारतीय सीमा को पार करना लगभग असंभव होगा. केके शर्मा ने कहा कि भारतीय सीमा की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है और इसमें हम तकनीक की मदद ले रहे हैं. समार्ट फेंस से हम आतंकी घुसपैठ को रोकने में कामयाब होंगे, जिसमें सारे टेक्निकल सोल्युशन हैं. साल 2018 तक भारतीय सीमा को पूरी तरह तकनीक से लैस कर लिया जाएगा.

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या