19
April - 2018
Thursday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

Archive for March 9th, 2018

लोक कल्याण शिविर ‘‘जागरूकता से सशक्तिकरण‘‘ 11 मार्च को

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on लोक कल्याण शिविर ‘‘जागरूकता से सशक्तिकरण‘‘ 11 मार्च को

download (6)रायसेन राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार न्यू मॉड्यूल लोक कल्याण शिविर ‘‘जागरूकता से सशक्तिकरण‘‘ 11 मार्च को ग्राम खरगावली स्थित होमगार्ड मैदान पर प्रातः 10.30 बजे से आयोजित किया जा रहा है। इस शिविर में अनेक विभागों द्वारा विभिन्न योजनाओं के 2620 हितग्राहियों को 4 करोड़ 96 लाख 85 हजार 786 रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में उच्च न्यायालय जबलपुर के न्यायाधीश श्री जेके महेश्वरी मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित होंगे।
जिला जज एवं सत्र न्यायाधीश श्री विमल प्रकाश शुक्ला की अध्यक्षता में इस शिविर के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। जिला जज एवं सत्र न्यायाधीश श्री शुक्ला तथा कलेक्टर श्रीमती भावना वालिम्बे ने प्रत्येक विभाग की विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित किए जाने वाले हितग्राहियों की जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि शिविर में आने वाले प्रत्येक हितग्राही को लाभान्वित किए जाने वाली योजनाओं के स्वीकृति पत्र या प्रमाण पत्र वितरित किया जाना सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ ही अनेक विभागों द्वारा शिविर में स्टॉल लगाकर विभागीय गतिविधियों तथा योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। बैठक में शिविर स्थल पर पेयजल, बैठक व्यवस्था, यातायात व्यवस्था तथा एलईडी के माध्यम से योजनाओं का प्रचार-प्रसार के संबंध में निर्देश दिए गए। बैठक में अपर जिला न्यायाधीश तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री भूपेन्द्र कुमार सिंह, एसपी श्री जगत सिंह राजपूत, सीईओ जिला पंचायत श्री अमनवीर सिंह बैस, एसडीएम श्री वरूण अवस्थी, जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री मिथलेश डहेरिया सहित अनेक विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।
2626 हितग्राहियों को 4 करोड़ 96 लाख रूपए के हितलाभ से किया जाएगा लाभान्वित
बैठक में जानकारी दी गई कि इस शिविर में कुल 2626 हितग्राहियों को 4 करोड़ 96 लाख 85 हजार 786 रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा। शिविर में जनपद पंचायत सांची के अंतर्गत 2142 हितग्राहियों को 3 करोड़ 17 लाख 55 हजार 500 रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा। जिसमें मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना के 551 हितग्राहियों को, कर्मकार मण्डल के 403 हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। इसी प्रकार 385 हितग्राहियों को प्रतिमाह 300 रूपए की पेंशन, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 40 हजार रूपए प्रतिहितग्राही के मान से 779 हितग्राहियों को 3 करोड़ 11 लाख 60 हजार रूपए, राष्ट्रीय परिवार सहायता के तहत 20 हजार रूपए प्रति परिवार के मान से 24 परिवारों को 4 लाख 80 हजार रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा।
उद्यानिकी विभाग द्वारा 17 हितग्राहियों को 2 लाख 90 हजार 231 रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा। जिसमें प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत स्प्रिंकलर सिस्टम पर 11 हितग्राहियों को 1 लाख 37 हजार 981 रूपए का अनुदान, नीबू फल क्षेत्र विस्तार योजना के तहत एक हितग्राही को 72 हजार रूपए, यंत्रीकरण स्पेयर पम्प योजना के तहत 2 हितग्राहियों को 50 हजार रूपए तथा सब्जी क्षेत्र विस्तार योजना के तहत तीन हितग्राहियों को 30 हजार 250 रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा। अंत्यावसायी शाखा रायसेन द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत एक हितग्राही को 3 लाख रूपए, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना के तहत 4 हितग्राहियों को 2 लाख रूपए के हितलाभ से, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र रायसेन द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 10 हितग्राहियों को 45 लाख 80 हजार रूपए के हितलाभ से एवं मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड रायसेन द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 7 हितग्राहियों को 5 लाख 55 हजार रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा।
इसी प्रकार शिविर में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत 165 महिला हितग्राहियों को गैस कनेक्शन वितरित किए जाएंगे। नगर पालिका परिषद रायसेन द्वारा पट्टा वितरण के तहत 188 हितग्राहियों को 5 लाख रूपए, स्व-सहायता समूह बैंक लिंकेज के तहत एक समूह को 80 हजार रूपए तथा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना के तहत चार हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा। आदिवासी वित्त विकास निगम रायसेन द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत एक हितग्राही को 2 लाख 50 हजार रूपए तथा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना के तहत 3 हितग्राहियों को 1 लाख 50 हजार रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा। एनआरएलएम द्वारा स्व-सहायता समूह बैंक लिंकेज के तहत 70 हितग्राहियों को 72 लाख रूपए, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत 3 हितग्राहियों को 3 लाख रूपए तथा मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना के तहत 4 हितग्राहियों को 1 लाख 10 हजार रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा। पशु चिकित्सा विभाग द्वारा आचार्य विद्यासागर गौसंवर्धन योजना के तहत डेयरी स्थापना के तहत 6 हितग्राहयों को 34 लाख 15 हजार 55 रूपए के हितलाभ से लाभान्वित किया जाएगा।
स्वास्थ्य परीक्षण शिविर
शिविर स्थल पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण शिविर लगाया जाएगा। जिसमें विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा शिविर में आने वाले लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा तथा निःशुल्क दवाएं वितरित की जाएगीं। साथ ही गंभीर बीमारी पाए जाने पर जिला चिकित्सालय में चिकित्सा की व्यवस्था भी की जाएगी।

जिले में 5 हजार किसानों को खेत तालाब योजना का मिलेगा लाभ

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on जिले में 5 हजार किसानों को खेत तालाब योजना का मिलेगा लाभ

download (5)झाबुआ जिले में जल संरक्षण एवं ग्रीष्म ऋतु में पेयजल समस्याग्रस्त गांवो में पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिये कार्ययोजना बनाने के लिए आज कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में संबंधित विभागीय अधिकारियों की बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने की। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, एसडीएम पेटलावद श्री हर्षल पंचौली, एसडीएम झाबुआ श्री के सी परते, एसडीएम थांदला, मेघनगर श्री अली सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में जनसहभागिता से जल संरक्षण के लिए काम करने के लिए निर्णय लिया गया कि 1 अप्रैल को महिला बाल विकास विभाग, 8 अप्रैल को कृषि विभाग, 10 अप्रैल को सहकारी समितियो के सदस्य, 12 अप्रैल को सर्वशिक्षा अभियान स्कूल/छात्रावास के बच्चे, 3 अप्रैल को जन अभियान परिषद के विद्यार्थी, 5 अप्रैल को आजीविका मिशन के स्वयं समूह की महिलाओं द्वारा जल संरक्षण के लिए जल संरचनाएँ बनाने का काम जनसहभागिता से किया जाएगा, तालाबो का गहरीकरण किया जाएगा एवं तालाब से निकलने वाली मिट्टी किसान अपने खेतो में निःशुल्क ले जा सकेगे।
ग्रीष्म काल में ग्रामीण क्षेत्रो में जल स्तर कम होने से बन्द पडे हेण्डपम्प में राईजर पाइप बढ़ाने/ मोटर लगाकर पेयजल व्यवस्था करने के लिए आवश्यक निर्णय लिये गयें। जिले में मुख्यमंत्री ग्राम नलजल योजना अन्तर्गत 24 गांवों में अप्रैल अंत तक पेयजल सप्लाय प्रारंभ कर दिया जाएगा।
बैठक में कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने स्कूल एवं आंगनवाड़ी में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए डीपीसी, महिला बाल विकास एवं ई.ई. पीएचई को निर्देशित किया। जिन छात्रावासो में पेयजल समस्या है उनमें मोटर लगाने का काम प्राथमिकता से करने के निर्देश ई.ई.एवं एसी ट्रायबल को दिये गये।

पहले सिंधिया की अर्जुन से तुलना, अब कांग्रेसी को 10 जीत का आशीर्वाद

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on पहले सिंधिया की अर्जुन से तुलना, अब कांग्रेसी को 10 जीत का आशीर्वाद

images (6)भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर अपने बयानों और कारनामों के चलते अपनी सरकार के लिए परेशानी का सबब बनते रहे हैं। वहीं कई बार विधानसभा सत्र के दौरान उनका हास-परिहास सदन के तनावपूर्ण माहौल को हल्का करने में भी अहम भूमिका निभाता है। लेकिन, इस बार तो गौर कांग्रेस विधायक को दस बार जीतने का आशीर्वाद देते नज़र आ रहे हैं।

दरअसल गुरूवार को सदन में कोलारस और मुंगावली में हाल ही में निर्वाचित हुए कांग्रेस विधायकों ने शपथ ली। शपथ के बाद दोनों विधायक वरिष्ठ नेताओं से मेल-मिलाप कर रहे थे। इसी दौरान सदन की दीर्घा में जब बाबूलाल गौर मीडिया से बात कर रहे थे तो कोलारस विधायक महेन्द्र सिंह यादव बाबूलाल गौर से मिलने पहुंच गए।

कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक महेन्द्र सिंह यादव ने पैर छूकर बाबूलाल गौर से आशीर्वाद लिया। इस दौरान गौर ने महेन्द्र सिंह को बधाई देते हुए गले लगाया और दस बार चुनाव जीतने का आशीर्वाद दिया। बाबूलाल गौर ने यहां इस बात का जिक्र भी किया कि मुंगावली और कोलारस में दोनों यादव चुनाव जीत गए। वहीं कांग्रेस विधायक महेन्द्र सिंह यादव ने भी सम्मान जाहिर करते हुए कहा कि बाबूलाल गौर साहब हमारे समाज के महामहिम हैं और इनका आशीर्वाद सदा हमारे साथ रहा है।

गौरतलब है कि इससे पहले गौर उपचुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद सिंधिया की तुलना चक्रव्यूह को बेदने की क्षमता रखने वाले अर्जुन से कर चुके हैं। जिसके बाद कांग्रेस ने सवाल उठाया था कि अगर सिंधिया, अर्जुन हैं तो कौरव कौन हैं। वहीं विपक्षी पार्टी के नेता को दस बार जीतने का आशीर्वाद देकर पूर्व मुख्यमंत्री ने एक बार फिर अपनी ही पार्टी को आंखें दिखा दी हैं।

अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी सरकार पर जमकर हमला बोला

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी सरकार पर जमकर हमला बोला

download (1)भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी सरकार पर जमकर हमला बोला। सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा की 14 साल से सरकार होने के बावजूद राज्य अब भी बीमारु ही है। वर्तमान सरकार पूरी तरह प्रचार, प्रपंच और पाखंड के लिए तरह-तरह के उपक्रम करती रहती है।

नेता प्रतिपक्ष सिंह ने गुरुवार को विधानसभा में कहा कि राज्य में फोर-पी की सरकार है। जहां सिर्फ पैसों के लिए सरकार किसी भी हद तक जा सकती है। प्रचार, प्रपंच और पाखंड करते हुए इस सरकार ने 14 साल से प्रदेश को बीमारू बनाकर रखा है, यह सरकार के आंकड़े ही बताते हैं।

नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि यह सरकार पिछले 14 साल से सत्ता में है, 12 साल से शिवराज सिंह मुख्यमंत्री हैं, लेकिन आज भी चाहे बेटी बचाओ की बात हो, चाहे शिशु मृत्यु दर की बात हो, चाहे मातृ मृत्यु दर की बात हो, हमारी स्थिति देश के सबसे खराब राज्यों में है। शिक्षा हो, बेरोजगारी हो, प्रदेश की आर्थिक स्थिति हो, औद्योगिक विकास हो, मानव विकास हो या कानून व्यवस्था की बात हो, मध्यप्रदेश की स्थिति बदतर है।

‘मध्यप्रदेश में शिशु मृत्यु दर 50 फीसदी’
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की आर्थिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट में भारत के महारजिस्ट्रार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय शिशु मृत्यु दर 37 थी लेकिन मध्यप्रदेश में यह 50 रही, जो कि अन्य प्रांतों की तुलना में सर्वाधिक है। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों में शिशु मृत्युदर 25 थी, वह मध्यप्रदेश में 34 दर्ज की गई। मातृ मृत्यु दर भी 221 थी, जबकि राष्ट्रीय दर 167 थी।

‘कुपोषण के मामले मप्र में सबसे ज्यादा’
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश आज भी कुपोषण के मामले में देश में अव्वल है। इसका कारण नौनिहालों तक पोषण आहार नहीं पहुंच पाना है। आज पंचायतों के जरिए स्व-सहायता समूहों के माध्यम से पोषण आहार वितरण की बात हो रही है, जबकि यह व्यवस्था तो 2003 में कांग्रेस सरकार के समय थी।

सिंह ने सवाल किया कि इस व्यवस्था को क्यों बदला गया। बीते 13 साल से कुपोषण के नाम पर लाभ का धंधा प्रदेश में चल रहा था। बेटी बचाओ के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च किए गए, लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला। मुख्यमंत्री की कर्मस्थली और विदेश मंत्री के संसदीय क्षेत्र में ही लड़कियों की संख्या कम है जो कि 721 प्रति हजार है, जो प्रदेश में सबसे कम है।

‘निजी अस्पताल में इलाज कराने को मजबूर हैं लोग’
उन्होंने कहा कि आज भी कोई व्यक्ति बीमार होता है तो उसकी प्राथमिकता होती है कि वह सरकारी अस्पताल में नहीं किसी निजी अस्पताल में इलाज कराए। यह स्थिति तब है जब स्वास्थ्य और महिला बाल विकास के क्षेत्र में पिछले एक साल में लगभग 10 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए।

राज्य की स्कूली शिक्षा का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि आज राज्य में 10 हजार ऐसे विद्यालय हैं, जहां एक भी अध्यापक नहीं है। प्रदेश में बीते दो सालों में बेरोजगारों की संख्या में 53 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। वहीं राज्य सरकार कर्ज लेकर घी पीने में लगी है। यही कारण है कि राज्य पर कर्ज बढ़कर डेढ़ लाख करोड़ हो गया है।

जीत के बाद बोले कप्तान रोहित, ‘गेंदबाजों ने योजना के मुताबिक की गेंदबाजी’

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on जीत के बाद बोले कप्तान रोहित, ‘गेंदबाजों ने योजना के मुताबिक की गेंदबाजी’

09_03_2018-rohit-श्रीलंका में चल रही त्रिकोणीय सीरीज के दूसरे मैच में भारत ने बांग्लादेश को 6 विकेट से हरा दिया। कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर बांग्लादेश को पहले बल्लेबाजी के आमंत्रित किया। बांग्लादेश की टीम ने निर्धारित 20 ओवरों में 8 विकेट के नुकसान पर 139 बनाए। जवाब में भारतीय टीम ने धवन की बेहतरीन बल्लेबाजी की मदद से 4 विकेट के नुकसान पर 18.4 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया। टीम इंडिया की इस जीत के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि अबकी बार टीम इंडिया ने उनकी उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन किया है।

रोहित ने जीत के बाद मीडिया को बताया कि, ‘यह एक शानदार प्रदर्शन था। भारतीय टीम से क्रिकेट के फैंस इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद करते हैं। हमने शुरुआत से लेकर अंत तक अच्छा खेल दिखाया, जिसका नतीजा सबके सामने है।’

सीरीज के पहले मैच में भारतीय टीम को मेजबान श्रीलंका के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी थी जिसके बाद क्रिकेट फैंस नाराज हुए थे और भारतीय टीम को सोशल मीडिया पर ट्रोल होना पड़ा था। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि इस हार के बाद टीम ने उन बिन्दुओं पर गहन विचार किया जिसके कारण वो श्रीलंका के सामने पराजित हुए। और फिर हमने अपने गेंदबाजों से गेंदबाजी की लेंथ पर काम किया। इसके बाद अगले मैच में बांग्लादेश के खिलाफ नतीजे सबके सामने हैं। भारत की ओर से इस मैच में बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जयदेव उनादकत ने 3 और शार्दुल ठाकुर ने दो विकेट लिए।

रोहित ने आगे कहा कि, ‘हम चाहते थे कि बांग्लादेशी खिलाड़ी लंबी बांउड्री की ओर बड़े शॉट खेलें। हमारे गेंदबाजों ने योजना पर अच्छी तरह काम किया, जिसका हमें जमकर फायदा भी हुआ।’ रोहित ने कहा कि अभी हमें अपनी फील्डिंग और कैचिंग पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम हर मैच के साथ अपनी टीम को एक बेहतर फील्डिंग टीम बनना चाहते हैं। रोहित ने उम्मीद जताई है कि आने वाले मैचों के दौरान हम पुरानी गलतियों से सबक लेंगे और उन्हें दोहराने से बचेंगे।

श्रीदेवी के निधन के बाद ‘धड़क’ के सेट पर लौटीं जाह्नवी कपूर, करण ने टीम को दी ये हिदायत

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on श्रीदेवी के निधन के बाद ‘धड़क’ के सेट पर लौटीं जाह्नवी कपूर, करण ने टीम को दी ये हिदायत

2018_3$largeimg09_Mar_2018_100144899श्रीदेवी के निधन के बाद उनकी बेटी जाह्नवी कपूर अपनी आनेवाली फिल्‍म ‘धड़क’ की शूटिंग पर लौट आई हैं. मां के निधन के बाद टूट चुकीं जाह्नवी ने हाल ही में अपना 21वां जन्‍मदिन अनाथ बच्‍चों संग मनाया था, क्‍योंकि उनकी मां पहले से ही उनके बर्थडे के लिए प्‍लानिंग कर रही थीं. ऐसे में पिता बोनी कपूर ने जाह्नवी का बर्थडे मनाने को फैसला किया था.
सोशल मीडिया पर शूटिंग की तसवीरें वायरल हो रही हैं जिसमें जाह्नवी साड़ी में नजर आ रही हैं. उनका यह लुक श्रीदेवी की फिल्‍म ‘इंग्लिश विंग्‍लिश’ से मिलती-जुलती लग रही है. ‘धड़क’ करण जौहर के धर्मा प्रोडक्‍शन के तहत बन रही है, इसलिए करण जौहर चाहते हैं कि सेट पर जाह्नवी को अच्‍छा माहौल मिले

न्‍यूज एजेंसी को एक सूत्र ने बताया,’ करण (जौहर) श्रीदेवी के बेहद करीब थे. वे अब जाह्नवी के भी करीब आ गये हैं. वे जानते हैं कि जाह्नवी अभी अच्‍छे से काम नहीं कर पायेंगी. ऐसे में उन्‍होंने टीम को हिदायत दे रखी है कि जाह्नवी से आराम से काम लिया जाये. वे टीम को कह चुके हैं कि जाह्नवी पर किसी भी तरह का दबाव न डाला जाये.’

बता दें कि जाह्नवी के साथ ‘धड़क’ में शाहिद कपूर के भाई ईशान खट्टर नजर आनेवाले हैं. ‘धड़क’ मराठी की सुपरहिट फिल्‍म ‘सैराट’ की हिंदी रीमेक है. फिल्‍म इसी साल 20 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है.

सार्वजनिक क्षेत्र बैंकों को मिलेगी 46,000 करोड़ रुपए से अधिक की पूंजी

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on सार्वजनिक क्षेत्र बैंकों को मिलेगी 46,000 करोड़ रुपए से अधिक की पूंजी

sbi_bank_1028_1520576007_618x347नई दिल्ली: सार्वजनिक क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक बैंकों को इस महीने समाप्त हो रहे वित्त वर्ष में सरकार से 46,101 करोड़ रुपए की इक्विटी पूंजी मिलेगी। इन बैंकों में एसबीआई, पीएनबी, बैंक आफ बड़ौदा, सेंट्रल बैंक, यूनियन बैंक तथा ओबीसी शामिल हैं।

इन बैंकों ने सरकार से पूंजी प्राप्त करने के एवज में उसे तरजीही शेयर आबंटन करने के लिए प्रस्ताव पारित करने को लेकर इस महीने शेयरधारकों की बैठक बुलाई है। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई को सरकार से सर्वाधिक8,800 करोड़ रुपए की पूंजी मिलेगी। भारतीय स्टेट बैंक( एसबीआई) के शेयरधारकों की बैठक15 मार्च को होगी। वहीं पीएनबी ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि बैंक के शेयरधारकों की आसाधारण बैठक 16 मार्च को बुलाई गई है। बैंक ने 5,473 करोड़ रुपए मूल्य के तरजीही शेयर सरकार को आबंटित करने के बारे में निर्णय के लिए यह बैठक बुलाई है।

सरकार की तरफ से बैंक आफ बड़ौदा को 5,375 करोड़ रुपए, सेंट्रल बैंक को 4,835 करोड़ रुपए, यूनियन बैंक आफ इंडिया को 4,524 करोड़ रुपए, ओरिएंटल बैंक आफ कामर्स को 3,571 करोड़ रुपए, देना बैंक 3,045 करोड़ रुपए, सिंडिकेट बैंक 2,839 करोड़ रुपए तथा कारपोरेशन बैंक को 2,187 करोड़ रुपए की शेयर पूंजी मिलेगी। विजया बैंक ने शेयरधारकों की आसाधारण बैठक शुक्रवार को बुलाई है। बैंक 1,277 करोड़ रूपए मूल्य के शेयर तरजीही आधार पर सरकार को आबंटित करने के बारे में शेयरधारकों की मंजूरी लेगी।

नेटफ्लिक्‍स की एक सीरीज में नजर आएंगे बराक और मिशेल ओबामा, सुनाएंगे कहानियां!

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on नेटफ्लिक्‍स की एक सीरीज में नजर आएंगे बराक और मिशेल ओबामा, सुनाएंगे कहानियां!

09_03_2018-barack-obama-shows-for-netflixवाशिंगटन, रायटर्स। हाई प्रोफाइल शो की एक सीरीज को लेकर पूर्व अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा की नेटफ्लिक्‍स से बातचीत चल रही है। न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की रिपोर्ट के हवाले से यह बात सामने आई है। आपको बता दें कि नेटफ्लिक्‍स दुनिया की एक जानी मानी अमेरिकी एंटरटेनमेंट कंपनी है, जो ऑनलाइन वीडियो शो का निर्माण करती है। दुनियाभर के कई देशों में इसके लाखों सदस्‍य हैं।

प्रस्‍तावित डील की शर्तों के तहत नेटफ्लिक्‍स द्वारा ओबामा और उनकी पत्नी मिशेल को वीडियो स्‍ट्रीमिंग सर्विस को लेकर एक्‍सक्‍लूसिव कंटेट के लिए कीमत चुकाई जाएगी। हालांकि कंपनी ने इस पर किसी भी तरह की टिप्‍पणी करने से इंकार कर दिया है।

रिपोर्ट में यह स्‍पष्‍ट रूप से कहा गया है कि ओबामा मौजूदा अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप या कंजर्वेटिव आलोचकों का जवाब देने के लिए नेटफ्लिक्‍स के शो का प्रत्‍यक्ष रूप से इस्‍तेमाल नहीं करेंगे। इसकी बजाव उन्‍होंने प्रेरणादायक कहानियों पर आधारित शो प्रोड्यूस करने पर जोर दिया है।

वहीं रिपोर्ट में यह भी कहा कि डील की वित्तिय शर्तों के बारे में फिलहाल पता नहीं चल सका है। नेटफ्लिक्‍स के अलावा एप्‍पल और अमेजन डॉट कॉम के अधिकारियों ने भी कंटेट डील को लेकर ओबामा से बातचीत करने की इच्‍छा जताई है।

इससे पहले पिछले साल पेंग्विन रेंडम हाउस ने बराक ओबामा और मिशेल ओबामा द्वारा दो किताब प्रकाशित करने को लेकर डील की थी।

श्रीलंका दंगा : पीएम से छिना कानून मंत्रालय, अमरीका ने अभिव्यक्ति की आजादी का किया समर्थन

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on श्रीलंका दंगा : पीएम से छिना कानून मंत्रालय, अमरीका ने अभिव्यक्ति की आजादी का किया समर्थन

srilanka_2463642_835x547-m
अमेरिका ने कहा है कि वह श्रीलंका की राष्ट्रीय सुरक्षा का सम्मान करता है लेकिन इसके साथ ही वह अपने नागरिकों की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता भी सुनिश्चित करे। हिंद महासागर के द्वीपीय देश के कैंडी में दंगा भड़कने से हालात खराब हो गए थे। तीन दिनों तक जारी हिंसा में कई घरों, कारोबारी प्रतिष्ठानों और मस्जिदों को नुकसान पहुंचाया गया। इसके बाद सरकार ने इमर्जेंसी लगा दी।

पिछले सप्ताह बौद्ध सिंहली बहुसंख्यक के एक व्यक्ति की मौत के बाद यह हिंसा भड़की थी। सांप्रदायिक हिंसा पर लगाम लगाने के लिए राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना सरकार ने आपातकाल लगा दिया। कैंडी में इंटरनेट पर भी रोक लगा दी गई। यहां फेसबुक सहित सभी सोशल मीडिया वेबसाइटों पर रोक लगी हुई है।

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा, ‘हम श्रीलंका की राष्ट्रीय सुरक्षा का सम्मान करते हैं, साथ ही अमेरिका निर्बाध, भरोसेमंद और सुरक्षित इंटरनेट सेवा का समर्थन करता है जहां अभिव्यक्ति की आजादी की तरह सभी लोगों के ऑनलाइन अधिकारों की भी रक्षा हो।’

श्रीलंका में आपातकाल लगाने और सोशल मीडिया तक पहुंच बाधित करने के सवाल पर जवाब देते हुए प्रवक्ता ने कहा, ‘अमेरिका लोकतांत्रिक सुशासन के महत्वपूर्ण घटक के तौर पर अभिव्यक्ति की आजादी और सूचना तक पहुंच का सम्मान करता है।’ उधर, ताजा हिंसा के मद्देनजर गुरुवार को राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे से कानून-व्यवस्था मंत्रालय छीन लिया। विक्रमसिंघे की पार्टी के ही वरिष्ठ सदस्य रंजीत मद्दुमा बंडारा ने नए कानून-व्यवस्था मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला लिया है।

महाराष्ट्र में किसानों का बड़ा आंदोलन, मुंबई कूच कर रहे हैं हजारों किसान

Posted by mp samachar On March - 9 - 2018Comments Off on महाराष्ट्र में किसानों का बड़ा आंदोलन, मुंबई कूच कर रहे हैं हजारों किसान

farmers-1520577310नई दिल्ली: महाराष्ट्र में हक की आवाज बुलंद करने के लिए सड़क पर किसानों का सैलाब उतर आया हैं। नासिक से निकले आक्रोशित किसान मुंबई की तरफ मार्च कर रहे हैं। इन किसानों का लक्ष्य बारह मार्च को विधानसभा का घेराव करना है। महाराष्ट्र में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं ऐसे में किसान अपनी मांगों को मनवाने के लिए महाराष्ट्र सरकार पर दबाव बना रहे हैं। महाराष्ट्र में लगातार चौथे दिन किसानों का मुंबई मार्च जारी है। नासिक से मुंबई तक लॉन्च मार्च पर निकले है ये हजारों किसान। किसानों के इस लॉन्ग मार्च का आयोजन किया है अखिल भारतीय किसान महासभा ने।

पूरे परिवार के साथ मुंबई की तरफ मार्च कर रहे इन किसानों की मांग है कि सरकार उनका बिजली का बकाया बिल माफ करे, किसानों का पूरा कर्ज माफ हो, फसलों की वाजिब कीमत मिले और स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को लागू किया जाए। ये किसान सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगा रहे हैं। सड़कों पर आक्रोशित किसानों की ये लंबी कतार लगातार बढ़ती जा रही है लेकिन अभी तक महाराष्ट्र सरकार ने इनकी किसी भी मांग पर विचार नहीं किया है। किसानों ने चेतावनी दी है कि अगर इनकी मांग पूरी नहीं की गई तो ये विधानसभा का अनिश्चितकालीन घेराव करेंगे।

छह मार्च से जारी किसानों का ये मुंबई मार्च लगातार जारी है। ये किसान नासिक से रवाना हुए थे और बारह मार्च को इन्हें मुंबई में महाराष्ट्र विधानसभा का घेराव करना है। नासिक से मुंबई की दूरी करीब पौने दो सौ किलोमीटर है। रोज़ाना ये किसान तीस से पैंतीस किलोमीटर की दूरी पैदल तय करते हैं। करीब सत्तर किलोमीटर का सफर तय पूरा करने के बाद इन्हें कल की रात शाहपुर इलाके में गुजारी।

बता दें कि महाराष्ट्र लंबे समय से किसानों की समस्या से जूझ रहा है। हज़ारों किसान खुदकुशी कर चुके हैं। शिवसेना और भाजपा में तकरार का बड़ा मुद्दा भी किसान ही हैं। अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव भी अगले साल होंगे। ऐसे में किसानों को लगता है कि सरकार पर दबाव डालने का ये सही वक्त है। देखने वाली बात ये होगी कि किसान सरकार से अपनी मांगे मनवाते पाते हैं या नहीं।

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या