24
February - 2018
Saturday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

Archive for the ‘आपका शहर’ Category

download (2)मध्य प्रदेश के कोलारस और मुंगावली विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए वोटिंग हो रही है. 2018 में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस के लिए उपचुनाव के नतीजे बहुत अहम हैं, क्योंकि उपचुनाव से यह साफ हो जाएगा कि जनता का साथ किसे मिलेगा. दोनों विधानसभा सीटों के उपचुनाव के नतीजे 28 फरवरी को आएंगे.

मध्य प्रदेश के मौजूदा सीएम शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए उपचुनाव 2018 के विधानसभा चुनाव के सेमीफाइल से कम नहीं है. यही वजह है कि चुनाव आयोग ने जब उपचुनाव की तारीख का ऐलान भी नहीं किया था, उसके पहले से ही शिवराज सिंह चौहान और सिंधिया चुनाव की तैयारियों में जुट गए थे.

सूत्रों का कहना है कि सिंधिया के लिए ये उपचुनाव इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि ये दोनों सीटें उनके संसदीय क्षेत्र गुना में पड़ती हैं. इसलिए यहां कांग्रेस की जीत उनके लिए प्रतिष्ठा का विषय है. इसके अलावा, अगले चुनाव को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस के सामने खुद को सीएम कैंडिडेट के रूप में मजबूत दावेदारी पेश कर रहे हैं. ऐसे में दोनों सीटों के उपचुनाव में जीत हासिल करना उनके लिए बेहद जरूरी है.

उपचुनाव में हार से सीएम कैंडिडेट की दावेदारी पर पड़ेगा असर

दोनों में से एक भी सीट पर हार का असर उनकी सीएम कैंडिडेट की दावेदारी पर पड़ सकता है. अगर ऐसा हुआ, तो प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से इसका फायदा ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी के महासचिव दिग्विजय सिंह, विपक्ष नेता अजय सिंह और राज्य के प्रभारी अरुण यादव को होगा. 2018 के विधानसभा चुनाव में इन तीनों नेताओं की दावेदारी मजबूत होगी.

शिवराज के लिए भी जरूरी है उपचुनाव में जीत
अगर बात करें शिवराज सिंह चौहान की, तो सूत्रों के मुताबिक, चौहान के लिए विधानसभा चुनाव के मुकाबले उपचुनाव भी कम महत्वपूर्ण नहीं हैं. इसलिए उनके नेतृत्व में बीजेपी सिंधिया के संसदीय क्षेत्र में हाई वोल्टेज कैंपेन कर रही है. चौहान वो सब कुछ कर रहे हैं, जो उपचुनाव में बीजेपी की जीत को मजबूत बनाती हो.

इसी रणनीति के तहत शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर के नारायण सिंह कुशवाहा को कैबिनेट में शामिल किया. कई बार अपने संसदीय क्षेत्र का दौरा किया. गांवों में रातें भी गुजारी और गांवों में अगले पांच महीने के दौरान कई विकासात्मक कार्य कराने का वादा किया. कोलारस के किरार समुदाय को लुभाने के लिए भी शिवराज ने कई ऐलान किए हैं.

कहीं पासा उल्टा न पड़ जाए
बीजेपी राज्य यूनिट का मानना है कि अगर दोनों सीटों पर हो रहे उपचुनाव में पार्टी को जीत नहीं मिलती है, तो चित्रकूट और अटर उपचुनाव के बाद ये उनकी लागातार चौथी हार होगी. इसके बाद पार्टी हाईकमान कुछ कठोर फैसले भी ले सकती है. लिहाजा चौहान कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. यही वजह है कि जनवरी में शिवराज सिंह चौहान ने में कोलारस में अपने बड़े बेटे कार्तिकेय को भी चुनाव प्रचार अभियान में उतारा था.

सूत्रों का कहना है कि उपचुनाव में जीत शिवराज सिंह और उनकी टीम के लिए नई ऊर्जा का संचार करेगी. उपचुनाव की जीत से अगले विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी का मनोबल भी बढ़ेगा.

चुनाव प्रचार थमने के बाद भिड़ गए थे बीजेपी-कांग्रेस समर्थक
बता दें कि कोलारस और मुंगावली विधानसभा सीटों पर उपचुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने जोर-शोर से प्रचार किया. लेकिन, गुरुवार रात चुनाव प्रचार थमने के बाद रुपये बांटने को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने आ गए. बीजेपी ने मुंगावली के कांग्रेस कैंडिडेट बृजेंद्र सिंह यादव की पैसे बांटते हुए फोटो जारी कर शिकायत की. वहीं, कोलारस में कांग्रेसियों ने भिंड के बीजेपी विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाहा पर पैसे बांटने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने भोपाल और नई दिल्ली में चुनाव आयोग से इसकी शिकायत भी की है.

download (14)

भोपाल। मध्य प्रदेश में विधानसभा की दो सीटों पर हो रहे उपचुनाव में वोटिंग जारी है. राज्य के शिवपुरी जिले के कोलारस और अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच मुख्य लड़ाई है. इसे विधानसभा चुनाव से पहले का सेमीफाइनल भी माना जा रहा है. राज्य में साल के अंत में ही विधानसभा चुनाव होने हैं. कई जगहों पर EVM में दिक्कत बताई जा रही है.

कोलारस में दोपहर साढ़े 12 बजे तक 35 प्रतिशत वोटिंग हुई है. वहीं मुंगावली में साढ़े बारह बजे तक 38 फीसदी मतदान हुआ है.

मुंगावली में कांग्रेस विधायक महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के निधन होने से और कोलारस में कांग्रेस के विधायक रामसिंह यादव के निधन होने से चुनाव हो रहे हैं. मुंगावली उपचुनाव में कुल 13 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि मुख्य मुकाबला कांग्रेस के उम्मीदवार बृजेन्द्र सिंह यादव और भाजपा उम्मीदवार श्रीमती बाई साहब यादव के बीच है. कोलारस में कुल 22 उम्मीदवार इस चुनावी समर में है. मुख्य मुकाबला कांग्रेस के महेन्द्र सिंह यादव और भाजपा के देवेन्द्र जैन के बीच है. मतगणना 28 फरवरी को होगी.

कोलारस निर्वाचन क्षेत्र में दो लाख 44 हजार 457 मतदाता जबकि मुंगावली में एक लाख 91 हजार 9 मतदाता हैं.

भाजपा के लिए मुख्यमंत्री शिवराज चौहान, प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा के अलावा सरकार के एक दर्जन से ज्यादा मंत्रियों ने यहां प्रचार किया है.

कोलारस उपचुनाव में बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने

Posted by mp samachar On February - 23 - 2018Comments Off on कोलारस उपचुनाव में बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने

download (6)भोपाल। कोलारस और मुंगावली विधानसभा उपचुनाव का प्रचार थमते ही गुरुवार रात रुपए बांटने को लेकर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने आ गए। बीजेपी ने मुंगावली के कांग्रेस कैंडिडेट बृजेंद्र सिंह यादव की पैसे बांटते हुए फोटो जारी कर शिकायत की। वहीं कोलारस में कांग्रेसियों ने भिंड के भाजपा विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह पर पैसे बांटने का आरोप लगाया। इस दौरान बीजेपी विधायक की गाड़ी में तोड़फोड़ की गई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कांग्रेस कैंडिडेट महेन्द्र सिंह यादव का सिर फट गया। विवाद के बाद कोलारस में धारा 144 लागू की गई।

मामले में क्या हुई कार्रवाई?

– इंदार थाने में कांग्रेस कैंडिडेट बृजेंद्र सिंह यादव समेत 150 लोगों पर शासकीय कार्य में बाधा डालने और बलवा करने का केस दर्ज हुआ। इसके अलावा कोलारस थाने में भिंड विधायक कुशवाह के ड्राइवर सौरभ जैन की शिकायत पर कांग्रेस कैंडिडेट पर एक और केस दर्ज किया गया।

– चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद भी क्षेत्र में मिलने पर भिंड विधायक के खिलाफ कोलारस थाने में धारा 188 के तहत केस दर्ज किया गया।

– उधर, कांग्रेस प्रवक्ता जेपी धनोपिया ने देर रात भोपाल में एलेक्शन कमीशन ऑफिस पहुंचकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह को मामले की जानकारी दी।

– कांग्रेस का आरोप है कि प्रचार थमने के बाद भी भिंड के बीजेपी विधायक गाड़ी में 35 लाख रुपए रखकर बांट रहे थे। पुलिस ने गाड़ी तो जब्त कर ली, लेकिन पैसे छोड़ दिए। यह गाड़ी विधायक के बेटे पुष्पेंद्र के नाम पर रजिस्टर्ड है।

– भिंड़ विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह ने कहा कि महेंद्र यादव ने खुद मेरी गाड़ी चेक की थी। उसमें उन्हें कुछ नहीं मिला। इन लोगों ने मेरी गाड़ी में तोड़-फोड़ की है। मेरे ड्राइवर ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है।

– बीजेपी का दावा है कि वायरल फोटो बहादुरपुर का है। यहां कांग्रेस कैंडिडेट बृजेंद्र सिंह यादव महिला के पैर छू रहे हैं और उनका समर्थक चंद्रपाल सिंह बैस हाथ में नोट की गड्‌डी लेकर उसे पैसा दे रहा है। हालांकि इस फोटो की प्रमाणिकता साबित नहीं हुई है।

– मामले में कांग्रेस कैंडिडेट बृजेंद्र सिंह ने भाजपा के आरोपों को सिरे से नकार दिया। उन्होंने कहा कि बीजेपी नेता बौखलाहट में इस तरह के आरोप लगा रहे हैं। फोटोशॉप के जरिए इस तरह की फोटो बनाई जा रही हैं।

– मामले में बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा कि कांग्रेस कैंडीडेट प्रत्याशी की शिकायत चुनाव आयोग से की है। इसमें कांग्रेस प्रत्याशी पर आचार संहिता का केस दर्ज कर अयोग्य घोषित करने की मांग की है।

– चुनाव प्रचार खत्म होते ही कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली पहुंच गए थे। वे तुरंत मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत से मिलने उनके निवास पहुंचे। उन्होंने शिवपुरी के कलेक्टर और एसपी को हटाने के साथ ही विधायक कुशवाह को गिरफ्तार करने की मांग की।

प्रचार थमा ट्वीट वार शुरू
– कमलनाथ ने ट्वीट किया कि ”कोलारस कांग्रेस प्रत्याशी महेन्द्र यादव व कांग्रेसजनों पर हमला व लाठीचार्ज दुर्भाग्यपूर्ण। आज की कांग्रेस की जनसभा व रोड शो में उमड़े जनसैलाब व संभावित हार की बौखलाहट में करवाया गया कृत्य। तुरंत दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो, घायलों का समुचित इलाज हो ताकि चुनाव निष्पक्षता से संपन्न हो।”

– उन्होंने दूसरा ट्वीट किया कि ” खतौरा, कोलारस की घटना दुर्भाग्यपूर्ण। कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल के साथ दिल्ली में मुख्य चुनाव आयुक्त से इस मामले की शिकायत की और उचित कार्यवाही की मांग की।”

-चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद शुक्रवार सुबह सागर बीजेपी विधायक शैलेंद्र जैन मुंगावली में दिखाई दिए, जिसकी शिकायत कांग्रेस ने आयोग से की।

– पिपरई पुलिस ने जैन को आचार संहिता उल्लंघन मामले में मुगांवली से गिरफ्तार किया। जैन का कहना है कि वे यहां मंदिर में दर्शन के लिए आए थे ना कि चुनाव प्रचार करने।

– चुनाव प्रचार के थमते ही कांग्रेस लीडर ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक एक मिनट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। वीडियो में सिंधिया महिलाओं के बीच पापड़ बेलते नजर आ रहे हैं।

– दावा किया जा रहा है कि वीडियो शिवपुरी का है, जहां सिंधिया आदिवासी महिलाओं को लुभाने के लिए पापड़ बेलने लगे थे।

पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों की स्वीकृति की तिथि 31 मार्च

Posted by mp samachar On February - 22 - 2018Comments Off on पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों की स्वीकृति की तिथि 31 मार्च

download (7)बड़वानी पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा वर्ष 2017-18 में पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आवेदन पत्रों की आन लाईन स्वीकृति की तिथि 31 मार्च तक निर्धारित की गई है। पात्र विद्यार्थी निर्धारित तिथि तक छात्रवृत्ति पोर्टल पर अपने आवेदन पत्र भर सकते है।
सभी शासकीय, अशासकीय शिक्षण संस्थाओं के प्राचार्यो को निर्देश दिए कि नियमानुसार पात्र विद्यार्थियों के छात्रवृत्ति आवेदन अनिवार्य रूप से प्राप्त कर शत-प्रतिशत छात्रवृत्ति स्वीकृति का लक्ष्य सुनिश्चित करे। निर्धारित तिथि के बाद विद्यार्थियों के छात्रवृत्ति आवेदन मान्य नहीं किए जाएंगे।

कबड्डी एवं खो-खो प्रतियोगिता का टास उछालकर शुभारंभ

Posted by mp samachar On February - 22 - 2018Comments Off on कबड्डी एवं खो-खो प्रतियोगिता का टास उछालकर शुभारंभ

download (6)
दमोह विधायक कप प्रतियोगिता के फाइनल में आज तहसील मैदान में आयोजित कार्यक्रम में वित्त और वाणिज्यिक कर मंत्री पहुंचे। उन्होंने यहां कबड्डी एवं खो-खो प्रतियोगिता का टास उछालकर पराम्पारिक रूप से शुभारंभ किया। इसके पूर्व कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने पर एडीशनल एसपी अरविन्द दुबे ने पुष्प गुच्छ भेंटकर मंत्री जी का स्वागत किया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान: पांच साल का विकास पांच माह में करने का वादा

Posted by mp samachar On February - 22 - 2018Comments Off on मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान: पांच साल का विकास पांच माह में करने का वादा

download (3)भोपाल: मध्य प्रदेश के दो विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव में प्रचार अंतिम दौर में है. सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के नेता एक-दूसरे पर हमले कर रहे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पांच साल का विकास पांच माह में करने का वादा कर रहे हैं, तो दूसरी ओर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री चौहान को घोषणावीर बताया. राज्य के शिवपुरी जिले के कोलारस और अशोकनगर के मुंगावली विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव का प्रचार जोरों पर है. दोनों स्थानों पर भाजपा व कांग्रेस के नेता डेरा डाले हुए हैं. आलम यह है कि हर दूसरे गांव में 100 से 500 मतदाताओं के बीच नेता सभाएं कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को अपनी सभाओं में कहा, लोकतंत्र में चुनाव जनता की भलाई और विकास के लिए होता है. भाजपा सरकार ने पूरे प्रदेश में विकास की गंगा बहाई है, लेकिन मुंगावली क्षेत्र में विधायक भी कांग्रेस के थे और सांसद तो कई वर्षो से कांग्रेस के हैं. उन्होंने मुंगावली के विकास में कोई रुचि नहीं ली. जिसके कारण मुंगावली विधानसभा क्षेत्र विकास की दौड़ में पिछड़ गया है. भाजपा सरकार पांच महीने में पांच साल का कार्य मुंगावली में पूरा करेगी.

मुख्यमंत्री ने कहा, कांग्रेस के जमाने में प्रदेश में सड़कें नहीं होती थीं. हमने प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया. अनेक विकास के काम भाजपा कर रही है, लेकिन कांग्रेस के लोग विकास के काम रुकवाने का षड्यंत्र रचते हैं. कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिवराज के भाषणों की खिल्ली उड़ाई। उन्होंने अपनी सभाओं में कहा, राज्य के मुख्यमंत्री घोषणावीर हैं. उन्होंने अबतक न जाने कितनी घोषणाएं इस क्षेत्र के लिए की, मगर पूरी एक भी नहीं हुई.

राज्य की पूरी सरकार इस इलाके में डेरा डाले हुए है, मतदाताओं से तमाम वादे किए जा रहे हैं. सड़क-सड़क और गांव-गांव में बड़े-बड़े नेता घूमने को मजबूर हैं. यहां के मतदाता वास्तविकता को जानते हैं. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने मुंगावली में कई जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा, आपके वोट में क्षेत्र का विकास छिपा हुआ है. आप भाजपा प्रत्याशी बाईसाहब को वोट देकर मुंगावली क्षेत्र के विकास का रास्ता खोलें.

भाजपा उपाध्यक्ष व सांसद प्रभात झा एवं जिलाध्यक्ष जयकुमार सिंघई के नेतृत्व में भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने मुंगावली विधानसभा उपचुनाव के केन्द्रीय पर्यवेक्षक राजेश कुमार को ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में कहा गया है कि मुंगावली विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस पार्टी पूरी तरह आचार संहिता का उल्लंघन कर रही है. कोलारस में मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने जलाभिषेक यात्राओं और आम सभाओं के माध्यम से आम जनता के बीच जन संवाद एवं जनसंपर्क किया. उन्होंने कहा, हमने कोलारस क्षेत्र के विकास के लिए गुंजारी नदी को जीवित करने का प्रयास किया.

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव ने भी कई चुनावी सभाओं को संबोधित किया. उन्होंने मतदाताओं से कांग्रेस के पक्ष में मतदान की अपील की, और प्रदेश की भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों को कोसा. यादव ने कहा, भाजपा राज में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है. भाजपा की मंत्री यशोधरा राजे मतदाताओं को धमकी दे रही हैं. वह कह रही हैं कि कांग्रेस को वोट दिया तो उनका हुक्का-पानी और सारी सरकारी सुविधाएं बंद कर दी जाएंगी.

भाजपा की दूसरी मंत्री मायासिंह ने क्षेत्र के मतदाताओं को धमकाते हुए कहा कि यदि भाजपा के उम्मीदवार को वोट नहीं दिया तो न तो तुम्हें मकान मिलेगा, न गैस का कनेक्शन, न कन्यादान योजना के लाभ और न ही बच्चों की शिक्षा-दीक्षा का लाभ. विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा, चित्रकूट के बाद मुंगावली और कोलारस विधानसभा उपचुनाव में मुख्यमंत्री चौहान के विकास के दावों की पोल खुल गई है. मुख्यमंत्री ने कोलारस विधानसभा उपचुनाव में प्रचार का जो तरीका अपनाया है, उसने प्रचार के स्तर को तो गिराया ही है, साथ ही यह भी बताया है कि वह यहां की जनता से विकास नहीं, दया के आधार पर वोट चाहते हैं.

उन्होंने मुख्यमंत्री के उस बयान पर प्रतिक्रिया जाहिर की, जिसमें चौहान ने कहा था कि छह माह के लिए वोट दे दो. सिंह ने कहा, यह मुख्यमंत्री की गरिमा के प्रतिकूल है. 13 साल के मुख्यमंत्री जो प्रदेश को बीमारू राज्य से बाहर करने और विकास के तमाम दावे करता हो, वह इस स्तर पर वोट मांग रहे हैं तो इससे स्पष्ट है कि विकास की ढोल में पोल है.

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री का चेहरा पेश करे कांग्रेस: सिंधिया

Posted by mp samachar On February - 21 - 2018Comments Off on मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री का चेहरा पेश करे कांग्रेस: सिंधिया

images

भोपाल। मध्यप्रदेश में सत्ता का फाइनल रण होना अभी बाकी है, पर सत्ता के सेमीफाइनल से पहले ही नया सेनापति नियुक्त करने की मांग तेज होती जा रही है क्योंकि एक खेमा महारथियों के साथ चुनावी मैदान में ललकार रहा है तो दूसरे खेमे के महारथी अपने सेनापति की तलाश में है। ताकि अपने सेनापति के नेतृत्व में दुश्मन की ललकार को करारा जवाब दे सकें और सत्ता के सिंहासन पर कब्जा जमा सकें।

दरअसल, सियासी रण से पहले कांग्रेस अपनों से ही लड़ रही है क्योंकि पार्टी की ओर से मध्यप्रदेश में सीएम का चेहरा कौन होगा? इस बात को लेकर पार्टी के अंदर कई गुट खयाली पुलाव पका रहे हैं, जो कई बार उबलकर पतीले से बाहर भी निकल जाता है। वहीं सिंधिया की जनसभाओं में जिस तरह की भीड़ दिखाई पड़ रही है, उससे सत्ता पक्ष तो परेशान है ही, साथ में कांग्रेस के दूसरे गुटों के चेहरे पर भी कभी-कभार सिकन साफ दिखाई पड़ जाती है।

वहीं पिछले दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि पार्टी को मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए चेहरा पेश करना चाहिए, लेकिन उनके इस सुझाव से प्रदेश के दूसरे वरिष्ठ नेता सहमत नहीं हैं, विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने साफ शब्दों में कहा कि कांग्रेस में चुनावों के पहले सीएम पद के लिए प्रत्याशी पेश करने की परंपरा नहीं रही है।

कोलारस और मुंगावली उप चुनाव में प्रचार के लिए पहुंचे अजय सिंह ने कहा कि पंजाब को छोड़कर किसी भी राज्य में कांग्रेस ने चुनाव से पहले सीएम पद के उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है। राजस्थान हो, छत्तीसगढ़, दिल्ली या कोई दूसरा राज्य, कभी भी कांग्रेस सीएम पद का प्रत्याशी घोषित कर चुनाव नहीं लड़ी है, जबकि दो दिन पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने भी सिंधिया के इस सुझाव को खारिज कर दिया था, यादव का भी यही कहना था कि कांग्रेस में चुनाव से पहले सीएम कैंडिडेट घोषित करने की परंपरा नहीं है।

जहां चेहरा है वहां तो आपको चेहरा पेश ही करना होगा?

चुनाव प्रचार में जान फूंक रहे सिंधिया ने एक बार फिर कहा कि मैं तो मानता हूं जरूरत है और मध्यप्रदेश में आपके पास चेहरे हैं, संसद या विधानसभा चुनाव ही नहीं अब तो पार्षद या जिला परिषद के चुनाव में भी जनता चेहरा देखना चाहती है, यही वास्तविकता बन गयी है पूरे देश में। लिहाजा सभी पार्टियों की नीतियां हर राज्य के लिये अलग होती हैं, मैं यह नहीं कह रहा कि हर राज्य में आपको चेहरा देना होगा, पर जिन राज्यों में आपके पास चेहरे हैं, वहां तो आपको चेहरा देना ही होगा।

सीएम कैंडिडेट से आसान हो जाएगी बीजेपी के खिलाफ लड़ाई

गौरतलब है कि कांग्रेस मध्यप्रदेश में 2003 से सत्ता से बाहर है, राजनीतिक विश्लेष्क मानते हैं कि कांग्रेस की लगातार हार का एक कारण पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं में एकजुटता का अभाव होना भी है, प्रदेश कांग्रेस का एक खेमा मानता है कि सीएम पद के लिए चेहरा पेश करने से भाजपा के खिलाफ लड़ाई आसान हो जायेगी, जबकि एक खेमा संयुक्त नेतृत्व की वकालत कर रहा है।

ये किसी नेता की लड़ाई नहीं, बल्कि भाजपा-कांग्रेस के बीच है

सिंधिया के गुना लोकसभा क्षेत्र के मुंगावली और कोलारस विधानसभा क्षेत्र में 24 फरवरी को उप चुनाव के लिए मतदान होना है, लिहाजा सिंधिया समर्थक मान रहे हैं कि उप चुनावों के परिणाम यदि कांग्रेस के पक्ष में आते हैं तो सिंधिया को सीएम कैंडिडेट बनाने के लिए आलाकमान पर दबाव बनेगा, उनके समर्थक इन चुनावों को सिंधिया बनाम शिवराज बता रहे हैं, लेकिन अजय सिंह इससे भी सहमत नहीं हैं, उन्होंने कहा कि ये किसी नेता की लड़ाई नहीं, बल्कि लड़ाई भाजपा-कांग्रेस के बीच है।

कैलाश, पानाबाई और संतोष का उपचार कराने के निर्देश

Posted by mp samachar On February - 20 - 2018Comments Off on कैलाश, पानाबाई और संतोष का उपचार कराने के निर्देश

downloadश्योपुर कलेक्टर श्री पीएल सोलंकी द्वारा जनसुनवाई के दौरान गंभीर बीमारी से पीडित तीन व्यक्तियों का उपचार सरकारी खर्चे पर कराये जाने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिये गये। उन्होने निर्देशित किया कि उक्त तीनो रोगियो के प्रकरण राज्य बीमारी सहायता निधि अंतर्गत स्वीकृत कर उपचार के लिए भेजा जाये। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री ऋषि गर्ग, एसडीएम श्री आरबी सिन्डोस्कर सहित अन्य विभागो के अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर श्री सोलंकी की अध्यक्षता में आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान ग्राम ढेगदा निवासी कंचन आदिवासी ने अवगत कराया कि उसका पुत्र कैलाश आदिवासी के गले में गठान है तथा वह गंभीर रूप से बीमार है। इस पर जनसुनवाई में मौजूद डॉ. अशोक खरे से उक्त रोगी का परीक्षण कराया गया तथा रोगी को सरकारी वाहन से उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। उन्होने निर्देश दिये कि गठान के परीक्षण के बाद आवश्यकता पडने पर राज्य बीमारी सहायता निधि में प्रकरण तैयार कर स्वीकृत किया जाये तथा रोगी का उपचार कराया जाये। इसी प्रकार गिरधरपुर निवासी रामकिशन आदिवासी ने आवेदन प्रस्तुत किया कि उसकी पत्नि पानाबाई कैंसर से पीडित है तथा 08 माह से उसका उपचार चल रहा है। चिकित्सको द्वारा ऑपरेशन की सलाह दी गई है लेकिन बीपीएल सूची में नाम नही होने से आर्थिक सहायता नही मिल पा रही है। इस पर तहसीलदार कराहल को निर्देशित किया गया कि तत्काल रोगी का नाम गरीबी रेखा की सूची में जोडने की कार्यवाही की जायें तथा राज्य बीमारी सहायता निधि में प्रकरण बनाकर राशि संबधित अस्पताल को भेजी जाये। इसी प्रकार बडौदा निवासी ओमप्रकाश काछी ने अवगत कराया कि उसकी पत्नि संतोष हदृय रोग से पीडित है तथा ऑपरेशन की आवश्यकता है। इस पर उसका नाम भी बीपीएल सूची में शामिल करने के निर्देश बडौदा तहसीलदार को प्रदान किये गये।
कलेक्टर श्री सोलंकी द्वारा ग्राम वीरपुर निवासी श्रीपति पत्नि हरपाल राठोर की भूमि का सीमांकन बंदोबस्त रिकार्ड के आधार पर कराये जाने के निर्देश तहसीलदार वीरपुर को दिये गये। ग्राम बंधाली में स्कूल परिसर में नवीन हैंडपम्प कराये जाने के निर्देश कार्यपालन यंत्री पीएचई श्री पीआर गोयल को दिये गये। ग्राम रानीपुरा से आये ग्रामीणो द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा वर्षो से गांव में खेती की जा रही है तथा पुराना कब्जा होने के बाद 37 अन्य लोगो के नाम उक्त भूमि पट्टे है जिन्हे निरस्त किया जाये। इस संबध में एसडीएम कराहल को जांच करने के निर्देश प्रदान किये गये। जनसुनवाई कुल 252 आवेदन प्राप्त हुए।

मध्‍य प्रदेश: वोटर लिस्‍ट में गड़बड़ी करने के आरोप में जिस DM को हटाया, उसे पिछले साल मिला था सम्‍मान

Posted by mp samachar On February - 20 - 2018Comments Off on मध्‍य प्रदेश: वोटर लिस्‍ट में गड़बड़ी करने के आरोप में जिस DM को हटाया, उसे पिछले साल मिला था सम्‍मान

dm_650x400_41519102152भोपाल : मध्यप्रदेश के मुंगावली में होने वाले उपचुनाव में मतदाता सूची में धांधली के आरोप पर चुनाव आयोग ने अशोकनगर के कलेक्टर बीएस जामोद को हटा दिया है. नए कलेक्टर को चुनने के लिए तीन लोगों का पैनल बनाया गया है.जिस मतदाता सूची में गड़बड़ी के कारण अशोक नगर कलेक्टर बीएस जामोद को चुनाव आयोग ने हटाया है. उसी मतदाता सूची के सतत पुनरीक्षण कार्य में उत्कृष्ट कार्य करने पर मध्य-प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने अशोक नगर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी बीएस जामोद को अवार्ड ऑफ एक्सीलेंस से सम्मानित किया था. पिछले साल जामोद को यह सम्मान राज्यपाल ओमप्रकाश कोहली ने दिया था.

कांग्रेस ने बीजेपी सरकार और प्रशासन पर आरोप लगाए थे कि मतदाता सूची में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की गई है. हालांकि इससे पहले संयुक्त निर्वाचन अधिकारी एसएस बंसल ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा था कि जांच में ऐसा कुछ सामने नहीं आया है और एक नाम के कई व्यक्ति होते हैं. 24 फ़रवरी को मुंगावली में उपचुनाव होगा.

कांग्रेस ने सोमवार को चुनाव आयोग पर मध्य प्रदेश में उपचुनावों से पहले मतदाता सूची में कथित गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से शिकायत की थी. कांग्रेस नेताओं के एक शिष्टमंडल ने चुनाव आयोग को एक ज्ञापन सौंप कर इस संबंध में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित कराने के लिए कदम उठाने को कहा था.

इस शिष्टमंडल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोहन प्रकाश, रणदीप सुरजेवाला, आरपीएन सिंह एवं सत्यव्रत चतुर्वेदी शामिल थे. उन्होंने मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार पर सरकारी मशीनरी के कथित दुरूपयोग का आरोप लगाया.

चुनाव आयोग से शिष्टमंडल की मुलाकात के बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि मध्य प्रदेश में दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव से पहले ‘‘हताश भाजपा लोकतंत्र की हत्या कर रही है’’. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि मतदाता सूची में व्यापक स्तर पर गड़बड़ी की जा रही है. कांग्रेस नेताओं ने इस सिलसिले में कथित ‘सबूत’ सौंप और चुनाव आयोग द्वारा फौरन कार्रवाई की मांग की.

मध्‍य प्रदेश: वोटर लिस्‍ट में गड़बड़ी करने के आरोप में जिस DM को हटाया, उसे पिछले साल मिला था सम्‍मान

Posted by mp samachar On February - 20 - 2018Comments Off on मध्‍य प्रदेश: वोटर लिस्‍ट में गड़बड़ी करने के आरोप में जिस DM को हटाया, उसे पिछले साल मिला था सम्‍मान

aruny_2393932_835x547-mमध्य प्रदेश के मुंगावली में विधानसभा उपचुनाव के ठीक पहले कलेक्टर बीएस जामोद को हटाने के बाद राज्य सरकार ने अशोकनगर में नए कलेक्टर के लिए चुनाव आयोग को कलेक्टर के नाम का पैनल भेजा है, जिसमे तीन नाम शामिल हैं.

नए कलेक्टर के लिए 3 नामों का पैनल भेजा गया है. शिल्पा गुप्ता, रविंद्र सिंह और बी एस चौधरी के नाम शामिल हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस की मतदाता सूची में गड़बड़ी की शिकायत पर चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश के मुंगावली में विधानसभा उपचुनाव के ठीक पहले कलेक्टर बीएस जामोद को हटा दिया था.

दिल्ली में भी कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने मुंगावली और कोलारस उपचुनाव में गड़बड़ियों को लेकर चुनाव आयोग में शिकायत की थी. सोमवार को कांग्रेस की शिकायत के बाद देर रात को चुनाव आयोग ने इस मामले में सख्त फैसला लेते हुए अशोक नगर कलेक्टर बीएस जामोद को हटाने के आदेश जारी किए थे.

मुंगावली विधानसभा सीट अशोक नगर जिले के तहत ही आती है. चुनाव आयोग मुंगावली विधानसभा क्षेत्र में चार अधिकारियों को पहले ही हटा चुका है.

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या