20
June - 2018
Wednesday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

Archive for the ‘आपका शहर’ Category

09-3_2981700_835x547-mमुख्यमंत्री के गृह नगर जैत में गूंजी अवैध खनन की आवाज, किया जल सत्याग्रह सामाजिक-राजनीति कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर कहा नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान की गई घोषणाएं पूरी करें शिवराज पत्रिका न्यूज नेटवर्क भोपाल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह नगर जैत में मंगलवार को आधा दर्जन सामाजिक-राजनीतिक संगठनों ने एकजुट होकर नर्मदा नदी में हो रहे अवैध खनन पर सत्याग्रह किया।

नर्मदा सत्याग्रह संगठन, बेरोजगार सेना, आम किसान यूनियन, नर्मदा बचाओ अभियान सहित अन्य संगठनों ने यहां पहुंचकर नर्मदा नदी, बेरोजगारी, महिला सुरक्षा, किसानों की समस्या सहित कई मुद्दों पर मुख्यमंत्री से मांग की। सत्याग्रह में नर्मदा नदी से लगातार हो रहे अवैध खनन, नर्मदा संरक्षण की मांग की। सत्याग्रह में संगठनों के पदाधिकारियों ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने जितनी घोषणाएं की वह चौहदवीं विधानसभा के आखिरी सत्र के दौरान पूरी करें।

सत्याग्रह में शामिल कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान की गई घोषणाएं अब तक पूरी नहीं की गई है। सत्याग्रह में पूर्व विधायक गिरिजा शंकर शर्मा, पूर्व मंत्री राजकुमार पटेल, नर्मदा सत्याग्रह के आयोजक विनायक परिहार, बेरोजगार सेना के राष्ट्रीय प्रमुख अक्षय हुंका, आम किसान यूनियन के केदार सिरोह, किसान नेता विश्वास परिहार, अरविंद शर्मा, नर्मदा बचाओ अभियान के बलराम सहित अन्य सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर आवाज उठाई।

गौरतलब है कि नर्मदा के संरक्षण और अवैध खनन रोकने की मांग को लेकर शुरु किया गया सत्याग्रह मंगलवार को जैत पहुंचा। संगठनों के पदाधिकारियों ने जैत में नर्मदा में खड़े होकर जल सत्याग्रह भी किया। लंबे समय से अलग-अलग मांगों के लिए आवाज उठा रहे संगठनों ने जैत में एकजुट होकर एकता का प्रदर्शन किया। इन मांगों को लेकर एक मंच पर पहुंचे आधा दर्जन संगठन नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने नर्मदा को जीवित इकाई का दर्जा देने की घोषणा की, लेकिन इसका आदेश खानापूर्ति बनकर रह गया। मांग की गई कि इसका आदेश जारी कर नर्मदा नदी से अवैध खनन बंद कर माफियाओं पर कानूनी कार्रवाई का प्रावधान किया जाए। बड़े शहरों का गंदा अपशिष्ट नर्मदा में न मिले इसके लिए नालों पर ही सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जाए। नर्मदा किनारे घटते वन क्षेत्र को रोकने और नर्मदा तट पर जंगल बढ़ाने का काम ठोस तरीके से किया जाए। जंगल-लकड़ी माफियाओं पर अंकुश लगाया जाए। नर्मदा का जल स्तर बढ़ाने के लिए चालू विधानसभा में कानून बनाया जाए।

नर्मदा नदी से हो रहे अवैध खनन लगातार हो रहा है। इससे नदी की जैव विविधता खतरे में हैं। मुख्यमंत्री ने नर्मदा को जीवित इकाई मानने की घोषणा की, लेकिन इस पर पालन नहीं हुआ। यदि चौहदवीं विधानसभा के अंतिम सत्र में नर्मदा के लिए हमारी मांगे पूरी नहीं की जाती और अवैध खनन पर पाबंदी नहीं की जाती हैं तो नर्मदा सत्याग्रह भोपाल में भी सत्र के समानांतर आगामी 25 जून से किया जाएगा। अक्षय हुंका, राष्ट्रीय प्रमुख, बेरोगार सेना ।

कौशल एवं रोजगार मेलें में जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई छायाचित्र प्रदर्शनी

Posted by mp samachar On June - 19 - 2018Comments Off on कौशल एवं रोजगार मेलें में जनसंपर्क विभाग द्वारा लगाई गई छायाचित्र प्रदर्शनी

download (3) शासकीय आई. टी. आई. कॉलेज में आयोजित जिला स्तरीय कौशल एवं रोजगार मेले में उपस्थित युवाओं को शासन की जनहितकारी योजनाओं की जानकारी एवं जिले एवं प्रदेश के सफल युवाओं की सफलता की कहानियों से जनसंपर्क विभाग द्वारा छायाचित्र प्रदर्शनी लगाकर अवगत कराया गया। युवाओं को जनहितकारी योजनाओं की जानकारी हेतु आगे आए लाभ उठाएँ पुस्तक एवं विभिन्न योजनाओं से संबंधित प्रचार सामग्री का वितरण किया गया।

मोहनखेड़ा में मानव सेवा दिवस

Posted by mp samachar On June - 19 - 2018Comments Off on मोहनखेड़ा में मानव सेवा दिवस

Human-Services-Day-in-Mohakhkheda--1024x768मोहनखेड़ा में मानव सेवा दिवस के रूप में मनेगा राष्ट्र संत गच्छाधिपति आचार्य देवेश श्रीमद् विजय ऋषभ चंद्र सूरी स्वर्ग 61 वा जन्मदिवस एवं 39 वां दीक्षा दिवस दिव्यांगों को ट्राइसिकल एवं जरूरतमंद महिलाओं को सिलाई मशीनों का वितरण किया जाएगा कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान अध्यक्षता करेंगे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर विशेष अतिथि होंगे थावरचंद गहलोत एवं राज्यसभा सांसद प्रभात झा

जाने मोहंखेड़ा के बारे मे

इतिहास के लिए विख्यात रहे धार जिले की सरदारपुर तहसील के मोहनखेड़ा में श्वेतांबर जैन समाज का एक ऐसा महातीर्थ विकसित हुआ है, जो देश और दुनिया में ख्यात हो चुका है। यहा के गुरुदेव आचार्य देवेश श्रीमद् विजय ऋषभ चंद्र सूरी थे।

गुरुदेव के आदेशानुसार लुणाजी ने मंदिर निर्माण कार्य प्रारंभ करवाया। संवत 1939 में गुरुदेव का चातुर्मास निकट ही कुक्षी में हुआ और संवत 1940 में वे राजगढ़ नगर में रहे। श्री गुरुदेव ने इसी दौरान शुक्ल सप्तमी के शुभ दिन मूल नायक ऋषभदेव भगवान आदि 41 जिन बिंबियों की अंजनशलाका की। मंदिर में मूल नायकजी व अन्य बिंबियों की प्रतिष्ठा के साथ ही उन्होंने घोषणा की कि यह तीर्थ भविष्य में विशाल रूप धारण करेगा और इसे मोहनखेड़ा के नाम से पुकारा जाएगा। आज यह तीर्थ उनके ही आशीर्वाद की वजह से महातीर्थ बन चुका है।

मंदिर का वर्तमान स्वरूप

वर्तमान में तीर्थ परिसर में विशाल व त्रिशिखरीय मंदिर है। मंदिर में मूल नायक भगवान आदिनाथ की 31 इंच की सुदर्शना प्रतिमा विराजित है, जिसकी प्रतिष्ठा गुरुदेव द्वारा की गई थी। अन्य बिंबियों में श्री शंखेश्वर पार्श्वनाथ एवं श्री चिंतामण‍ि पार्श्वनाथ हैं। गर्भगृह में प्रवेश हेतु संगमरमर के तीन कलात्मक द्वार हैं। गर्भगृह में श्री अनंतनाथजी, श्री सुमतिनाथजी व अष्टधातु की प्रतिमाएँ हैं।

मंदिर के ऊपरी भाग में एक मंदिर है, जिसके मूल नायक तीर्थंकर भगवान शांतिनाथ हैं। इसके अलावा परिसर में श्री आदिनाथ मंदिर का निर्माण भी करवाया गया है। भगवान आदिनाथ की 16 फुट 1 इंच ऊँचाई वाली विशाल श्यामवर्णी कायोत्सर्ग मुद्रावाली श्वेतांबर प्रतिमा विराजमान है। प्रतिमा अष्टमंगल आसन पर स्थित है। मोहनखेड़ा में मुख्य मंदिर के दाहिनी ओर तीन शिखरों से युक्त पार्श्वनाथ मंदिर की प्रतिष्ठा भी की गई है।

इसमें भगवान पार्श्वनाथ की श्यामवर्ण की दो पद्मासन प्रतिमाएँ स्थापित हैं। जैन परंपराओं में तीर्थंकर भगवंतों, आचार्यों व मुनि भगवंतों की चरण पादुका की स्थापना की परंपरा है। श्रीमद्‍ विजय राजेंद्र सूरीश्वरजी मसा द्वारा स्थापित भगवान आदिनाथ के पगलियाजी स्थापित हैं, जहाँ एक मंदिर बना हुआ है।

स्वर्णजड़ित समाधि मंदिर 
गुरुदेव की पावन प्रतिमा मोहनखेड़ा में स्थापित की गई। उनका अग्नि संस्कार मोहनखेड़ा में ही किया गया था। आज इस प्रतिमा के आसपास स्वर्ण जड़ा जा चुका है, साथ ही इस समाधि मंदिर की दीवारों पर अभी भी स्वर्ण जड़ने का कार्य जारी है।

सामाजिक सरोकार

गुरुदेव के ही आशीर्वाद का परिणाम है कि यह तीर्थ अब मानवसेवा का भी महातीर्थ बन चुका है। यहाँ श्री आदिनाथ राजेंद्र जैन गुरुकुल का संचालन किया जा रहा है, जिसमें विद्यार्थियों के आवास, भोजन व शिक्षण हेतु व्यवस्था की जाती है। इसके अलावा श्री राजेंद्र विद्या हाईस्कूल का भी संचालन किया जा रहा है, जिसमें सैकड़ों विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। दुनिया का प्रत्येक धर्म यह शिक्षा देता है कि मानवसेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है। इसी ध्येय वाक्य के साथ यहाँ पर श्री गुरु राजेंद्र मानवसेवा मंदिर चिकित्सालय संस्था भी संचालित है। इस चिकित्सालय में नाममात्र के शुल्क पर सुविधाएँ दी जाती हैं।

नेत्रसेवा के लिए भी यह तीर्थ प्रसिद्घ है। 1999 में तीर्थ पर 5 हजार 427 लोगों के ऑपरेशन किए गए। इसके अलावा आदिवासी अंचल में शाकाहार के प्रचार व व्यसन मुक्ति हेतु शिविरों का आयोजन किया जाता है।

इतना ही नहीं गोवंश के लिए यहाँ 9 हजार वर्गफुट आकार की श्री राजेंद्र सुर‍ि कुंदन गोशाला है, जिसमें सर्वसुविधायुक्त 4 गोसदन बनाए गए हैं। पशुओं के उपयोग के लिए घास आदि के संग्रह हेतु 10 हजार वर्गफुट का विशाल घास मैदान भी है। इस तरह कई सामाजिक सरोकार से भी यह तीर्थ जुड़ा हुआ है। इस सामाजिक सरोकार में मुनिराज ज्योतिष सम्राट श्री ऋषभचंद्र विजयजी मसा की प्रेरणा और उनकी मेहनत काफी महत्वपूर्ण है।

शोध संस्थान 
श्री गुरु राजेंद्र विद्या शोध संस्थान की स्थापना मोहनखेड़ा तीर्थ में की गई। इसका मुख्य उद्देश्य जैन साहित्य में रुचि रखने वाले लोगों को पुस्तकालय की सुविधा उपलब्ध कराना व शोधपरक साहित्य का प्रकाशन करना है। इसके अतिरिक्त गुरुदेव द्वारा रचित श्री राजेंद्र अभिधान कोष के 7 भागों का संक्षिप्तिकरण कर उनका हिंदी अनुवाद किया जा रहा है।

कैसे पहुँचें :

मोहनखेड़ा पहुँचने के लिए धार जिले के सरदारपुर तहसील की व्यापारिक नगरी राजगढ़ पहुँचकर वहाँ से महज 5 किमी दूर स्थित तीर्थ पर आसानी से पहुँचा जा सकता है। इंदौर से लेकर राजगढ़ तक सीधी बस सेवाएँ संचालित हैं। धार जिला मुख्यालय से भी हर घंटे में बससेवा उपलब्ध है, जबकि मोहनखेड़ा से निकट यानी करीब 60 किमी पर मेघनगर पर रेलवे स्टेशन है।

रानी लक्ष्‍मीबाई के बहाने शिवराज ने सिंधिया राजघराने पर साधा निशाना

Posted by mp samachar On June - 19 - 2018Comments Off on रानी लक्ष्‍मीबाई के बहाने शिवराज ने सिंधिया राजघराने पर साधा निशाना

rani-laxmi-620x400विधानसभा चुनाव की आहट के बीच सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और विपक्षी दल कांग्रेस एक-दूसरे पर हमले का कोई मौका हाथ से नहीं जाने देना चाहते हैं। भाजपा ने महारानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस की आड़ में सिंधिया राजघराने पर निशाना साधने की कोशिश की है। राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीते दिनों बच्चों से संवाद के दौरान महारानी लक्ष्मीबाई की बहादुरी और उनके साथ हुए विश्वासघात का जिक्र किया और सिंधिया राजघराने का नाम लिए बगैर हमला बोला। उन्होंने कहा, “महारानी लक्ष्मीबाई अग्रेजों से संघर्ष करते हुए ग्वालियर पहुंच गई थीं, लेकिन अपने लोगों ने अग्रेजों का साथ दिया, जिससे रानी लक्ष्मीबाई को बलिदान देना पड़ा था।”

गौरतलब है कि जनसंघ से लेकर भाजपा की स्थापना और विकास में राजघराने की विजयाराजे सिंधिया की अहम भूमिका रही है। इसी घराने से नाता रखने वाली और विजयाराजे की दो बेटियां वसुंधरा राजे सिंधिया और यशोधरा राजे सिंधिया अब भी भाजपा में हैं, और उनकी रिश्तेदार माया सिंह राज्य सरकार में मंत्री हैं। वहीं, दूसरी ओर ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस में हैं और कांग्रेस के भावी मुख्यमंत्री के दावेदार भी हैं। ज्योतिरादित्य पर हमले की कोशिश में भाजपा पूरे खानदान को ही निशाने पर रख रही है।

लोकतांत्रिक जनता दल के नेता गोविंद यादव का कहना है, “भाजपा और कांग्रेस के लिए सत्ता पहले, समाज और देश बाद में है। यही कारण है कि भाजपा सिंधिया राजघराने पर हमला कर रही है। यह वह राजघराना है, जिसके सहयोग से भाजपा पली-बढ़ी है, भाजपा को यह भी बताना चाहिए कि देश की आजादी में उसके किस नेता ने योगदान दिया। राजघराने ने जो किया, वही तो भाजपा या इस विचारधारा से जुड़े लोग भी अंग्रेजों के लिए करते रहे हैं, इसे उन्हें भूलना नहीं चाहिए।”

राज्य सरकार के मंत्री और सिंधिया राजघराने के प्रखर विरोधी के तौर पर पहचाने जाने वाले जयभान सिंह पवैया ने कहा, “रानी लक्ष्मीबाई झांसी से कूच कर ग्वालियर पहुंचीं, लेकिन ग्वालियर की सिंधिया रियासत में उन्हें प्रवेश करने से रोक दिया गया, तोपें लगा दी गईं, और उन दिनों आजादी के सेनानियों को तोपों का सामना करना पड़ा। रानी जहां वीरगति को प्राप्त हुईं, उस स्थान पर वर्ष 2000 से बलिदान मेला (17 एवं 18 जून) लगाया जा रहा है।”

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का कहना है, “किसी की देशभक्ति और राष्ट्रभक्ति पर उंगली उठाने का भाजपा को कोई नैतिक अधिकार नहीं है। उसे यह बताना चाहिए कि वर्ष 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन का उसके पितृ संगठन आरएसएस ने क्यों विरोध किया था, भाजपा को बनाने और बढ़ाने वाली विजयाराजे सिंधिया थीं। अगर भाजपा वास्तव में देशभक्त है तो सबसे पहले उसे वसुंधरा और यशोधरा को भाजपा से बाहर करना चाहिए, साथ ही विजयराजे ने जो उसकी मदद की, उसे सूद सहित वापस लौटाए।

सिंचाई सुविधाएं देना सरकारी की प्राथमिकता: मिश्रा

Posted by mp samachar On June - 18 - 2018Comments Off on सिंचाई सुविधाएं देना सरकारी की प्राथमिकता: मिश्रा

180618datia13_2970686_835x547-mदतिया. मप्र सरकार किसानों को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिएकृत संकल्पित है। मैं निरंतर इसी प्रयास में रहता हूं कि प्रत्येक किसान के खेत के एक-एक कूड़ तक पानी पहुंचे। उक्त बात जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने ग्राम सिंधवारी में जल संसाधन विभाग के ३६ लाख के निर्माण कार्य के भूूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान कही। उन्होने कहा कि इस कार्य के पूरा हो जाने पर इस क्षेत्र के एक दर्जन गांव को अगले सीजन में भरपूर पानी मिलेगा व पानी की बर्बादी रुकेगी। इस दौरान विधायक भाण्डेर घनश्याम पिरौनिया विशेष रुप से उपस्थित रहे। विधायक पिरौनिया ने कहा कि मप्र सरकार किसान और दलित वर्ग की निरंतर चिंता कर रही है। किसानों को सूखा राहत, भावांतर, फसल बीमा योजना, किसान समृद्धि योजना आदि के द्वारा लाभांवित किया गया है। उन्होने इस निर्माण कार्य को उनके विधानसभा क्षेत्र में स्वीकृत करने के लिए मंत्री डॉ. मिश्रा को धन्यवाद दिया। इस अवसर पर केशव सिंह दांगी, विपिन गोस्वामी, जीतू कमरिया, मुकेश यादव, गौरव पटेल, गोविंद ज्ञानानी, पुष्पेन्द्र रावत, पप्पू सिजरिया, सुनील कमरिया, जॉली शुक्ला आदि उपस्थित रहे।

संवाद कार्यक्रम में सम्मिलित हुए मंत्री
जनसंपर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा रविवार को वृंदावन धाम में आयोजित बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओसंवाद कार्यक्रम में सम्मिलित हुए। कार्यक्रम का आयोजन जिला महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा किया गया। इस मौके पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं मंत्री डॉ. मिश्रा को धन्यवाद ज्ञापित किया। हाल ही में सरकार द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं का मानदेय दोगुना कर दिया गया।

कार्यक्रम में विशेष तौर पर विधायक घनश्याम पिरौनिया उपस्थित रहे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुएमंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि भारत में हमेशा महिलाओं को सम्मान दिया गया है। धन की देवी लक्ष्मी, ज्ञान की देवी सरस्वती, शक्ति की देवी दुर्गा के रुप में महिला शक्ति को पूजा जाता है। महिला के सम्मान में ही सुख समृद्धि का वास है। वहीं कार्यक्रम को विधायक पिरौनिया, पूर्व नपा अध्यक्ष कृष्णा कुशवाहा, मीनाक्षी कटारे, किरण गुप्ता, रंजना भटनागर ने भी संबोधित किया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दतिया में 700 करोड़ रुपए के विभिन्न कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया

Posted by mp samachar On June - 16 - 2018Comments Off on मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दतिया में 700 करोड़ रुपए के विभिन्न कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया

Chief Minister Shivraj Singh Chauhan has donated Rs. 700 crore in Datiaभोपाल/दतिया. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दतिया में 700 करोड़ रुपए के विभिन्न कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया। उन्होंने दतिया में 158 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित मेडिकल कॉलेज भवन का लोकार्पण किया। इसके साथ ही पशु चिकित्सा महाविद्यालय के निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया। उन्होंने उदगवां समूह जल प्रदाय योजना, शहरी पेयजल योजना सेवढ़ा लोकार्पण भी किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने 22 करोड़ 40 लाख की लागत से मुख्यमंत्री शहरी पेयजल योजना का लोकार्पण किया।

– सीएम शिवराज ने कहा, “गरीबी हटाने के नारे लगते रहे, लेकिन कोई अंतर नहीं आया। मैंने गरीबी हटाने के लिए रास्ता अपनाया कि गरीब की बुनियादी जरूरतें पूरी करो और उसे आर्थिक रूप से सशक्त किया जाए। इसलिए मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना (संबल) की शुरुआत की है। ”

– उन्होंने कहा कि भगवान ने ये धरती, पानी, जंगल और अन्य सभी संसाधन सभी के लिए बनाई, लेकिन कुछ लोग अमीर होते गए और बाकी गरीब होते गए। जन कल्याण योजना के माध्यम से अमीरी-गरीबी की खाई पाट रहे हैं। अमीर से टैक्स लेकर गरीब भाई-बहनों को सुविधाएं दे रहे हैं।

दुनिया की सबसे बड़ी योजना है जनकल्याण योजना
– मुख्यमंत्री ने कहा कि जनकल्याण योजना मेरे दिल से निकली योजना है। मेरी आत्मा से निकली योजना है। ये दुनिया की सबसे बड़ी योजना है। अगर इस योजना से गरीबों का कल्याण होता है तो मैं अपना जीवन सफल मान लूंगा। जन कल्याण योजना का अधिक से अधिक लाभ लें। यह आपकी योजना है। इसे आपको सफल बनाना है। अगर कोई इसमें किसी तरह की गड़बड़ी करता है तो मुझे तुरंत बताएं। गड़बड़ी करने वाले की तुरंत छुट्टी होगी।

मप्र में कोई जमीन के बगैर नहीं रहेगा
– मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश की धरती पर हम किसी को जमीन के टुकड़े के बिना नहीं रहने देंगे। मेरे गरीब भाई बहनों पट्टे की जमीन का मालिक बनाएंगे और जो कच्चे मकान या झोपड़ी में रहने को मजबूर हैं उन्हें पक्के मकान का मालिक बनाएंगे। सबको पक्का घर उपलब्ध कराएंगे। जमीन कम पड़ी तो शहरों में मल्टीस्टोरी बिल्डिंग बना कर देंगे।

जुलाई-अगस्त में कैंप लगाकर बिजली के पुराने बिल माफ करेंगे
– सीएम ने कहा कि गरीब परिवार के मुखिया की 60 साल से कम आयु में मृत्यु होने पर 2 लाख और दुर्घटना में मृत्यु होने पर 4 लाख और अंतिम संस्कार के लिए 5 हजार रुपये दिये जाएंगे। गरीब भाई-बहनों अब बिजली के बड़े बिल नहीं आएंगे। मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना (संबल) के तहत जुलाई-अगस्त में शिविर लगाकर बिजली के पुराने बिल माफ किए जाएंगे और इसके बाद 200 रुपए प्रति माह की दर से फ्लैट रेट पर बिजली दी जाएगी, इससे टीवी, पंखा और बल्ब चलाएं।

मीसाबंदियों के लिए कानून बनाएगी सरकार

Posted by mp samachar On June - 15 - 2018Comments Off on मीसाबंदियों के लिए कानून बनाएगी सरकार

cmmभोपाल. प्रदेश सरकार 25 जून से शुरू होने वाले विधानसभा के मानसून सत्र में लोकतंत्र सेनानियों (मीसाबंदी) के लिए नया कानून लाएगी। इसमें प्रावधान होगा कि मीसाबंदी थोड़े समय के लिए भी जेल गया था तो पेंशन का पात्र है। उनकी पत्नी को चिकित्सीय लाभ के दायरे में लाया जाएगा। सामान्य प्रशासन विभाग ने इसका मसौदा तैयार कर कैबिनेट में भेज दिया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में शुक्रवार को कैबिनेट बैठक में करीब ३० प्रस्ताव रखे जाएंगे। इसमें लोकतंत्र सेनानी विधेयक-2018 का प्रारूप भी रखा जाएगा। सरकार अभी मीसाबंदियों को केवल नियमों के तहत पेंशन का लाभ देती है।

दरअसल, मीसा में बंद लोगों को हर माह पेंशन देने के लिए शिवराज सरकार ने वर्ष 2008 में लोकनायक जयप्रकाश नारायण के नाम से सम्मान निधि नियम बनाया था। इसी के तहत मीसाबंदियों को सम्मान निधि दी जाती है। फिर अप्रैल 2016 को शिवराज सरकार ने नियमों में संशोधन कर मीसाबंदियों को लोकतंत्र सेनानी का दर्जा दिया।

– भाजपा व संघ को फायदा
इस कानून का सीधा फायदा भाजपा और आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को होगा। वर्तमान में एक माह जेल में रहने की शर्त के कारण कई लोग लोकतंत्र सेनानी पेंशन से वंचित हैं। हर जिले में सैकड़ों आवेदन कलेक्टर ने इसी शर्त के आधार पर निरस्त किए हैं। केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत को लेकर भारी विवाद भी हो चुका है। आरोप लगे थे कि गेहलोत केवल 13 दिन जेल में थे फिर भी मीसाबंदी पेंशन ले रहे हैं। भाजपा ने बाद में दावा किया कि गहलोत मीसाबंदी के दौरान जेल में 13 दिन नहीं बल्कि 54 दिन बंद थे। इसके बाद मुख्यमंत्री ने समय की पाबंदी हटाने का एेलान किया था।

– छह से 25 हजार हुई सम्मान निधि
शिवराज सरकार ने मीसाबंदी सम्मान निधि 2008 में 6000 रुपए प्रति माह की थी। इसे तीन साल में बढ़ाकर 15 हजार किया। छह साल बाद अप्रैल 2017 में इसे 25 हजार रुपए प्रति माह कर दिया।

– प्रोफेशनल टैक्स में छूट मिलेगी
सरकार चुनाव के पांच महीने पहले कर्मचारियों और नौकरीपेशा लोगों को प्रोफेशनल टैक्स में राहत देगी। इसके लिए संशोधन विधेयक विधानसभा में लाया जाएगा। इसका प्रारूप कैबिनेट में रखा जाएगा। इसके तहत सवा दो लाख तक वेतन वालों को टैक्स से मुक्त रखने और इससे ज्यादा वालों को आंशिक छूट के प्रावधान किए जा रहे हैं। इसके अलावा सरकार विधायकों को होम लोन में ब्याज पर बड़ी छूट देने की तैयारी में है। इसमें पांच साल विधानसभा से कोई छूट नहीं लेने वालों का ब्याज एक निश्चित दायरे में सरकारी खजाने से चुकाने का प्रस्ताव है।

** ये भी रहेंगे प्रमुख प्रस्ताव
– कृषक समद्धि योजना में बीज के लिए प्रोत्साहन राशि
– गन्ना अनुसंधान केंद्र को लेकर सीएम की घोषणा का क्रियान्वयन
– राज्य पोषित अन्नपूर्णा योजना का संचालन
– सीएम जन कल्याण-संबल योजना 2018
– नगर पालिका विधिा संशोधन विधेयक का अनुमोदन
– वृत्ति कर व वैट संशोधन विधेयक 2018
– सेंटर फॉर हेल्थ एम्स की स्थापना चिकलोद कला-गोहरगंज
– मनोरंजन कर के विधेयक में संशोधन
– निजी विवि संशोधन विधेयक 2018

शिवराज ने बोहरा समाज को दी ईद की मुबारकबाद

Posted by mp samachar On June - 14 - 2018Comments Off on शिवराज ने बोहरा समाज को दी ईद की मुबारकबाद

cmm1भोपाल : मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीरवार को भोपाल में ईदगाह पहुंच कर बोहरा समाज के लोगों को ईद की मुबारकबाद दी। रमजान माह में रोजे रखने के बाद आज बोहरा समाज ने ईद का त्यौहार पारम्परिक हर्षोल्लास से मनाया। इस दौरान रोजेदारों के चेहरों पर ईद की खुशी थी।

मुख्यमंत्री ने बोहरा समाज में भाईचारे और एकता की तारीफ करते हुए कहा कि बोहरा समाज में कोई छोटा-बड़ा नहीं है। यहां समाज के कमजोर सदस्यों को आगे लाने में पूरा समाज आगे आता है। बोहरा समाज के लोगों ने खुशी का इकाहार करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के आने से ईद की खुशी दोगुनी बढ़ गई है।

मुख्यमंत्री ने सभी को ईद की मुबारकबाद दी और सभी की खुशहाली और तरक्की की दुआ की।

रायपुर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, छत्तीसगढ़ को देंगे कई सौगात

Posted by mp samachar On June - 14 - 2018Comments Off on रायपुर पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, छत्तीसगढ़ को देंगे कई सौगात

-pmप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज छत्तीसगढ़ के दौरे पर पहुंचे हैं। इस दौरान रायपुर पहुंचने पर मुख्यमंत्री रमन सिंह ने उनका फूल देकर स्वागत किया है। प्रधानमंत्री यहां से भिलाई इस्पात संयंत्र के आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण परियोजना का लोकार्पण करने के लिए जाएंगे। बता दें कि राज्य में साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

प्रधानमंत्री थोड़ी देर में छत्तीसगढ़ में इंटरनेट कनेक्टिविटी के विस्तार के लिए भारत नेट परियोजना के द्वितीय चरण की परियोजना का भूमिपूजन करेंगे। इसके अलावा भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) भिलाई नगर के विशाल भवन का शिलान्यास भी करेंगे। साथ ही भिलाई में एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

मोदी केंद्र सरकार की उड़ान योजना के तहत रायपुर से जगदलपुर तक यात्री विमान सेवा की सौगात देंगे। इससे छत्तीसगढ़ का आदिवासी बहुल बस्तर संभाग देश के हवाई यातायात के मानचित्र में शामिल हो जाएगा। भिलाई पहुंचने से पहले वे नया स्मार्ट सिटी का भी दौरा करेंगे।

मध्य प्रदेश: मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा- कोई अफसर रिश्वत मांगें तो मुझे नाम बताना; उसकी छुट्टी कर दूंगा

Posted by mp samachar On June - 14 - 2018Comments Off on मध्य प्रदेश: मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा- कोई अफसर रिश्वत मांगें तो मुझे नाम बताना; उसकी छुट्टी कर दूंगा

cm1भोपाल/हरदा. मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना (संबल) का शुभारंभ करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि योजना का लाभ प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में असंगठित श्रमिकों को मिलेगा। बुधवार को सुबह हरदा के टिमरनी और शाम को भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान उन्होंने कई करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस योजना में प्रदेश भर से एक करोड़ 80 लाख श्रमिकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। इसके साथ ही 15 अगस्त से लागू हो रही, 75 लाख लोगों को आयुष्मान भारत के तहत चिकित्सा लाभ मिलेगा।

– सीएम ने कहा, “मेरी जिंदगी सफल और सार्थक हो रही है। मेरा जीवन गरीबों की सेवा और कल्याण के कार्यों में व्यतीत हो रहा है। क्योंकि खून और पसीना बहाने वाले मेरे भाइयों तुम्हारी जिंदगी को बदलने वाली जनकल्याण योजना लागू कर दी गई है।”

अफसर रिश्वत मांगें तो मुझे करें शिकायत, छुट्टी कर दूंगा : सीएम
– मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में कहा कि अपना हक लड़कर लेना होगा, अगर कोई अफसर रिश्वत मांगें तो मुझे बताएं। उस अफसर की छुट्टी कर दूंगा। सीएम ने (संबल) के हितग्राहियों को सहायता राशि एक क्लिक से उनके खातों में ट्रांसफर की।

– सीएम ने कहा, “दुनिया में गरीबों के कल्याण की सबसे बड़ी योजना है। यह योजना गरीबों के जीवन में नया उजाला लाने और इन्हें समर्थ बनाने का काम करेगी। जो दुनिया में कहीं नहीं हुआ आज मध्यप्रदेश की धरती पर होने जा रहा है। एक नया इतिहास रचा जा रहा है। गरीबों के कल्याण के लिए इतनी बड़ी योजना विश्व में कभी नहीं बनी। गरीबों के जीवन में नया उजाला आ जाएगा तो मैं अपना जीवन सार्थक समझूँगा।”

संकल्प लो, योजना को सफल बनाएंगे
– मेरे भाइयों और बहनों आइए हम संकल्प लें कि मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना को सफल बनाने और इसके बेहतर क्रियान्वयन के लिए हम अपना पूरा योगदान करेंगे। आप लोगों के सहयोग से ही यह कार्य संभव हो सकेगा। उन्होंने गरीब परिवार के मुखिया की 60 साल से कम आयु में मृत्यु होने पर 2 लाख और दुर्घटना में मृत्यु होने पर 4 लाख रुपये दिये जायेंगे, ताकि गरीब के परिवार की गाड़ी भी चलती रहे।

1 करोड़ 82 लाख श्रमिका ने कराया रजिस्ट्रेशन
– मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना में 1 करोड़ 82 लाख 51 हजार 832 असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों ने पंजीकरण कराया है। कार्यक्रम में 1 लाख 25 हजार महिलाओं को 4 हजार के मान से 50 करोड़ रुपए की प्रसूति सहायता दी गई।

आयुष्मान भारत में 75 लाख लोगों को मिलेगा फायदा
– आयुष्मान योजना 15 अगस्त से शुरू होगी, जिसमें 75 लाख लोग लाभान्वित होंगे, लेकिन संबल के तहत 1.81 करोड़ पंजीकृत हैं, ऐसे में बाकी बचे श्रमिकों का इलाज सरकार कराएगी।

पहली कक्षा से लेकर पीएचडी तक का खर्चा सरकार भरेगी
– मेरे गरीब भाई-बहनों के बच्चों में भी प्रतिभा होती है। आपके बच्चे भी पढ़-लिखकर सफलता की बुलंदियों तक पहुंच सकते हैं। इसलिए मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना (संबल) के तहत पहली कक्षा से लेकर पीएचडी तक की पढ़ाई का खर्च सरकार उठाएगी।

प्रदेश के 282 करोड़ की सहायता राशि बांटी
– जनकल्याण योजना के तहत प्रदेश में 2 लाख 55 हजार 700 श्रमिकों को 282 करोड़ रुपए की सहायता राशि दी जा रही है। 1400 लोगों को बीमारी सहायता के 15 करोड़ रुपए, सामान्य मृत्यु एवं स्थाई अपंगता पर 2500 श्रमिकों को 50 करोड़ रुपए दिए गए हैं।

गरीबों के पुराने बिल माफ किए
– गरीब भाई-बहनों के लिए संबल के तहत जुलाई-अगस्त में शिविर लगा कर बिजली के पुराने बिल माफ किए जाएंगे और इसके बाद 200 रुपए प्रति माह की दर से फ्लैट रेट पर बिजली दी जा रही है।

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या