19
October - 2017
Thursday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

Archive for the ‘प्रदेश समाचार’ Category

गुजरात के लिए कांग्रेस के पास सिर्फ प्यार: मोदी के नफरत वाले बयान पर थरूर

Posted by mp samachar On October - 17 - 2017Comments Off on गुजरात के लिए कांग्रेस के पास सिर्फ प्यार: मोदी के नफरत वाले बयान पर थरूर

modi.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात की चुनावी रैली का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा है कि कांग्रेस को गुजरात और गुजरातियों से खास नफरत है। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इस पर ट्वीट कर उन्हें जवाब दिया। थरूर ने मंगलवार को कहा, ”मोदीजी, कुछ दिन पहले ही मेरे बेटे की शादी एक गुजराती से हुई। हमारे पास आपके राज्य और वहां के लोगों के लिए प्यार के अलावा कुछ नहीं है।” बता दें कि थरूर का बेटा ईशान वॉशिंगटन पोस्ट में जर्नलिस्ट है। रविवार को उसकी शादी गुजराती लड़की के साथ हुई। कांग्रेस को गुजरात का बुखार चढ़ा…

– पीएम मोदी ने सोमवार को गांधीनगर की रैली में कांग्रेस पर निगेटिव पॉलिटिक्स का आरोप लगाया। उन्होंने कहा था, ”विकास के मुद्दे पर कांग्रेस भागती रही है। मेरी बड़ी इच्छा थी कि कांग्रेस कभी विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़े। लेकिन, वो जातिवाद या बाकी मुद्दों को उठाते रहे। मुझे आशा थी कि इस बार कांग्रेस विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी। लेकिन, ये भी नहीं हुआ।”

– “जिस पार्टी ने एक परिवार से इतने नेता दिए, लेकिन, उस पार्टी की भाषा इतनी नीचे गिर सकती है। इसकी वजह क्या है? उन्होंने सकारात्मकता का सहारा छोड़ दिया है, नकारात्मकता को ओढ़ लिया है। कहते हैं कि विकास तो पागल हो गया है।”
– ”कांग्रेस ने सालों तक गुजरात के साथ नाइंसाफी की। जब-जब गुजरात का चुनाव आता है तो उन्हें बुखार ज्यादा आता है। उनको गुजरात आंख में चुभता आया है। इस पार्टी ने वल्लभ भाई और उनकी बेटी मणिबेन पटेल के साथ क्या व्यवहार किया। मोरारजी देसाई के बारे में क्या फैलाया। वो क्या पीते हैं, क्या नहीं पीते हैं। मोराराजी भाई को नेस्तनाबूद करने के लिए उन्होंने क्या-क्या नहीं किया।”

जल्द जारी होगा गुजरात इलेक्शन का शेड्यूल
– गुजरात में कुछ महीने बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। हाल ही में हिमाचल प्रदेश के लिए चुनाव का शेड्यूल जारी करते हुए ईसी ने कहा था कि गुजरात चुनाव के लिए तारीखों का एलान जल्द होगा।
– उधर, कांग्रेस ने दोनों राज्यों के चुनाव शेड्यूल जारी करने में हुई देरी पर बीजेपी पर निशाना साधा। कांग्रेस स्पोक्सपर्सन रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया था कि मोदी 16 अक्टूबर को गुजरात का चुनावी दौरा करने वाले हैं। ऐसे में, अगर राज्य में चुनाव की तारीखों का एलान हो जाता तो मॉडल कोड ऑफ कन्डक्ट लग जाता और पीएम लोक लुभावने एलान नहीं कर पाते। हालांकि, बीजेपी ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है।

आधार-राशन कार्ड के चक्कर में ‘भूख’ से तड़पकर मर गई बच्ची

Posted by mp samachar On October - 17 - 2017Comments Off on आधार-राशन कार्ड के चक्कर में ‘भूख’ से तड़पकर मर गई बच्ची

17_10_2017-mother-and-girlझारखंड के सिमडेगा जिले में 11 साल की लड़की सिर्फ इसलिए भूख से तड़प-तड़प कर मर गई, क्योंकि उसका परिवार राशन कार्ड को आधार से लिंक नहीं करा पाया। संतोषी कुमारी नाम की इस लड़की ने आठ दिन से खाना नहीं खाया था, जिसके चलते बीते 28 सितंबर को भूख से उसकी मौत हो गई।

खाद्य सुरक्षा को लेकर काम करने वाली संस्था के सदस्यों ने रविवार को इस घटना का खुलासा किया है। संस्था की मानें तो करीमती गांव की संतोषी कुमारी की मौत पिछले महीने 28 तारीख को इसलिए हो गई, क्योंकि घर पर पिछले आठ दिन से राशन ही नहीं था।

मां ने सुनाई दर्दनाक दास्तां
संतोषी की मां कोईली देवी ने संस्था के सदस्यों को बताया कि आधार कार्ड लिंक नहीं होने की वजह से उन्हें फरवरी से ही पीडीएस स्कीम का सस्ता राशन नहीं मिल रहा था। इसी दौरान 27 सितंबर को संतोषी की तबीयत बिगड़ी, उसके पेट में काफी दर्द हो रहा था और भूख के मारे उसका शरीर अकड़ गया था।

हालांकि जलडेगा ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर संजय कुमार कोंगारी भूख की मौत से इंकार कर रहे हैं। उनके मुताबिक लड़की की मौत मलेरिया से हुई है। मगर वो इस बात को मान रहे हैं कि लड़की के परिवार का नाम आधार से लिंक नहीं होने की वजह से पीडीएस के लाभार्थियों की सूची से बाहर कर दिया गया था।

मिड-डे मील से भरता था पेट

भूख से मरने वाली संतोषी की आर्थिक स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि स्कूल के मिड-डे मील से उसके दोपहर के खाने का इंतजाम होता था। मगर दुर्गा पूजा की छुट्टियां होने की वजह से स्कूल बंद था और इस वजह से उसे कई दिन भूखा रहना पड़ा। जिसकी वजह से उसकी जान चली गई।

भूख से बच्ची की मौत से सीएम व्यथित, डीसी को 24 घंटे में जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश

इस बीच, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज सिमडेगा उपायुक्त से 11 वर्ष की एक बच्ची की हुई मौत के मामले में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस खबर से बहुत पीड़ा हुई है। साथ ही, सिमडेगा के उपायुक्त को 24 घंटे में स्वयं पूरे मामले की निष्पक्षता से और त्वरित जांच करते हुए रिपोर्ट सौपने के निर्देश दिया। मामले में सत्यता पाई जाती है तो दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सीएम ने तत्काल पीड़ित परिवार को 50 हजार की सहायता देने का निर्देश दिया। सिमडेगा के डीसी ने बताया कि तीन सदस्यीय जांच कमिटी ने मौत की जांच की है, जिसमें यह बात सामने आई है कि बच्ची की मौत मलेरिया से हुई है। मुख्यमंत्री ने डीसी को 24 घंटे में स्वयं जांच करने का निर्देश दिया है।

वहीं, राज्य के खाद्य और आपूर्ति मंत्री ने कहा कि मामले की जांच की जाएंगी। मंत्री का कहना है कि इस बात को पहले ही स्पष्ट कर दिया गया था कि राशन कार्ड को आधार से लिंक न करने वालों को भी राशन की सुविधा दी जाएगी।

एक महीने में आज चौथी बार गुजरात जाएंगे मोदी, राहुल बोले- जुमलों की बारिश होगी

Posted by mp samachar On October - 16 - 2017Comments Off on एक महीने में आज चौथी बार गुजरात जाएंगे मोदी, राहुल बोले- जुमलों की बारिश होगी

modi777_1506144457_1गांधीनगर. नरेंद्र मोदी सोमवार को गांधीनगर में बीजेपी के गौरव महासम्मेलन को ऐड्रेस करेंगे। इस मौके पर मोदी चुनावी विजय यात्रा का आगाज भी करेंगे। यह कार्यक्रम राज्य में चली पार्टी की गुजरात गौरव यात्रा के समापन पर होने जा रहा है। गुजरात चुनाव बीजेपी, खास तौर पर मोदी के लिए साख का सवाल बन गया है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते एक महीने में पीएम का यह चौथा गुजरात दौरा है। राहुल गांधी ने ट्विटर पर मोदी पर तंज कसा, “मौसम का हाल! चुनाव से पहले गुजरात में आज होगी जुमलों की बारिश।” रूपाणी और अमित शाह भी रहेंगे समारोह में…

– मोदी दोपहर में अहमदाबाद पहुंचेंगे। यहां से वे गांधीनगर के भाट गांव जाएंगे। यहां वे गौरव यात्रा के समापन समारोह में शामिल होंगे।
– इस कार्यक्रम में करीब 7 लाख लोगों के पहुंचने का अनुमान है। इस दौरान सीएम विजय रूपाणी और अमित शाह भी मौजूद रहेंगे।
मोदी ने किए कई ट्वीट
– गुजरात पहुंचने से पहले मोदी ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए।
– इसमें उन्होंने लिखा, “कल (सोमवार को) गांधीनगर में रहूंगा। मैं गुजरात गौरव महासम्मेलन में हिस्सा लूंगा। इसमें पूरे गुजरात के लाखों बीजेपी कार्यकर्ता पहुंचेंगे।”

– “गुजरात गौरव यात्रा लोगों की एकजुटता और गुजरात में विकास की राजनीति और गुड गवर्नेंस में लोगों के अटूट भरोसे को बताती है।”
“दशकों तक बीजेपी को आशीर्वाद देने के लिए मैं गुजरात के लोगों के सामने नतमस्तक हूं। हम पूरी ताकत और पुरुषार्थ से हमेशा हर गुजराती के सपने को पूरा करेंगे।”

182 विधानसभा सीट, 149 से होकर गुजरी गौरव यात्रा
– 1 अक्टूबर से शुरू हुई गौरव यात्रा 15 दिनों तक चली। इसके तहत 4471 किलोमीटर का सफर तय किया।
– इस दौरान यह राज्य की 182 विधानसभा सीटों में से 149 सीटों से गुजरी।
– उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के सीएम भी इस यात्रा में शामिल हुए।
जल्द जारी होगा गुजरात इलेक्शन का शेड्यूल

– हाल ही में इलेक्शन कमीशन ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव का शेड्यूल जारी किया था। तब उसने कहा था कि गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीखों का जल्द ही एलान किया जाएगा।
– उधर, कांग्रेस ने दोनों राज्यों के चुनाव शेड्यूल जारी करने में हुई देरी पर बीजेपी पर निशाना साधा है।

– कांग्रेस स्पोक्सपर्सन रणदीप सुरजेवाला ने हाल ही में आरोप लगाया था कि मोदी 16 अक्टूबर को गुजरात का चुनावी दौरा करने वाले हैं। ऐसे में, अगर राज्य में चुनाव की तारीखों का एलान हो जाता तो तो मॉडल कोड ऑफ कन्डक्ट लग जाता और पीएम लोक लुभावने एलान नहीं कर पाते। हालांकि, बीजेपी ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है।
पिछली बार अपने गांव गए थे मोदी

– बीते करीब एक महीने (32 दिन) में मोदी का यह चौथा गुजरात दौरा है।
– इससे पहले 14 सितंबर को उन्होंने जापानी के पीएम शिंजो आबे के साथ अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन की नींव रखी थी।
– इसके बाद, 17 सितंबर को वे अपने बर्थडे पर भी राज्य में थे।
– 7 अक्टूबर को वे दो दिन के गुजरात दौरे पर पहुंचे थे। तब उन्होंने राजकोट, वडनगर और गांधीनगर में डेवलपमेंट के कई प्रोजेक्ट्स की नींव रखी थी। कुछ प्रोजेक्ट्स का इनॉगरेशन भी किया था। पीएम 8 अक्टूबर को अपने गांव वडनगर भी गए थे और आसपास के इलाके में रोड शो भी किया था।

स्मृति ईरानी का राहुल पर शायराना पलटवार, बोलीं-ऐ सत्ता की भूख सब्र कर…

Posted by mp samachar On October - 14 - 2017Comments Off on स्मृति ईरानी का राहुल पर शायराना पलटवार, बोलीं-ऐ सत्ता की भूख सब्र कर…

smriti_irani_con_1507977066_618x347केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर उन्हीं के अंदाज में पलटवार किया है. ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत के 100वें पायदान पर खिसकने को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर शायराना अंदाज में हमला बोला था. इस ट्वीट के जवाब में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी एक शायरी ट्वीट कर कहा कि इसमें हैरानी की बात नहीं है कि राहुल प्रधानमंत्री को नीचा दिखाने की इच्छा में देश की छवि धूमिल कर रहे हैं.

स्मृति ईरानी ने शनिवार को एक ट्वीट किया- ऐ सत्ता की भूख-सब्र कर, आंकड़े साथ नहीं तो क्या/खुदगर्जों को जमा कर, मुल्क की बदनामी का शोर तो मचा ही लेंगे. उन्होंने एक दूसरे ट्वीट में कहा कि आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी जी को नीचा दिखाने की चाहत में राहुल देश की छवि को भी धूमिल कर रहे हैं.

शुक्रवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दुष्यंत कुमार की एक शायरी के साथ भूखमरी की स्थिति को लेकर केंद्र सरकार को घेरा था. उन्होंने ट्वीट किया था- भूख है तो सब्र कर, रोटी नहीं तो क्या हुआ / आजकल दिल्ली में है जेरे-बहस ये मुद्दआ. उनके इस ट्वीट के बाद केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने भी जवाब दिया था. उन्होंने कहा था, राहुल गांधी दुष्यंत कुमार को कितना जानते हैं, देश पूछेगा? UPA की सरकार में देश के लोग कितना भूखे रहे हैं ये भी देश पूछेगा.”
केरल को राजनीतिक कब्रगाह बना दिया गया

स्मृति ईरानी केरल के दौरे पर है. केरल में बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ जारी राजनीतिक हिंसा पर भी उन्होंने राज्य सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि राज्य के ऊर्जा मंत्री खुलेआम कहते हैं कि हां, हमने बीजेपी कार्यकर्ता को मारा है. उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि इस तरह के बयान देने के बाद कोई शख्स सरकार में कैसे बना रह सकता है?

उन्होंने आगे कहा कि एक खूबसूरत राज्य को राजनीतिक कब्रगाह बनाने वाले राष्ट्रविरोधी तत्वों को संदेश चला गया है. केरल के लोग बीजेपी के साथ कंधा से कंधा मिलाकर चलने के लिए तैयार हैं.

ग्लोबल इंडेक्स में 100वें पायदान पर खिसका भारत

119 देशों के ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत तीन पायदान नीचे खिसककर 100वें स्थान पर पहुंच गया है. पिछले साल भारत इस सूचकांक (इंडेक्स) में 97वें पायदान पर था. ग्लोबल हंगर इंडेक्स रिपोर्ट-2017 के मुताबिक इस मामले में भारत उत्तर कोरिया, बांग्लादेश, नेपाल और म्यांमार जैसे देशों से भी पीछे है, लेकिन पाकिस्तान से आगे है. भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स में बीते एक साल में तीन स्थान और बीते तीन वर्षों में 45 स्थान नीचे चला गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, इस सूचकांक में चीन की रैंकिंग 29, नेपाल 72, म्यांमार 77, श्रीलंका 84 और बांग्लादेश 88 स्थान पर हैं यानी भारत इन पड़ोसी देशों से भी पीछे है. हालांकि पाकिस्तान और अफगानिस्तान क्रमश: 106वें और 107वें स्थान पर हैं.

जम्मू-कश्मीरः बुरहान वानी के गढ़ से गिरफ्तार हुआ हिजबुल आतंकी गुलजार डार

Posted by mp samachar On October - 13 - 2017Comments Off on जम्मू-कश्मीरः बुरहान वानी के गढ़ से गिरफ्तार हुआ हिजबुल आतंकी गुलजार डार

172241-gulzar-darनई दिल्लीः दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में भारतीय सुरक्षाबलों के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. पुलवामा के त्राल में भारतीय सेना, पुलिस और सीआरपीएफ ने ज्वाइंट ऑपरेशन कर हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार आतंकी का नाम गुलजार डार बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि गुलजार डार की पुलिस को लंबे समय से तलाश थी. डार की गिरफ्तारी त्राल से हुई है जो कि आतंकी बुरहान वानी यहीं का रहने वाला था.

गौरतलब है कि 9 तारीख को शोपियां में एक मुठभेड़ में प्रमुख आतंकी जाहिद सहित हिजबुल मुजाहिद्दीन के तीन आतंकी मारे गए और बारामुला जिले में जैश-ए-मोहम्मद का एक शीर्ष कमांडर सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था. राज्य के बडगाम जिले में आतंकवादियों के खिलाफ चलाए गए अभियान में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकी को मार गिराया गया. उसकी पहचान खालिद उर्फ शाहिद शौकत के रूप में हुई है.

पाकिस्तान ने तोड़ा सीजफायर
इसके अलावा पाकिस्तानी सेना ने आज नियंत्रण रेखा पर कृष्णाघाटी सेक्टर में सुबह 07:45 से छोटे हथियारों, स्वचालित हथियारों से बिना उकसावे के तथा अंधाधुंध गोलीबारी की और मार्टार दागे. इस सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर अग्रिम इलाकों में पाकिस्तानी सेना की छोटे हथियारों से की गई गोलीबारी में गुरुवार को सेना का एक जवान और ढुलाई का काम करने वाला एक व्यक्ति मारा गया और छह अन्य घायल हो गए.

‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर में अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की तस्वीर

Posted by mp samachar On October - 12 - 2017Comments Off on ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर में अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की तस्वीर

asiya-andrabi-poster_650x400_51507785634श्रीनगर: जम्मू एवं कश्मीर सरकार ने गुरुवार को’बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर में अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की तस्वीर छपने के मामले की जांच के आदेश दिए हैं. ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर में दुख्तारन-ए-मिल्लत की नेता आसिया की तस्वीर छापी गई थी. इस पोस्टर में आसिया के अलावा जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, नोबेल पुरस्कार विजेता मदर टेरेसा और पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी की तस्वीर भी लगी है.

अनंतनाग जिले के ब्रांग ब्लॉक में सामाजिक कल्याण विभाग की चाइल्ड केयर शाखा द्वारा ‘बेटी बचाओ, बेटी बढ़ाओ’ अभियान के तहत इस पोस्टर को छापा गया है.

समाज कल्याण विभाग के चाइल्ड विंग के कैंपेन के तहत यह पोस्टर बुधवार को एक समारोह में लगाए गए थे. इस दौरान कई पुलिस अधिकारी और स्थानीय अधिकारी मौजूद थे.

बिहार के शिक्षा विभाग ने कश्मीर पर पूछा ऐसा सवाल, जिससे मच गया बवाल

Posted by mp samachar On October - 11 - 2017Comments Off on बिहार के शिक्षा विभाग ने कश्मीर पर पूछा ऐसा सवाल, जिससे मच गया बवाल

bihar_पटना: सुनने में अजीब लगे, लेकिन बिहार के शिक्षा विभाग ने कश्मीर को अलग ही मान्यता दे दी है. कम से कम उनके द्वारा पूछे गए सवाल में तो यही लिखा है. यह सवाल सातवीं क्लास की छमाही परीक्षा में अंग्रेज़ी विषय में पूछा गया है. सवाल है कि जब चीन के लोगों को चायनीज़ कहा जाता है तब नेपाल के लोग को क्या कहा जाता है. फिर इंग्लैंड के लोगों को क्या कहा जाता है. उसके बाद कश्मीर के लोगों के बारे में पूछा गया और अंत में भारत के लोगों के बारे में पूछा गया है कि उन्हें क्या कहा जाता है?

निजी स्कूलों में बढ़ रहा बाजारवाद, सरकारी स्कूलों के लिए बने चुनौती : आरएसएस

यह परीक्षा केन्द्र के सर्व शिक्षा अभियान के तहत बिहार शिक्षा परिषद आयोजित करती है. निश्चित रूप से यह गलत सवाल है, लेकिन शिक्षा विभाग के अधिकारी इसके लिए सवाल छापने वाले प्रिंटर को दोषी मानते हैं, हालांकि उनका कहना है कि यह एक बड़ी गलती है, जो नहीं होनी चाहिए.

प्राइम टाइम इंट्रो : देश में शिक्षा का स्तर आख़िर सुधरेगा कैसे?
बिहार में भाजपा खुद सत्ता में है इसलिए पूरा मामला राजनीतिक तूल शायद नहीं पकड़े, लेकिन दबी जुबान से अधिकारी भी मानते हैं कि यह सवाल सेट करने वालों की गलती है. फिलहाल इस मामले की जांच का आदेश दिया गया है. इससे पहले राज्य सरकार को कई बार पटना होईकोर्ट से फटकार भी लग चुकी है, लेकिन कुछ चीजें शायद कभी नहीं बदलतीं.

KBC-9: दसवीं पास ‘गूगल’ ने ऐसे जीते 50 लाख

Posted by mp samachar On October - 7 - 2017Comments Off on KBC-9: दसवीं पास ‘गूगल’ ने ऐसे जीते 50 लाख

minakshiकौन बनेगा करोड़पति का शुक्रवार (6 अक्टूबर) का एपिसोड काफी खास रहा. इसे खास इसलिए कहा जा सकता है क्योंकि इसमें एक महिला ने अपनी प्रतिभा के बल पर एक बड़ी रकम जीती. हॉट सीट पर बैठी मीनाक्षी जैन ने ये साबित कर दिया कि डिग्री से ज्यादा जरूरी ज्ञान होता है.

एक तरफ जहां अच्छे-खासे पढ़े लिखे कंटेस्टेंट्स भी सवालों के सामने घुटने टेकते नजर आते रहे हैं. वहीं महज दसवीं पास मीनाक्षी अपने ज्ञान से एक करोड़ के सवाल तक पहुंचीं और गेम क्विट कर 50 लाख रुपये लेकर गईं.

मीनाक्षी के साथ उनके बेटे, पिता, बहन आई हुई थीं. बातों-बातों में मीनाक्षी ने बताया था कि उनकी बहनें उन्हें गूगल पुकारती हैं. संभल कर खेल रहीं मीनाक्षी को जिन सवालों पर दिक्कत आई उनमें से एक था, कौन सी नदी पूर्व से पश्चिम की तरफ नहीं बहती. इस सवाल का सही जवाब चंबल था. इसके बाद सवाल- किस खिलाड़ी की पत्नी ने बास्केट बॉल में भारतीय टीम का प्रतिनिधत्व किया. इस सवाल पर मीनाक्षी की गाड़ी अटकी. इस सवाल पर उन्होंने दो लाइफ लाइन इस्तेमाल की.

फोन कर मदद लेने से बात नहीं बनी तो उन्होंने जोड़ीदार के तौर पर आए अपने बेटे को बुलाया. यहां पर बेटे के साथ सलाह कर इशांत शर्मा वाले ऑप्शन को लॉक करवाया गया. इस सवाल की चर्चा के दौरान तो कॉमेडी ही हो गई थी. मीनाक्षी के बेटे ने कहा कि इशांत लंबे हैं तो उनकी पत्नी लंबी होंगी. इस पर अमिताभ ने हंसते हुए कहा कि ऐसा जरूरी नहीं कि पति देव लंबे हों तो पत्नी जी भी लंबी हों.

इसके बाद मीनाक्षी सही खेलीं. 50 लाख जीतने के बाद बिग बी ने उन्हें सलाह दी कि वह एक करोड़ वाले सवाल का जवाब तब ही दें जब वह श्योर हों. क्योंकि इससे उन्हें बड़ी राशि का नुकसान हो सकता है. बता दें कि एक करोड़ के लिए पूछा गया था कि जमशेद जी ने 1869 में कौनसी मिल की स्थापना की थी. इस पर काफी देर तक सोचते हुए मीनाक्षी ने क्विट करने का फैसला लिया और 50 लाख रुपए लेकर घर गईं.

मीनाक्षी के जाने के बाद नई चाह नई राह के तहत बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु हॉट सीट पर आईं. एक अस्पताल को गरीबों के इलाज के लिए डोनेशन देने के लिए खेल रही सिंधु 25 लाख रुपए जीत कर गईं.

बिहार : जब यूनिवर्सिटी की परीक्षा में भगवान गणेश बने परीक्षार्थी!

Posted by mp samachar On October - 6 - 2017Comments Off on बिहार : जब यूनिवर्सिटी की परीक्षा में भगवान गणेश बने परीक्षार्थी!

NBT-imageबिहार के एक विश्वविद्यालय के स्नातक वाणिज्य की परीक्षा में भगवान गणेश शामिल होंगे. यह सुनकर आपको भले आश्चर्य हो रहा होगा, परंतु यह हकीकत है.

दरभंगा के ललित नारायण विश्वविद्यालय के एक छात्र के एडमिट कार्ड पर न केवल भगवान गणेश की तस्वीर चिपकाई गई है, बल्कि गणेश नाम से हस्ताक्षर भी बना दिए गए हैं. हालांकि, विश्वविद्यालय प्रशासन इस गलती के लिए साइबर कैफे को जिम्मेदार बता रहा है.

विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक, ललित नारायण विश्वविद्यालय के ज़े एऩ के. कॉलेज, नेहरा के स्नातक (प्रथम भाग) के छात्र कृष्ण कुमार रॉय ने नियम के अनुसार अपना परीक्षा फॉर्म साइबर कैफे से ऑनलाइन भरा था. छात्र ने जब एडमिट कार्ड डाउनलोड किया तो उसकी तस्वीर के स्थान पर भगवान गणेश की तस्वीर थी. छात्र ने तब इसकी शिकायत कॉलेज प्रशासन और विश्वविद्यालय प्रशासन से की.

इधर, विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ़ कुलानंद यादव ने शुक्रवार को बताया कि एडमिट कार्ड जारी करने में विश्वविद्यालय से कोई गलती नहीं हुई है, बल्कि छात्र ने जिस साइबर कैफे से परीक्षा का फॉर्म भरा था, गड़बड़ वहां से हुई है.

उन्होंने बताया कि इस छात्र के विषय की परीक्षा नौ अक्टूबर से प्रारंभ होनी है. छात्र के एडमिट कार्ड की त्रुटि को ठीक कर दिया गया है और छात्र परीक्षा में शामिल हो पाएगा. विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक, संबंधित कॉलेज के प्राचार्य द्वारा एडमिट कार्ड की जांच के बाद ही एडमिट कार्ड जारी किया जाता है.

अखिलेश सपा के निर्विरोध अध्यक्ष बने, पार्टी के अधिवेशन में नहीं पहुंचे मुलायम

Posted by mp samachar On October - 5 - 2017Comments Off on अखिलेश सपा के निर्विरोध अध्यक्ष बने, पार्टी के अधिवेशन में नहीं पहुंचे मुलायम

mulayam_1507181590आगरा. समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन गुरुवार को आगरा में हुआ। इसमें अखिलेश यादव को पार्टी का निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। अखिलेश ने मुलायम सिंह यादव को अधिवेशन में आने का न्योता दिया था, लेकिन वे नहीं पहुंचे। पहले खबरें आ रही थी कि वे पहुंच सकते हैं। अखिलेश को अगले 5 साल के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है। अधिवेशन में देश भर से करीब 15 हजार पार्टी डेलिगेट्स हिस्सा ले रहे हैं। 10 महीने बाद फिर अखिलेश के नाम पर मुहर…

– सपा अध्यक्ष पद पर अखिलेश के नाम पर दोबारा मुहर 10 महीने बाद लगी है। अखिलेश पहली बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एक जनवरी 2017 को बने थे। तब ​सपा महासचिव रामगोपाल यादव द्वारा बुलाए गए राष्ट्रीय अधिवेशन में मुलायम सिंह को सपा के संरक्षक की भूमिका दी गई थी। वहीं, झगड़े की जड़ माने जा रहे राष्ट्रीय महासचिव अमर सिंह को पार्टी से निकाल दिया गया था, जबकि शिवपाल यादव को सपा के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था।
– इससे पहले, 4 नवंबर 1992 को जब समाजवादी पार्टी की स्थापना हुई थी, उस वक्त से ही मुलायम सिंह सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे।​

अखिलेश, डिंपल बुधवार से ही आगरा में
– अधिवेशन में हिस्सा लेने के लिए अखिलेश यादव और डिंपल यादव बुधवार को आगरा पहुंचे थे, जबकि रामगोपाल 3 अक्टूबर को ही पहुंच गए थे।
– 28 सितंबर को मुलायम सिंह से मिलकर अखिलेश ने उन्हें आगरा के राष्ट्रीय अधिवेशन में आने का न्योता दिया था, लेकिन अधिवेशन में मुलायम नहीं पहुंचे।
– पहले खबरें आई थीं कि एक कारोबारी दोस्त से मुलायम सिंह ने अधिवेशन में जाने के लिए चार्टर्ड प्लेन मांगा था। वहीं, बुधवार को अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, ”मैंने नेताजी से आशीर्वाद मांगा है, मैं चाहता हूं वो आगरा आएं।”

मुलायम ने आगरा चलने को कहा, शिवपाल ने किया इनकार
– बुधवार को शिवपाल ने मुलायम से मुलाकात की थी। सूत्रों के मुताबिक, मुलायम ने ही शिवपाल को अपने आवास पर बुलाया था। नेता जी ने शिवपाल से अधिवेशन में चलने को कहा, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। कहा ये भी जा रहा है कि नाराज चल रहे शिवपाल ने लोहिया ट्रस्ट से भी इस्तीफे की पेशकश की है।
– इस बीच मुलायम ने शिवपाल से कहा है कि वो उन्हें पार्टी में महासचिव की कुर्सी दिला देंगे और वे दिल्ली में पार्टी का काम देखेंगे, लेकिन शिवपाल ने इससे इनकार कर दिया है।
– इससे पहले इटावा में गांधी जयंती पर पार्टी ने रैली निकाली थी, लेकिन शिवपाल इसमें भी शामिल नहीं हुए थे। जबकि शि‍वपाल पिछले 7 साल से इस रैली में शामिल होते आए हैं।

नई पार्टी का एलान करना था, ऐन वक्त पर पलटे मुलायम
– बता दें कि 25 सितंबर को मुलायम सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इसमें उन्हें समाजवादी पार्टी से अलग होकर नई पार्टी बनाने का एलान करना था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में नई पार्टी बनाने वाले प्रेस नोट को पढ़ा ही नहीं। इसके उलट उन्होंने कहा कि मैं कोई नई पार्टी नहीं बना रहा हूं। इससे पहले खबरें आई थीं कि मुलायम अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी का एलान कर सकते हैं।
– बता दें कि समाजवादी पार्टी में फूट के बाद दो गुट बन गए हैं। एक गुट मुलायम और उनके छोटे भाई शिवपाल यादव का है, तो दूसरा गुट अखिलेश और मुलायम के चचेरे भाई रामगोपाल यादव का है।

15 महीने से चल रहा है यादव परिवार में झगड़ा
– करीब डेढ़ साल से यादव परिवार में कलह चल रही है। अखिलेश और रामगोपाल एक तरफ हैं तो शिवपाल और मुलायम दूसरी तरफ।
– मुलायम शिवपाल के साथ खड़े दिखते हैं। लेकिन जानकारों का कहना है कि कहीं ना कहीं यह विवाद मुलायम की शह पर ही बढ़ता चला गया।
– कुछ दिनों पहले ही शिवपाल के कहने के बावजूद मुलायम ने नई पार्टी बनाने का एलान नहीं किया था। बताया जाता है कि इसके बाद से ही शिवपाल अलग मोर्चा या पार्टी बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

top इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा दुष्कृत्य निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी प्रदेश बधाई बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल मंत्रालय मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी मध्यप्रदेश मनरेगा मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विकास विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सहकारिता सीहोर स्वास्थ्य हत्या