19
April - 2018
Thursday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

Archive for the ‘ख़ास खबर’ Category

america-trump-says-he-would-walk-away-if-kim-summit-is-not-fruitfulसीआइए के निदेशक माइक पोंपियो के प्योंगयांग दौरे के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ शिखर वार्ता सफल होने की उम्मीद जताई। लेकिन साथ ही चेतावनी दी कि अगर उन्हें लगेगा कि बातचीत का नतीजा नहीं निकलने वाला है, तो वह इसे रोक देंगे। ट्रंप ने कहा कि जब तक उत्तर कोरिया परमाणु हथियार कार्यक्रम बंद नहीं करेगा तब तक उस पर अत्यधिक दबाव का उनका अभियान जारी रहेगा। उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका उत्तर कोरिया द्वारा गिरफ्तार किए गए तीन अमेरिकी नागरिकों की रिहाई के लिए बातचीत कर रहा है। उनकी रिहाई का अच्छा मौका है। हालांकि उन्होंने इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि क्या यह शिखर वार्ता के लिए शर्त होगी। ट्रंप बुधवार को जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘उम्मीद है कि किम के साथ बैठक सफल रहेगी। मुझे लगेगा कि बैठक लाभदायक नहीं होने जा रही तब मैं सम्मानपूर्वक इससे बाहर हो जाऊंगा।’ इससे पहले ट्रंप ने कहा था कि पोंपियो ने किम के साथ अच्छा संबंध बनाया है। अब शिखर वार्ता की रूपरेखा तैयार की जा रही है। उत्तर कोरिया अगर परमाणु हथियार कार्यक्रम छोड़ दे तो उसके पास उज्ज्वल मार्ग उपलब्ध है। गौरतलब है कि ट्रंप के सबसे विश्वस्त सलाहकार और विदेश मंत्री पद के लिए नामित पोंपियो ने 31 मार्च से दो अप्रैल के बीच प्योंगयोंग का दौरा किया था। ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पोंपियो ने किम के साथ तीन अमेरिकी नागरिकों की कैद का मामला उठाया था। अमेरिका को उनकी रिहाई की उम्मीद है। पोंपियो की प्योंगयांग यात्रा से उत्तर कोरिया के नेता से मिलने वाले पहले पदासीन अमेरिकी राष्ट्रपति बनने की ट्रंप की इच्छा का संकेत मिला है। ट्रंप ने मंगलवार को कहा था कि इस राजनयिक प्रयास में काफी सद्भावना शामिल है जो मई के अंत या जून की शुरुआत में दिख सकती है। हालांकि अभी शिखर वार्ता का स्थान अभी तय नहीं है लेकिन संभावित पांच जगहों पर विचार किया जा रहा है।

पांच जगहों पर बैठक का विचार

इससे एक दिन पहले ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा था कि वह जून या उससे पहले किम से मुलाकात कर सकते हैं। दोनों देशों के नेता बैठक के लिए पांच अलग-अलग स्थानों पर विचार कर रहे हैं, लेकिन इनमें से कोई भी अमेरिका में नहीं है।

ट्रंप ने कहा कि अगर बैठक अच्छी रहती है, तो यह दुनिया के लिए अद्भुत होगा। उन्होंने कहा कि उम्मीद करता हूं कि बैठक बहुत सफल रहेगी और हम इसे लेकर उत्साहित हैं।

tweet-against-government-from-jitu-patwari-twitterभोपाल। सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के एक मामले में 24 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेजे गए कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी की सरकार के खिलाफ जंग जारी है। उनके ट्विटर एकाउंट से सरकार और भाजपा के खिलाफ ट्वीट किये जा रहे हैं। हालांकि इन ट्वीट्स में इस बात का उल्लेख भी किया जा रहा है कि इन्हें पटवारी के कार्यालय से पोस्ट किया गया है।

जीतू पटवारी के हिरासत में होने के बावजूद उनके कार्यालय से संचालित किये जा रहे उनके ट्विटर एकाउंट के जरिये किये गये एक ट्वीट में शिवराज सरकार पर किसानों की आवाज दबाने के लिए विपक्ष के नेताओं को जेल में डालने का आरोप लगाया गया है और बीजेपी के मुख्यमंत्रियों द्वारा सत्ता के दुरुपयोग की बात भी कही जा रही है।

भाजपा सीएम द्वारा शक्तियों का दुरूपयोग :
1- यूपी के सीएम योगी जी ने अपने ऊपर लगे तमाम संगीन मुक़दमे वापस ले लिये।
2-एमपी के सीएम शिवराज जी “जनता की चीख” और “किसानों की आह” दबाने के लिये विपक्ष के नेताओं को जेल भेज रहे हैं।
—मप्र में राजकता है या अराजकता..?
– कार्यालय, जीतू पटवारी

इसके साथ ही दो अन्य ट्वीट में भी सीएम शिवराज पर आरोप लगाए गए हैं। एक ट्वीट में कहा गया है कि अगर शिवराज जी को लगता है कि जीतू पटवारी को जेल में डालकर वे किसानों, युवाओं, महिलाओं की आवाज दबा देंगे तो वे गलतफहमी में हैं। इस ट्वीट में ये भी कहा गया है कि शिवराज प्रायोजित जेल का ये पहरा जनता से जीतू पटवारी के रिश्तों को और गहरा करेगा।

यदि शिवराज जी को लगता है कि जीतू पटवारी को जेल में डालकर वो किसानों, गरीबों, युवाओं, व्यापारियों, संविदा कर्मियों और महिलाओं की आवाज को दबा लेंगे, तो वो ग़लतफ़हमी में है।
—शिवराज प्रायोजित जेल का ये पहरा, जनता से जीतू पटवारी के रिश्तों को और भी गहरा करेगा – कार्यालय, जीतू पटवारी

एक ट्वीट में कहा गया है कि शिवराज जी शक्तियों का उपयोग जनता को इंसाफ दिलाने और प्रदेश की गरिमा वापस लाने के लिए कीजिये।

बलात्कार, भ्रष्टाचार और अवैध उत्खनन में नंबर 1 बन चुके मप्र के दाग धोने के लिये शिवराज अब विपक्ष और जनता की आवाज को जेल में क़ैद करने का दुस्साहस कर रहे हैं..?
—शिवराज जी, शक्तियों का उपयोग जनता को इंसाफ़ दिलाने और मप्र की गरिमा वापस लाने के लिये कीजिये – कार्यालय, जीतू पटवारी

गौरतलब है कि जीतू पटवारी को सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने के लिए जाना जाता है। जब वे जेल में हैं तो उनके कार्यालय से संचालित बताये जा रहे उन्हीं के ट्विटर एकाउंट से सत्ता पक्ष के खिलाफ आवाज उठाई जा रही है।

19_04_2018-togadiaअहमदाबाद। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के पूर्व अध्यक्ष डॉ प्रवीण तोगड़िया का अनशन तीसरे दिन वीरवार को भी जारी है। तोगड़िया विहिप कार्यालय में अनशन कर रहे हैं। अनशन के दौरान उनका वजन तीन किलो कम हो गया है। डॉक्टरों ने उनकी जांच की है। इस बीच, शिवसेना व हार्दिक पटेल ने तोगड़िया का समर्थन किया है। शिवसेना नेता उनसे मुलाकात करेंगे। भाजपा नेता सुरेंद्र पटेल भी तोगड़िया से मिले, पर बात नहीं बनी।

तोगड़िया अहमदाबाद के पालड़ी इलाके में विश्व हिंदू परिषद के मुख्यालय डॉ. वणकर भवन के बाहर उपवास पर मंगलवार को बैठे थे। तोगड़िया ने एक बार फिर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की मांग पर जोर देते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनकी कोई निजी दुश्मनी नहीं है और न ही उन्हें प्रधानमंत्री की कुर्सी चाहिए। भाजपा, आरएसएस व विहिप वर्षों से जिन मुद्दों को उठाती रही तथा जो वादे करके सत्ता में आए, उन्हें पूरा किया जाना चाहिए। तोगड़िया ने कहा इन्हीं मुद्दों को उठाने पर उन्हें विहिप से धक्के मारकर निकाल दिया गया। भावुक अंदाज में कहा कि नौ साल की उम्र में हिंदू समाज के हितों के लिए उन्होंने अपना घर छोड़ दिया था। अहमदाबाद में सर्जन के अच्छे काम व परिवार को छोड़कर वे हिंदुओं के हितों के लिए लड़ते रहे।

तोगड़िया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि पीएम बनने के बाद हिंदुओं से किए गए वादे भूल गए हैं। कांग्रेस सरकार के खिलाफ जब हिंदू हित की आवाज बुलंद करते थे, तब भाजपा को अच्छा लगता था। लेकिन अब वह आंख में चुभ रहे हैं। सत्ता में आने से पहले भाजपा नेता कहते थे कि उनके सत्ता में आते ही हिंदुओं की मांग चुटकियों में हल कर देंगे। आज देश का हिंदू उन्हीं चुटकियों की आवाज सुनने को तरस रहा है।

तोगड़िया ने कहा कि उन्हें जिन मांगों के कारण विहिप से उन्हें बाहर किया गया है वे उनकी निजी मांगें नहीं हैं। भाजपा, आरएसएस व विहिप वर्षों से वही मांग करते आ रहे हैं। आज जब भाजपा खुद सत्ता में आ गई तो कांग्रेस के नक्शेकदम पर चल रही है। गोधरा कांड, गुजरात दंगों, नोटबंदी, जीएसटी आदि मुद्दों पर तोगड़िया ने कहा कि जो वर्ग भाजपा को मदद करता था वही सबसे अधिक परेशान है। उपवास में शामिल हुए संत महात्माओं ने भी केंद्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया।

k7नई दिल्ली/मोहाली: आज किंग्स इलेवन पंजाब टीम की कोशिश टूर्नामेंट में अजेय रही सनराइज़र्स हैदराबाद का रथ रोकने की होगी. दोनों टीमों के बीच श्रेष्ठ होने की जंग है क्योंकि ये दोनों टीमें पॉइंट्स टेबल में दूसरे और तीसरे स्थान पर है.

हालांकि किंग्स इलेवन पंजाब के लिए ये आसान नहीं होने वाला क्योंकि हैदराबाद की टीम विजय रथ पर सवार होकर अपने तीनों मुकाबले जीत चुकी है.

केन विलियमसन की अगुआई वाली हैदराबाद की टीम ने अब तक अपने तीनों मैचों में जीत दर्ज की है और इस दौरान उनके गेंदबाजों का प्रदर्शन शानदार रहा है.

दूसरी तरफ रविचंद्रन अश्विन की अगुआई वाली पंजाब की टीम ने अपनी ‘आक्रामक’ बल्लेबाजी से विरोधी टीमों को ध्वस्त किया है.

मेजबान टीम ने अब तक तीन में से दो मैचों में जीत दर्ज की है जिसमें चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ यहां पिछले मैच में मिली करीबी जीत भी शामिल है.

भुवनेश्वर कुमार, राशिद खान, बिली स्टेनलेक, सिद्धार्थ कौल, साकिब अल हसन और संदीप शर्मा की मौजूदगी में सनराइजर्स का गेंदबाजी आक्रमण काफी संतुलित है.

हैदराबाद के बल्लेबाजी क्रम में भी अनुभव की कोई कमी नहीं है. टीम के पास रिद्धिमान साहा, विलियमसन, शिखर धवन और मनीष पांडे जैसे बल्लेबाज हैं जबकि साकिब, दीपक हुड्डा और यूसुफ पठान टीम के बल्लेबाजी क्रम को गहराई देते हैं.

मुंबई इंडियन्स के खिलाफ हालांकि 148 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम को जूझना पड़ा था और टीम ने अंतिम गेंद पर एक विकेट की जीत दर्ज की.

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ सत्र के अपने पहले मैच में हैदराबाद ने विरोधी टीम को नौ विकेट पर 125 रन पर रोकने के बाद नौ विकेट से आसान जीत दर्ज की.

कोलकाता नाइट राइडर्स को भी सनराइजर्स के गेंदबाजों ने आठ विकेट पर 138 रन ही बनाने दिए. इस मैच में भुवनेश्वर ने तीन विकेट चटकाए.

पिछले मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स को चार रन से हराने के बाद पंजाब की टीम भी आत्मविश्वास से भरी है. चेन्नई के खिलाफ क्रिस गेल ने सत्र का पहला मैच खेलते हुए 33 गेंद में 63 रन बनाए जिससे टीम ने 197 रन बनाए. गेल ने अच्छी फार्म में चल रहे लोकेश राहुल के साथ पहले विकेट के लिए 96 रन भी जोड़े.

मयंक अग्रवाल, करूण नायर और अश्विन ने भी बल्ले से उपयोगी योगदान दिया है. युवराज सिंह हालांकि तीन मैचों में 12, 04 और 20 रन की पारियां ही खेल पाए हैं तो टीम के लिए चिंता का सबब है.

टीम ने अपने अभियान की शुरुआत दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ आसान जीत के साथ की थी लेकिन दूसरे मैच में रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ हार गए.

पंजाब के 17 साल के स्पिनर मुजीब उर रहमान अपनी गैरपारंपरिक गेंदों से बल्लेबाजों को हैरान कर रहे हैं और उन्हें आरसीबी के कप्तान विराट कोहली का विकेट भी मिला है.

अश्विन और मुजीब के अलावा टीम के पास मोहित शर्मा, अक्षर पटेल और एड्रयू टाई जैसे गेंदबाज भी हैं.

kapil-sharma-comeback-after-his-flop-comedy-show-tmov-कपिल शर्मा का नया शो बुरी तरह फ्लॉप हो गया है. फिलहाल, ये शो बंद चल रहा है. लेकिन चैनल ने अभी स्पष्ट नहीं किया है कि वे इस शो को जारी रखेंगे या हमेशा के लिए बंद कर देंगे. कपिल शर्मा कई विवादों में भी आ गए. उनका एक ऑडियो टैप वायरल हुआ था, जिसमें वे गालियां देते सुनाई दे रहे हैं.

इस सबके बाद अब कपिल शर्मा ने कहा है कि उनके कुछ अच्छे प्रोजेक्ट आने वाले हैं. वे जल्द लौटेंगे. बकौल कपिल, मुझे कुछ समय चाहिए. मुझे पूरी तरह स्वस्थ होने की जरूरत है. मैं उन प्रोजेक्ट पर कड़ी मेहनत कर रहा हूं, जिन पर मैं जल्द बात करूंगा. कई प्रोजेक्ट मेरे पाइपलाइन में हैं. मैंने काफी मेहनत की है, मैं जो करता हूं, उसे प्यार करता हूं.’

कपिल ने कहा, मैं अपने फैन्स से वादा करता हूं मैं जल्द आपको फिर एंटरटेन करूंगा.’ बता दें कि कपिल शर्मा डिप्रेशन से जूझ रहे हैं.एक रिपोर्ट में तो यहां तक कहा गया कि कपिल एक दिन में 23 गोलियां खा रहे हैं. एक इंटरव्यू में तो अली असगर ने दावा किया कि वो भारी डिप्रेशन में हैं और अपनी कलाई पर प्रीति सिमोस का नाम गुदवा रखा है. हालांकि अब कपिल से जुड़ी जो आधिकारिक बात सामने आई है उसमें दूसरी कहानी दिख रही है.

हिंदुस्तान टाइम्स ने कपिल के आधिकारिक प्रवक्ता के हवाले से बताया है कि कपिल इस वक्त अपनी गर्लफ्रेंड गिन्नी के साथ ट्रैवलिंग कर रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक कपिल को खबरों में किए जा रहे तमाम दावे अफवाह भर हैं.

प्रवक्ता ने उन खबरों को भी आधारहीन करार दिया जिसमें कपिल की अली असगर से मुलाक़ात और कलाई पर पूर्व एक्स गर्लफ्रेंड प्रीति सिमोस के नाम लिखवाने का जिक्र है. आधिकारिक प्रवक्ता के बयान से सवाल उठता है कि अगर कपिल ठीक हैं और गिन्नी को लेकर ट्रैवलिंग कर रहे हैं तो उनकी हेल्थ को लेकर तमाम खबरें क्या महज अफवाह भर हैं?

बताते चलें कि हाल ही में एक इंटरव्यू में अली असगर ने कपिल के साथ मुलाक़ात का दावा किया था. उन्होंने कहा था, जब मैंने सुना कि कपिल डिप्रेशन से गुजर रहे हैं तो मुझे बहुत बुरा लगा. हम हमेशा कपिल के साथ थे और जरूरत पड़ने पर रहेंगे. प्रीति ने भी मुझे फोन कर बताया कि कपिल की सेहत ठीक नहीं है और वो कई दिन से अपने कमरे से बाहर नहीं निकले हैं.

infog-imf-said-global-debt-has-reached-record-highअंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने उभरती और विकसित अर्थव्यवस्थाओं से ऐसी नीतियों से बचने के लिए कहा है जो आर्थिक उतार-चढ़ाव को बढ़ाती हों। ऐसा उसने इनका सार्वजनिक ऋण अपने ऐतिहासिक रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंचने के बाद कहा है। आईएमएफ में राजकोषीय मामले विभाग के निदेशक विटोर गैस्पर ने कहा कि 2016 में वैश्विक ऋण 164 हजार अरब डॉलर की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया। यह वैश्विक जीडीपी के लगभग 225 प्रतिशत के बराबर है।

पिछले दस सालों में अधिकतर ऋण उन्नत अर्थव्यवस्थाओं के पास है और ऋण में बढ़ोतरी के लिए अधिकतर उभरती अर्थव्यवस्थाएं जिम्मेदार हैं। गैस्पर ने देशों को सुझाव दिया कि बढ़ते जोखिम के बीच समय रहते वे अपनी सार्वजनिक वित्तीय हालत को मजबूत बनाएं। ऋण की वृद्धि में 2007 के बाद से अकेले चीन ने 43 प्रतिशत का योगदान दिया है।

गैस्पर ने एक प्रेसवार्ता में कहा, ‘उन्नत और उभरती अर्थव्यवस्थाओं का सार्वजनिक ऋण इस समय ऐतिहासिक ऊंचाइयों पर है। उन्नत अर्थव्यवस्थाओं का ऋण और जीडीपी अनुपात जीडीपी के 105 प्रतिशत से अधिक है। ऐसा स्तर दूसरे विश्वयुद्ध के बाद से अब तक नहीं देखा गया है।’

उन्होंने कहा कि देशों को ऐसी राजकोषीय नीतियों को आगे बढ़ाना चाहिए जो आर्थिक उतार -चढ़ाव और सार्वजनिक ऋण को कम करने को प्रोत्साहन दें। एक सवाल के जवाब में गैस्पर ने कहा कि ऋण का उच्च स्तर विशेषकर जब वह लगातार तेजी से बढ़ रहा हो तो वह वित्तीय स्थिरता के लिए जोखिम लाता है और व्यापक आर्थिक गतिविधियों के लिए घातक होता है। यह उन कारणों में से एक है जिसके चलते हम सरकारों से अब इस बेहतर समय में उनके राजकोषीय बफर के पुनर्निमाण के लिए कह रहे हैं। उन्हें मजबूत सार्वजनिक वित्तीय प्रणाली बनाने के लिए कह रहे हैं ताकि वह कभी भी आ जाने वाले बुरे वक्त के लिए तैयार रहें।

उभरती अर्थव्यवस्थाओं में ऋण का औसत स्तर उनके जीडीपी का 50 प्रतिशत है जिसे भूतकाल में वित्तीय संकट के तौर पर देखा जाता था। वहीं कम आय वाले विकासशील देशों में ऋण और जीडीपी का औसत अनुपात जीडीपी के 44 प्रतिशत के बराबर है।

15-key-points-pm-narendra-modi-to-indian-diaspora-in-londonsनई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लंदन के सेंट्रल हॉल वेस्टमिंस्टर में ‘भारत की बात, सबके साथ’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जहां एक ओर सर्जिकल स्ट्राइक के लिए भारतीय सेना के शौर्य की तारीफ की, तो दूसरी ओर चीन और पाकिस्तान पर भी निशाना साधा. इसके साथ ही पीएम मोदी ने उनके शासनकाल में शुरू हुए जनकल्याणकारी कामों को भी रेखांकित किया और बताया कि कैसे देश के आमजन को इसका फायदा मिल रहा है.

मोदी ने कहा कि इस सरकार से लोगों की अपेक्षाएं ज्यादा हैं, क्योंकि वे जानते हैं कि यह सरकार उनकी अपेक्षाएं पूरी कर सकती है. देश में नाबालिग लड़कियों से बलात्कार की हालिया घटनाओं पर मोदी ने दुख व्यक्त किया और कहा कि यह सिर्फ व्यक्ति की नहीं बल्कि समाज की भी बुराई है.

सेंट्रल हॉल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के मुख्य अंश:

* जिंदगी की चुनौतियों ने मुझे जीना सिखाया; जिंदगी सिर्फ़ अपने लिये नहीं, औरों के लिये भी हो सकती है.

* मुझे क़िताब पढ़कर गरीबी नहीं सीखना पढ़ती, मैंने जिंदगी को जीकर गरीबी को जाना है. गरीबी हटाओ के नारे से गरीबी नहीं मिटती.

* 18 हज़ार गांवों में बिजली पहुंचा दी, डेढ़-दो सौ गांव बचे हैं, देश में टॉयलेट की समस्या ने मुझे चैन से सोने नहीं दिया.

* 3 हज़ार गांवों में टॉयलेट की समस्या खत्म हो चुकी है, 70 साल बाद 4 करोड़ परिवार आज भी दिया जलाकर गुजारा करते हैं.

* इन 4 करोड़ परिवारों के घर में मुझे बिजली पहुंचाना है, पहुंचाऊंगा, गरीबी से लड़ने के लिये मैं गरीब साथियों की फोर्स बनाऊंगा.

* छोटी बच्ची का बलात्कार दर्दनाक, चिंताजनक घटना; मैंने लालकिले से कहा था कि बेटों से क्यों नहीं पूछते.

* बलात्कार पर राजनीति नहीं होनी चाहिये; मेरी सरकार में इतने, उस सरकार में उतने रेप… ये ठीक नहीं है.

* नोटबंदी पर मुझे भरोसा था कि देश ईमानदारी के लिये जूझ रहा है, मुझे विश्वास था कि मेरा देश परेशानी उठाने को भी तैयार है.

* मोदी तो निमित्त है, आखिर किसी को तो पत्थर मारेंगे ही; किसी पर तो कूड़ा फेंकेगे, किसी को तो गाली देंगे… मेरा सौभाग्य है कि ये सब मेरे खाते में आ रहे हैं.

* मेरे आलोचक मुझे सज़ा दें, देश को नहीं; हर तरह की ठोकरें खाकर यहां तक पहुंचा हूं; जो मुझपर पत्थर फेंकते हैं, उसी से पंक्ति बना देता हूं और उससे ऊपर चढ़ता हूं.

* लड़ने की ताक़त नहीं, पीठ पर वार करता है, मोदी उसी की भाषा में जवाब देना जानता है, दुश्मन को ईंट का जवाब पत्थर से दिया.

* सर्जिकल स्ट्राइक की बात किसी से छिपाई नहीं, सर्जिकल स्ट्राइक भारतीय सेना का पराक्रम था, आतंक फैलाने वालों को पता चलना चाहिये भारत बदल चुका है .

* मेरे पास वंशवाद नहीं है, मेरी पूंजी है कठोर परिश्रम; मेरे पास पूंजी है प्रामाणिकता; मेरी पूंजी है सवा सौ करोड़ देशवासियों का प्यार.

* गरीबी हटानी है तो गरीबों को शक्तिशाली बनाकर ही हटा सकते हैं; लोन मेलों ने जि़ंदगी नहीं बदली, इसलिये हम मुद्रा योजना लाए.

* अबतक 11 करोड़ लोगों ने मुद्रा योजना का लाभ उठाया है; 5 लाख करोड़ रुपये से ज़्यादा पूंजी लोगों के पास पहुंची है; 11 करोड़ में से 74 प्रतिशत महिलाएं हैं जिन्हें मुद्रा योजना का लाभ मिला.

rape_1524133135लखनऊ. राजधानी से 70 किमी दूर बसे सीतापुर में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक पिता ने अपनी 35 वर्षीय बेटी का दोस्तों के हाथों न सिर्फ गैंगरेप करवाया, बल्कि इस दुष्कृत्य में खुद शामिल भी हुआ। यूपी पुलिस ने मामले में तेजी दिखाते हुई मंगलवार को एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया, बाकी दो की तलाश जारी है।

मेले के बहाने ले गया पिता, किया गैंगरेप
– सीतापुर जिला निवासी आरोपी बीते 15 अप्रैल को अपनी बेटी को कमलापुर में लगा एक मेला घुमाने के बहाने लाया था। मेले से लौटते वक्त आरोपी ने अपने दोस्त मानसिंह, जो कि एक हिस्ट्रीशीटर है, उसे फोन लगाया और वहां आने को कहा।
– आरोपी अपनी बेटी साथ लेकर मान सिंह की बाइक से एक दूसरे दोस्त मेराज के घर ले गया।
– पीड़िता के मुताबिक उसके पिता ने वहां उसे उनके दोस्तों के हवाले कर दिया। मेराज के घर पर पीड़िता के पिता और उसके दोस्तों ने बारी-बारी से रेप किया। उसे वहां लगभग 18 घंटे तक बंधक बनाकर रखा गया।
– पीड़िता जैसे-तैसे सोमवार को वहां से भागी और अपनी मां के पास पहुंचकर आपबीती कही। मां ने तुरंत कमलापुर एसएचओ के पास FIR दर्ज करवाई।
– एसएचओ संजीत सोनकर ने बताया, “हमने आरोपी मेराज को गिरफ्तार कर लिया है। महिला का पिता और मान सिंह अभी फरार हैं। 40+ उम्र का मेराज खुद को डॉक्टर बता रहा है, हालांकि उसके पास इसे साबित करने के लिए कोई डिग्री नहीं है।

ujhजज लोया की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को फैसला सुनाया. शीर्ष कोर्ट ने इस मामले में SIT जांच की याचिका को खारिज कर दिया. इस फैसले पर कांग्रेस पार्टी ने सवाल खड़े किए हैं. गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन कर कांग्रेस पार्टी ने कहा कि इस मामले में कई सवाल अभी भी अनसुलझे हैं.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जज लोया की मौत के बाद दो और साथियों की भी मौत हुई थी. इस मामले में कई तरह के आरोप सामने आए. मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए.

सुरजेवाला ने कहा कि आज का दिन काफी दुखद है, जज लोया की मौत का जांच मामला काफी गंभीर था. उन्होंने कहा कि वो सोहराबुद्दीन मामले की सुनवाई कर रहे थे, जिसमें अमित शाह का नाम आया था. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद भी कई तरह के सवाल बाकी हैं. उन्होंने कई तरह के सवाल उठाए.

1. सोहराबुद्दीन और प्रजापति के केस को 2012 में जजों का ट्रांसफर किया गया था. जज उत्पत का भी ट्रांसफर कर दिया गया था.

2. जज लोया को 100 करोड़ रुपए की रिश्वत, एक फ्लैट देने की पेशकश की गई थी.

3. जज लोया की मौत का हार्ट अटैक से मौत बताया गया था. लेकिन ईसीजी की रिपोर्ट में ऐसा कुछ भी नज़र आया था.

4. नागपुर में उनकी सुरक्षा को हटा दिया गया था.

5. जज लोया मुंबई से नागपुर ट्रेन के जरिए गए थे.

6. जज लोया के नागपुर रेलभवन में रुकने का कोई रिकॉर्ड नहीं.

7. जिस गेस्ट हाउस में जज लोया रुके हुए थे, वहां कई कमरे थे. लेकिन तीन जज उसी कमरे में ही क्यों रुके हुए थे.

8. परिवार को जज लोया के कपड़ों में गर्दन के पास खून मिला था.

9. पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट में उनका नाम गलत लिखा गया था.

10. जज लोया की मौत के बाद दो अन्य जजों की भी मौत हुई जिस पर भी कई तरह के सवाल हैं.

उन्होंने कहा कि भारत के लोगों को जवाब चाहिए. जांच से ही सब कुछ स्पष्ट हो पाएगा. लेकिन जज लोया के मामले में अब तक जांच नहीं हुई है. कोई तय नहीं कर सकता कि मौत प्राकृतिक है या नहीं. क्या केवल जजों के बयान के आधार पर अन्य दस्तावेज और संदिग्ध परिस्थितियों को दरकिनार किया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि जजों ने 164 CRPC के तहत बयान नहीं दिया, पुलिस को दिया बयान अदालत में मान्य नहीं है. उन्होंने कहा कि जांच से ही संदेह से पर्दा हट सकता है. जज लोया के मामले को सुप्रीम कोर्ट के जजों ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में उठाया.

क्या है कोर्ट का फैसला?

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की स्वतंत्र जांच कराने की अपील को खारिज कर दिया है. कोर्ट ने कहा है कि मामले का कोई आधार नहीं है, इसलिए इसमें जांच नहीं होगी. तीन जजों की बेंच ने फैसला सुनाते हुए कहा कि चार जजों के बयान पर संदेह का कोई कारण नहीं है, उनपर संदेह करना संस्थान पर संदेह करने जैसा होगा. शीर्ष कोर्ट ने कहा कि इस मामले के लिए न्यायपालिका को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है.

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए याचिकाकर्ताओं को फटकार लगाई. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जिन वकीलों ने ये याचिका डाली है, उन्होंने इसके जरिए न्यायपालिका को बदनाम करने की कोशिश की है. ये अदालत की आपराधिक अवमानना करने जैसा है. शीर्ष कोर्ट ने कहा कि ये याचिका राजनीतिक फायदे और न्यायपालिका की प्रक्रिया पर सवाल उठाने के लिए किया गया.

चोगम में भाग लेने के लिए ब्रिटेन पहुंचे पीएम मोदी

Posted by reporter On April - 18 - 2018Comments Off on चोगम में भाग लेने के लिए ब्रिटेन पहुंचे पीएम मोदी

mmmmmलंदन : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रमंडल देशों के शासनाध्यक्षों की बैठक (चोगम ) में द्विपक्षीय मुलाकातों तथा बहुपक्षीय चर्चा में भाग लेने के लिए बुधवार को ब्रिटेन पहुंचे. ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन ने यहां हीथ्रो हवाई अड्डे पर मोदी की अगवानी की.

जॉनसन ने कहा कि वह भारत तथा ब्रिटेन के बीच बढ़ते द्विपक्षीय व्यापार को लेकर उत्साहित हैं और यह यात्रा ‘‘ वृहद आर्थिक लाभ ‘ का मार्ग निर्मित करने में सहायक होगी. जॉनसन ने एक बयान में कहा , ‘‘ हमारे साझा इतिहास को धन्यवाद है , हमारे बीच जीता जागता सेतु है और अब हम अतुल्य प्रौद्योगिकी क्षेत्र निर्मित करना चाहते हैं जहां भारत और ब्रिटेप एकसाथ ऊंचाइयों को छू रहे हैं. ‘

मोदी का यहां अतिव्यस्त कार्यक्रम हैं. जिसमें सबसे पहले वह 10 डाउनिंग स्ट्रीट में प्रधानमंत्री टेरीजा मे के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे. इस दौरान दोनों के बीच अलगावाद , सीमा पार आतंकवाद , वीजा तथा आव्रजन सहित साझा हितों के अनेक मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है. अवैध शरणार्थियों को वापस भेजने वाले वाले एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) का आधिकारिक तौर पर नवीनीकरण किया जाएगा इस एमओयू की अवधि 2014 को समाप्त हो गयी थी. इसके बाद मोदी लंदन में साइंस म्यूजियम में आयोजित ‘5000 इयर्स ऑफ साइंस एंड इनोवेशन ‘ प्रदर्शनी में शिरकत करेंगे. इस दौरान वे भारतीय मूल के लोगों , वैज्ञानिकों और नवोन्मेषियों से बातचीत करेंगे.

प्रिंस चार्ल्स की ओर से आयोजित कार्यक्रम में न्यू आयुर्वेदिक सेंटर फॉर एक्सिलेंस का उद्घाटन किया जाएगा.

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या