24
February - 2018
Saturday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

अखिलेश सपा के निर्विरोध अध्यक्ष बने, पार्टी के अधिवेशन में नहीं पहुंचे मुलायम

Posted by mp samachar On October - 5 - 2017Comments Off on अखिलेश सपा के निर्विरोध अध्यक्ष बने, पार्टी के अधिवेशन में नहीं पहुंचे मुलायम

mulayam_1507181590आगरा. समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन गुरुवार को आगरा में हुआ। इसमें अखिलेश यादव को पार्टी का निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। अखिलेश ने मुलायम सिंह यादव को अधिवेशन में आने का न्योता दिया था, लेकिन वे नहीं पहुंचे। पहले खबरें आ रही थी कि वे पहुंच सकते हैं। अखिलेश को अगले 5 साल के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है। अधिवेशन में देश भर से करीब 15 हजार पार्टी डेलिगेट्स हिस्सा ले रहे हैं। 10 महीने बाद फिर अखिलेश के नाम पर मुहर…

– सपा अध्यक्ष पद पर अखिलेश के नाम पर दोबारा मुहर 10 महीने बाद लगी है। अखिलेश पहली बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एक जनवरी 2017 को बने थे। तब ​सपा महासचिव रामगोपाल यादव द्वारा बुलाए गए राष्ट्रीय अधिवेशन में मुलायम सिंह को सपा के संरक्षक की भूमिका दी गई थी। वहीं, झगड़े की जड़ माने जा रहे राष्ट्रीय महासचिव अमर सिंह को पार्टी से निकाल दिया गया था, जबकि शिवपाल यादव को सपा के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था।
– इससे पहले, 4 नवंबर 1992 को जब समाजवादी पार्टी की स्थापना हुई थी, उस वक्त से ही मुलायम सिंह सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे।​

अखिलेश, डिंपल बुधवार से ही आगरा में
– अधिवेशन में हिस्सा लेने के लिए अखिलेश यादव और डिंपल यादव बुधवार को आगरा पहुंचे थे, जबकि रामगोपाल 3 अक्टूबर को ही पहुंच गए थे।
– 28 सितंबर को मुलायम सिंह से मिलकर अखिलेश ने उन्हें आगरा के राष्ट्रीय अधिवेशन में आने का न्योता दिया था, लेकिन अधिवेशन में मुलायम नहीं पहुंचे।
– पहले खबरें आई थीं कि एक कारोबारी दोस्त से मुलायम सिंह ने अधिवेशन में जाने के लिए चार्टर्ड प्लेन मांगा था। वहीं, बुधवार को अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, ”मैंने नेताजी से आशीर्वाद मांगा है, मैं चाहता हूं वो आगरा आएं।”

मुलायम ने आगरा चलने को कहा, शिवपाल ने किया इनकार
– बुधवार को शिवपाल ने मुलायम से मुलाकात की थी। सूत्रों के मुताबिक, मुलायम ने ही शिवपाल को अपने आवास पर बुलाया था। नेता जी ने शिवपाल से अधिवेशन में चलने को कहा, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। कहा ये भी जा रहा है कि नाराज चल रहे शिवपाल ने लोहिया ट्रस्ट से भी इस्तीफे की पेशकश की है।
– इस बीच मुलायम ने शिवपाल से कहा है कि वो उन्हें पार्टी में महासचिव की कुर्सी दिला देंगे और वे दिल्ली में पार्टी का काम देखेंगे, लेकिन शिवपाल ने इससे इनकार कर दिया है।
– इससे पहले इटावा में गांधी जयंती पर पार्टी ने रैली निकाली थी, लेकिन शिवपाल इसमें भी शामिल नहीं हुए थे। जबकि शि‍वपाल पिछले 7 साल से इस रैली में शामिल होते आए हैं।

नई पार्टी का एलान करना था, ऐन वक्त पर पलटे मुलायम
– बता दें कि 25 सितंबर को मुलायम सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इसमें उन्हें समाजवादी पार्टी से अलग होकर नई पार्टी बनाने का एलान करना था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में नई पार्टी बनाने वाले प्रेस नोट को पढ़ा ही नहीं। इसके उलट उन्होंने कहा कि मैं कोई नई पार्टी नहीं बना रहा हूं। इससे पहले खबरें आई थीं कि मुलायम अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी का एलान कर सकते हैं।
– बता दें कि समाजवादी पार्टी में फूट के बाद दो गुट बन गए हैं। एक गुट मुलायम और उनके छोटे भाई शिवपाल यादव का है, तो दूसरा गुट अखिलेश और मुलायम के चचेरे भाई रामगोपाल यादव का है।

15 महीने से चल रहा है यादव परिवार में झगड़ा
– करीब डेढ़ साल से यादव परिवार में कलह चल रही है। अखिलेश और रामगोपाल एक तरफ हैं तो शिवपाल और मुलायम दूसरी तरफ।
– मुलायम शिवपाल के साथ खड़े दिखते हैं। लेकिन जानकारों का कहना है कि कहीं ना कहीं यह विवाद मुलायम की शह पर ही बढ़ता चला गया।
– कुछ दिनों पहले ही शिवपाल के कहने के बावजूद मुलायम ने नई पार्टी बनाने का एलान नहीं किया था। बताया जाता है कि इसके बाद से ही शिवपाल अलग मोर्चा या पार्टी बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

Comments are closed.

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या