20
June - 2018
Wednesday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

कोल वॉर में बाबा रामदेव भी कूदे, 2 अक्टूबर से करेंगे आंदोलन

Posted by mpsamachar On September - 1 - 2012Comments Off on कोल वॉर में बाबा रामदेव भी कूदे, 2 अक्टूबर से करेंगे आंदोलन

नई दिल्ली।। कोल वॉर में योग गुरु बाबा रामदेव भी कूद पड़े हैं। उन्होंने कोयला ब्लॉक आवंटन मामले में केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोला और आरोप लगाया कि घोटाला 200 लाख करोड़ रुपये का है। रामदेव ने सरकार के खिलाफ 2 अक्टूबर से आंदोलन की घोषणा करते हुए कहा कि इस मामले में घोटाला, घाटा और दलाली हुई है। बाबा रामदेव ने कहा कि यूपीए सरकार ने घोटालों का कीर्तिमान बनाया है। कांग्रेस से जुड़े लोगों को या फिर कांग्रेस को दलाली देने वाले लोगों को कोयला ब्लॉक्स दे दिए गए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इस घोटाले में 20 लाख करोड़ की दलाली ली है।

योगगुरु ने अपने ट्रस्ट का बचाव करते हुए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी को निशाने पर लिया। कांग्रेस के बयानों पर उन्होंने सवाल किया है कि अगर प्रधानमंत्री ईमानदार हैं तो बेईमान कौन है। बाबा ने कहा है कि कोयले की दलाली में हाथ नहीं बल्कि मुंह काला हुआ है। इनकम टैक्स और सर्विस टैक्स डिपार्टमेंट से पतंजलि योगपीठ को मिले नोटिस पर उन्होंन कहा कि कांग्रेस सरकार साजिश के तहत हमें फंसाना चाह रही है।

बाबा ने आरोप लगाया कि चोरी के बाद कांग्रेस सीनाजोरी कर रही है। उन्‍होंने कहा कि सरकारी एजेंसियां हमारे ट्रस्‍ट के खिलाफ हर तरह से जांच में जुटी हैं। ट्रस्‍ट के लोगों को बेवजह फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनके आश्रम के लोगों को लालच दी जा रही ताकि उनके आश्रम में विस्फोटक वगैरह रखकर उन्हें फंसाया जा सके। उन्होंने सवाल किया कि सरकार योग सिखाने पर टैक्स क्यों लगा रही है? बाबा ने कहा, ‘यह सीधे-सीधे फकीर और वजीर की लड़ाई है और कांग्रेस दान को भी लूट बता रही है। यह सरकार तो सेवा पर भी टैक्‍स लगा रही है।’

राहुल गांधी पर ताना कसते हुए बाबा ने कहा कि मैं और वह, दोनों कांग्रेस को बर्बाद करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी पार्टी के भीतर रहकर और मैं बाहर से कांग्रेस का नाश करने में लगा हूं। बिहार और यूपी चुनाव में राहुल गांधी के प्रचार अभियान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि जहां-जहां उनके कदम पड़े कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया।

हिरासत में लिए गए बाबा रामदेव, जनसैलाब उमड़ा

Posted by mpsamachar On August - 13 - 2012Comments Off on हिरासत में लिए गए बाबा रामदेव, जनसैलाब उमड़ा

नई दिल्ली: रामलीला मैदान से निकलकर बाबा रामदेव एक गाड़ी की छत पर सवार होकर पुलिस बैरिकेडिंग के पास तक पहुंचे, जहां उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया गया और हिरासत में ले लिया गया। उनके तमाम समर्थकों को भी बसों में भरने का काम पुलिस ने आरंभ कर दिया है। वहीं बाबा रामदेव के सैकड़ों समर्थक बाबा रामदेव की बस के सामने बैठ गए हैं। और दिल्ली पुलिस को उन्हें हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है।

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि बाबा रामदेव को गिरफ्तार नहीं किया गया है। उन्हें यहां से बवाना ले जाकर उन्हें छोड़ दिया जाएगा।

दिल्ली पुलिस ने बाबा रामदेव को अपने समर्थकों के साथ संसद की मार्च करने की इजाजत नहीं दी थी, और एनडीएमसी इलाके में धारा 144 लगा दी गई थी। वहीं, बाबा रामदेव के समर्थकों के लिए बवाना स्टेडियम को अस्थायी जेल बनाया गया है।

इससे पहले, सोमवार को भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी और जद (यू) प्रमुख शरद यादव भी रामलीला मैदान में बाबा रामदेव के मंच पर पहुंचे। इससे पहले रामदेव ने कांग्रेस पर हमला बोला और लोगों से केंद्र की संप्रग सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया।

गडकरी और भाजपा नीत राजग के संयोजक यादव आज दिन में करीब 11:30 बजे रामलीला मैदान पहुंचे। राजग के नेता मंच पर बाबा रामदेव और उनके समर्थकों के साथ नजर आए। बाबा के मंच पर पहुंचने वालों में तेलुगू देसम पार्टी (तेदेपा) के नेता नागेश्वर राव, भाजपा के विजय गोयल और अकाली दल के प्रतिनिधि भी मौजूद थे। विपक्षी गठबंधन राजग के नेता रामलीला मैदान उस वक्त पहुंचे, जब रामदेव ने 2014 के चुनाव में कांग्रेस को हराने का आह्वान किया।

इस मौके पर मंच से लोगों को संबोधित करते हुए शरद यादव ने कहा कि भ्रष्टाचार दिल्ली से लेकर अब गांव तक फैल गया है। शरद यादव ने कहा कि लंदन ओलिंपिक में पदक जीतने वाले अधिकतर लोग किसान के बेटे हैं।

भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ कदम उठाने के लिए अल्टीमेटम दिए जाने के बावजूद केन्द्र सरकार की चुप्पी के बाद अपने तेवर कड़े करते हुए दिल्ली के रामलीला मैदान में 9 अगस्त से अनशन पर बैठे बाबा रामदेव ने सोमवार को संसद के समक्ष धरने पर बैठ जाने का ऐलान किया था।

रामदेव ने केन्द्र में सत्तारूढ़ यूपीए की प्रमुख घटक कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाया कि वह भ्रष्टाचार को बढ़ाना चाहती है, और काले धन पर रोक नहीं लगाना चाहती। बाबा रामदेव ने अपने उद्बोधन में समर्थकों का आह्वान किया कि वे अब जाग जाएं और आगे की गतिविधि के लिए तैयार रहें। बाबा ने पहले किसी भी राजनीतिक दल का नाम लिए बिना कहा कि एक पार्टी ने अपने आप ही साबित कर दिया है कि वह भ्रष्टाचार को बढ़ाना चाहती है, और काले धन पर रोक नहीं लगाना चाहती, इसीलिए अगले चुनाव में इसी पार्टी का विरोध भी करना है, लेकिन इसके तुरन्त बाद बाबा रामदेव ने नारा लगवाया, “कांग्रेस हटाओ, भ्रष्टाचार मिटाओ…”

इससे पहले बाबा रामदेव ने कहा था कि रामलीला मैदान से उठने के बाद अब वह और कार्यकर्ता संसद का घेराव नहीं करेंगे, बल्कि संसद के समक्ष धरने पर बैठेंगे, और कुछ ही देर में संसद तक मार्च किया जाएगा। बाबा रामदेव ने यह भी कहा कि संसद में कुछ सांसद ईमानदार और राष्ट्रभक्त हैं। उनका कहना था कि अब यह सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है और अब हम इस सरकार की तेरहवीं की तैयारी करेंगे। रामदेव ने कहा कि अगला लोकसभा चुनाव जब भी होगा, यह आंदोलन इस बात को सुनिश्चित करने की कोशिश करेगा कि अगली बार एक भी बेईमान सांसद न चुना जा सके।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को बाबा रामदेव के अनशन का पांचवां दिन है, लेकिन केंद्र सरकार की तरफ से किसी भी तरह की प्रतिक्रिया न आने के बाद रामदेव के मिजाज अब गर्म हो गए हैं।

रविवार को सरकार पर तीखे प्रहार करने के साथ-साथ रामदेव ने अब कांग्रेस के खिलाफ बगावत का ऐलान कर दिया। रामदेव ने कहा कि उन्होंने अपनी मांगों पर विचार करने के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को शाम पांच बजे तक का मौका दिया था, लेकिन कोई जवाब नहीं आने पर उन्होंने आज तक का वक्त दिया है।

बाबा रामदेव को बवाना जेल ले गई पुलिस

Posted by mpsamachar On August - 13 - 2012Comments Off on बाबा रामदेव को बवाना जेल ले गई पुलिस

नई दिल्ली।। रामलीला मैदान में पांच दिन के अनशन के बाद संसद पर धरना देने के लिए निकले योगगुरु बाबा रामदेव और उनके समर्थकों को पुलिस ने बीच रास्ते में रोककर सोमवार दोपहर करीब पौने दो बजे हिरासत में ले लिया। उन्हें बवाना के राजीव स्टेडियम में बनाई गई अस्थाई जेल ले जाया गया है। इससे पहले बाबा समर्थक बस के आगे लेट गए। सड़क पर लेट गए है।

बस के आगे लेटे बाबा समर्थक
पुलिस ने बाबा रामदेव और उनके समर्थकों को डीटीसी की बसों में बिठाया है। बाबा रामदेव जिस बस में सवार हैं उसे उनके समर्थकों ने रोक दिया है। बाबा के समर्थक बस को आगे नहीं बढ़ने दे रहे हैं और सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। कुछ समर्थक बस के आगे लेट गए हैं। रामदेव और उनके समर्थकों को बवाना में बनाई गई अस्थाई जेल में ले जाया जाएगा। रामदेव ने सुबह रामलीला मैदान से संसद पर धरना देने का ऐलान किया था।

हिरासत से पहले बाबा बोले…

हिरासत में लिए जाने से पहले बाबा रामदेव ने कहा, ‘हमें संसद तक जाना था। रामलीला मैदान से संसद पर धरने का ऐलान किया था। सभी शांति के साथ मार्च कर रहे थे, लेकिन पुलिस हमें रोक रही है। हम इसका विरोध नहीं कर रहे हैं। हम लोकतंत्र का सम्मान करते हैं। दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार की कठपुतली है। वह सरकार के इशारे पर काम कर रही है। ‘

पुलिस हिरासत में लिए गए बाबा रामदेव, बस के आगे डटे समर्थक

Posted by mpsamachar On August - 13 - 2012Comments Off on पुलिस हिरासत में लिए गए बाबा रामदेव, बस के आगे डटे समर्थक

नई दिल्ली. नौ अगस्‍त से रामलीला मैदान में अनशन कर रहे बाबा रामदेव (पढि़ए बाबा की राम कहानी) को सोमवार को हिरासत में ले लिया गया। वह आर-पार की लड़ाई के लिए समर्थकों के साथ संसद मार्च कर रहे थे। खुली जिप्‍सी पर सवार होकर संसद की तरफ बढ़ रहे रामदेव और उनके काफिले को पुलिस ने रंजीत सिंह फ्लाईओवर के पास रोका। वहां बाबा अपने समर्थकों को संबोधित करने लगे। तभी एसीपी राजा राम यादव उनकी गाड़ी पर चढ़े और बाबा का हाथ पकड़ लिया। बाबा ने अपने समर्थकों से कहा, ‘यह हमारा हाथ पकड़ रहे हैं। कांग्रेस का हाथ तो हमारे साथ नहीं है।’
बाद में बाबा को गाड़ी से उतार कर एक बस में बैठाया गया। रामदेव के समर्थकों की गिरफ्तारी के लिए दिल्‍ली पुलिस ने 90 बसें खड़ी की हैं। इन्‍हीं में से एक बस में समर्थकों के साथ बाबा को बवाना रवाना किया जाना है। लेकिन बाबा की बस के आगे समर्थक डटे हुए हैं। वे उन्‍हें रास्‍ता देने के लिए तैयार नहीं हैं।  बवाना के राजीव गांधी स्‍टेडियम में अस्‍थायी जेल बनाई गई है। रामदेव के समर्थकों को अलग-अलग बसों में बिठा कर ले जाने की तैयारी है।
सरकार ने बाबा के आंदोलन (देखिए आज की तस्‍वीरें) को अभी भी गंभीरता से नहीं लिया है। हालांकि मंत्रियों का एक समूह बैठक कर इस समय के घटनाक्रम पर विचार कर रहा है। काले धन पर विपक्ष के हंगामे के बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही दोपहर तक स्‍थगित करनी पड़ी। खबर यह भी है कि सरकार संसद में इस मसले पर बहस के लिए तैयार हो सकती है।

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या