18
January - 2018
Thursday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

कुरीतियों की समाप्ति के लिए परिचय सम्मेलन सशक्त माध्यम : राज्यपाल

Posted by mpsamachar On December - 17 - 2012Comments Off on कुरीतियों की समाप्ति के लिए परिचय सम्मेलन सशक्त माध्यम : राज्यपाल

राज्यपाल श्री राम नरेश यादव ने कहा है कि विवाह सम्बन्धों के तय होने की प्रक्रिया में कुरीतियों की समाप्ति के लिए युवक-युवती परिचय सम्मेलन एक सशक्त माध्यम है। उन्होंने कहा कि इन सम्मेलन में वर और वधु, दोनों पक्ष को अपनी संतान के लिए योग्य जीवन साथी चुनने के लिए एक ही स्थान पर अनेक विकल्प सहजता और सरलता से उपलब्ध होते हैं। राज्यपाल श्री यादव आज यहाँ टीन शेड पर अखिल भारतीय दिगम्बर जैन युवक- युवती परिचय सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे।

राज्यपाल श्री यादव ने कहा कि किसी भी परिवार के लिए अपने पुत्र अथवा पुत्री के अनुरूप योग्य जीवन साथी की तलाश बहुत श्रमसाध्य और खर्चीली प्रक्रिया है। इसके चलते कई बार गैरवाजिब मांगें भी मानने को बाध्य होना पड़ता है। परिचय सम्मेलनों में इतनी पारदर्शिता होती है कि किसी प्रकार के लेन-देन अथवा दहेज जैसी कोई समस्या पैदा ही नहीं हो पाती है। दोनों पक्ष को एक दूसरे के परिवारों के बारे में पूरी जानकारी मिल जाती है। युवक के साथ युवती को भी यह अवसर प्राप्त होता है कि वह अपने जीवन साथी के विषय में स्वयं निर्णय ले सके। श्री यादव ने समाज को इस पहल के लिए बधाई देते हुए अन्य सामाजिक संगठन से भी इस दिशा में आगे आने की अपील की।

पूर्व में राज्यपाल ने भगवान महावीर स्वामी के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्जवलन करते हुए कहा कि उनके दया, प्रेम, करूणा, त्याग और शील के उपदेश आज के समय में और भी प्रासंगिक हैं। राज्यपाल ने समाज की स्मारिका मिलन‘ के दो अंक का विमोचन और समाज के बुलेटिन मध्यांचल‘ का लोकार्पण किया।

समाज के अध्यक्ष श्री मनोहर लाल जैन टोंग्या ने बताया कि यह सम्मेलन अब अंतर्राष्ट्रीय स्वरूप ले चुका है। इसमें अभी तक की सबसे अधिक 4036 प्रविष्टियाँ आई हैं। पूर्व में श्री चन्द्रकुमार जैन ने स्वागत भाषण दिया। प्रतीक स्वरूप दो युवक-युवती ने अपना- अपना परिचय दिया।

समारोह में राज्यपाल श्री यादव का शाल, श्रीफल और स्मृति-चिन्ह देकर अभिनन्दन किया गया। श्री अशोक जैन ‘भाभा’ ने आभार माना।

पत्रकारिता लोक जागरण का अनुष्ठान है – राज्यपाल श्री यादव

Posted by mpsamachar On December - 17 - 2012Comments Off on पत्रकारिता लोक जागरण का अनुष्ठान है – राज्यपाल श्री यादव

राज्यपाल श्री राम नरेश यादव ने कहा है कि पत्रकारिता लोक जागरण का अनुष्ठान है। युवा पत्रकारों पर इस देश की एकता को बचाए और बनाये रखने की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि लोक मंगल के लिए काम करना ही मीडिया का दायित्व है। मीडिया की पारम्परिक संस्कृति और इतिहास इसे आम आदमी की वाणी बनने की सीख देते हैं। राज्यपाल श्री यादव आज यहाँ सेंट्रल प्रेस क्लब की सहयोगी संस्था राजधानी पत्रकार गृह निर्माण सहकारी संस्था के भूमि-पूजन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।

ज्ञातव्य है कि सेंट्रल प्रेस क्लब ने पत्रकारों की आवास समस्या को हल करने के लिए राजधानी पत्रकार गृह निर्माण सहकारी संस्था का गठन किया था। राज्य शासन द्वारा संस्था के 208 श्रमजीवी पत्रकारों के आवास निर्माण के लिए गांधीनगर बायपास एयरपोर्ट रोड, संजीव नगर के पीछे, नेवरी गाँव में 11.68 एकड़ भूमि आवंटित की गई है। पूर्व में राज्यपाल श्री यादव ने पारम्परिक रीति-रिवाजों के अनुसार भूमि-पूजन किया।

राज्यपाल श्री यादव ने कहा कि पत्रकार समाज को दिशा-निर्देश देने का महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं। अतः शासन को भी उनकी समस्याओं के बेहतर समाधान के लिए हरसम्भव मदद करना चाहिए। श्री यादव ने पत्रकारों से आग्रह किया कि समाचारों के प्रकाशन के पूर्व तथ्यों और सत्यता का परीक्षण करते रहने से साख और विश्वसनीयता बनी रहती है।

पर्यावरण मंत्री श्री जयंत मलैया ने कहा कि पत्रकारों को आवास निर्माण के कार्य में अनावश्यक आर्थिक बोझ से बचाने के लिए शासन भू-खण्ड के अधोसंरचनात्मक विकास के कार्यों को अधिकतम रियायती दरों पर करवाने की पहल करेगा। उन्होंने समिति के सदस्य पत्रकारों से कहा कि वे भवन निर्माण में एकरूपता बनाये रखें।

पूर्व में संस्था के अध्यक्ष और दैनिक नई दुनिया के वरिष्ठ पत्रकार श्री के.डी.शर्मा ने गृह निर्माण समिति के गठन और उसकी गतिविधियों का ब्यौरा दिया। राष्ट्रीय हिन्दी मेल के सम्पादक श्री विजय कुमार दास ने स्वागत भाषण दिया और समारोह का संचालन किया। स्वदेश के सम्पादक श्री अक्षत शर्मा ने आभार माना। इस अवसर पर जनसम्पर्क आयुक्त श्री राकेश श्रीवास्तव और बड़ी संख्या में पत्रकार उपस्थित थे।

राज्यपाल ने श्री बोबड़े को मुख्य न्यायाधिपति के पद की शपथ दिलाई

Posted by mpsamachar On October - 16 - 2012Comments Off on राज्यपाल ने श्री बोबड़े को मुख्य न्यायाधिपति के पद की शपथ दिलाई

राज्यपाल श्री राम नरेश यादव ने आज यहाँ राजभवन में आयोजित संक्षिप्त एवं गरिमामय आयोजन में न्यायमूर्ति श्री शरद अरविंद बोबड़े को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधिपति के पद की शपथ ग्रहण करवाई। शपथ ग्रहण समारोह का संचालन मुख्य सचिव श्री आर. परशुराम ने किया। ज्ञातव्य है कि राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने विगत 5 अक्टूबर 2012 को श्री शरद अरविंद बोबड़े को मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधिपति नियुक्त किया था।

शपथ ग्रहण कार्यक्रम सम्पन्न होने पर राज्यपाल श्री राम नरेश यादव और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्य न्यायाधिपति श्री शरद अरविंद बोबड़े को बधाई और शुभकामनाएँ दीं। श्री बोबड़े इसके पूर्व महाराष्ट्र में पदस्थ थे।

इस अवसर पर सांसद श्री कैलाश जोशी, वित्त मंत्री श्री राघवजी, कृषि मंत्री श्री रामकृष्ण कुसमरिया, श्रम मंत्री श्री जगन्नाथ सिंह, महापौर श्रीमती कृष्णा गौर, लोकायुक्त श्री पी.वी. नावलेकर, पुलिस महानिदेशक श्री नन्दन दुबे, प्रमुख सचिव विधि श्री के.डी. खान, अपर मुख्य सचिव गृह श्री इंद्रनील शंकर दाणी, राज्यपाल के प्रमुख सचिव श्री विनोद सेमवाल, मुख्य मंत्री के प्रमुख सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव एवं पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

समारोह में श्री बोबड़े के परिजनों सहित वरिष्ठ न्यायमूर्ति, न्यायाधीश और अधिवक्ता बड़ी संख्या में मौजूद थे।

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या