20
June - 2018
Wednesday
SUBSCRIBE TO NEWS
SUBSCRIBE TO COMMENTS

श्री जयंत मलैया द्वारा जे.पी. अस्पताल में निःशुल्क पैथालाजी जाँच सुविधा का शुभारंभ

Posted by mpsamachar On February - 2 - 2013Comments Off on श्री जयंत मलैया द्वारा जे.पी. अस्पताल में निःशुल्क पैथालाजी जाँच सुविधा का शुभारंभ

jayant-malaiyaभोपाल जिले के प्रभारी जल संसाधन मंत्री श्री जयंत मलैया ने कहा है कि राज्य शासन ने समाज के प्रत्येक व्यक्ति को अस्पताल से निःशुल्क दवा सुविधा उपलब्ध करवाने के पश्चात अब निःशुल्क जाँच की सुविधा भी मुहैया करवाई गई है। उन्होंने कहा कि मरीजों को शासन द्वारा दी गई इन दोनों सुविधाओं का समुचित लाभ उठाना चाहिए। श्री मलैया आज स्थानीय शासकीय जयप्रकाश अस्पताल में पैथालाजी जाँच सुविधा का शुभारंभ कर रहे थे। इस दौरान विधायक श्री जितेन्द्र डागा भी उपस्थित थे।

मंत्री श्री मलैया ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने प्रदेश के नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के लिए अनेक योजनाओं को लागू किया है। इस क्रम में तीन माह पहले सरदार पटेल निःशुल्क औषधि वितरण योजना के बाद सभी शासकीय चिकित्सालयों में न्यूनतम आवश्यक जाँच सुविधाएँ रोगियों को निःशुल्क उपलब्ध करवाने की शुरूआत की गई है। उन्होंने कहा कि इस तरह की सुविधा देने वाला मध्यप्रदेश पहला राज्य है।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री प्रवीर कृष्ण ने बताया कि निःशुल्क जाँच योजना लागू होने से आमजन एवं चिकित्सालयों में आने वाले मरीजों को लाभ होगा। शासकीय अस्पताल में पैथालॉजिकल जाँचों के अलावा उपलब्धता के अनुसार ईसीजी, सोनोग्राफी, ईको कार्डियोग्राफी एवं एक्स-रे की सुविधा भी निःशुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी। श्री कृष्ण ने बताया कि जयप्रकाश अस्पताल में अभी 43 विभिन्न जाँच की निःशुल्क सुविधा उपलब्ध है। अगले माह से अस्पताल में 48 जाँच निःशुल्क करवाई जा सकेगी।

निरीक्षण

प्रभारी मंत्री श्री जयंत मलैया ने अस्पताल में बन रहे आई.सी.यू. कक्ष का अवलोकन किया और कार्य की प्रगति से अवगत हुए। श्री मलैया ने विभिन्न कक्ष में स्थापित एक्स-रे मशीन, सोनोग्राफी और ईसीजी उपकरणों का भी अवलोकन किया।

श्री मलैया जब कक्षों के अवलोकन के बाद लौट रहे थे तभी एक महिला श्रीमती वीणा चौहान ने उन्हें बताया कि उन्होंने सोनोग्राफी की जाँच के लिए 31 जनवरी, 2013 को रुपये 135 अस्पताल में जमा किये थे जो निःशुल्क जाँच सुविधा की शुरूआत के साथ ही उन्हें वापस मिल गये हैं। महिला ने इसके लिए राज्य शासन के लिए प्रति धन्यवाद भी ज्ञापित किया।

स्वास्थ्य आयुक्त श्री पंकज अग्रवाल, संचालक लोक स्वास्थ्य डॉ. संजय गोयल और कलेक्टर श्री निकुंज श्रीवास्तव भी उपस्थित थे। संचालन मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. वीणा सिन्हा ने किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान एक फरवरी को करेंगे अंतर्राष्ट्रीय हार्टी एक्सपो का शुभारंभ

Posted by mpsamachar On January - 31 - 2013Comments Off on मुख्यमंत्री श्री चौहान एक फरवरी को करेंगे अंतर्राष्ट्रीय हार्टी एक्सपो का शुभारंभ

bhopalमध्यप्रदेश के उद्यानिकी किसानों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय-स्तर पर उपलब्ध नवीनतम तकनीकों से अवगत करवाने और उत्पादों के विक्रय तथा प्रदर्शन के लिये भोपाल के भेल दशहरा मैदान पर एक से तीन फरवरी तक इंटरनेशनल हार्टी एक्सपो-2013 का आयोजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एक फरवरी को पूर्वान्ह 11 बजे बीएचईएल, भोपाल के दशहरा मैदान में एक्सपो का शुभारंभ करेंगे। उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण मंत्री श्री कैलाश विजयवर्गीय कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। कृषि विकास एवं किसान-कल्याण मंत्री डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया विशेष अतिथि होंगे।

एक्सपो में उद्यानिकी और उद्यानिकी को प्रभावित करने वाले सभी घटकों की निर्माता कम्पनियों को अपने उत्पाद प्रदर्शित करने के लिये आमंत्रित किया गया है। किसानों को उनकी फसलों के बारे में जानकारी देने के लिये सभी विधाओं के विशेषज्ञ भी बुलाये गये हैं। यह विशेषज्ञ सेमीनार-संगोष्ठी में सतत् जानकारी देंगे। सेमीनार में उद्यानिकी किसानों को आने वाली समस्याओं पर भी विस्तार से चर्चा की जायेगी।

हार्टी एक्सपो में उद्यानिकी में उपयोग किये जाने वाले आवश्यक उपकरणों, कीट-नाशक, खाद-बीज आदि के विक्रय की व्यवस्था भी रहेगी। प्रदर्शनी में प्रदेश के सफल उद्यानिकी किसानों की सफलता की कहानियाँ भी प्रदर्शित की जायेगी। इसमें उद्यानिकी क्षेत्र के सफल किसानों को भी बुलाया गया है, जो अपने अनुभव अन्य किसानों के साथ बाँटेंगे।

उद्यानिकी संचालनालय द्वारा किये जा रहे हार्टी एक्सपो में किसानों, उत्पादकों, शोध और विकास संस्थानों, सब्जी व्यापारियों, जैविक खेती में संलग्न एजेंसियों, प्र-संस्करणकर्ताओं, तकनीकी प्रदायकों, निर्यातकों, आदान प्रदायकों, उपकरण और मशीनरी निर्माताओं तथा सलाहकारों की भी भागीदारी रहेगी।

हार्टी एक्सपो में प्रदेश तथा बाहर के 10 हजार किसान रोजाना भाग लेंगे। भारत और विदेश के 100 प्रदर्शनकर्ता भी इसमें शिरकत करेंगे। इसके अलावा 300 वन-टू-वन बैठक होंगी, अंतर्राष्ट्रीय-स्तर के विशेषज्ञों के व्याख्यान होंगे और संगोष्ठी में 400 से अधिक लोग भागीदारी करेंगे। साथ ही नर्सरी डेव्हलपर्स, केन्द्र और राज्य सरकार के संगठनों के प्रतिनिधि, कीट-नाशक कम्पनियों के प्रतिनिधि, डीलर्स, डिस्ट्रीब्यूटर्स, उद्यमी, कृषि विज्ञान केन्द्रों के प्रमुख, बीज प्रमाणीकरण एजेंसियाँ, विश्वविद्यालयों तथा शोध संस्थानों के प्रतिनिधि, बैंकर्स, निवेशक और अन्य संबंधित लोग भी हार्टी एक्सपो में शिरकत करेंगे।

अखिल भारतीय मालवा ट्रॉफी प्रतियोगिता का शुभारंभ

Posted by mpsamachar On January - 30 - 2013Comments Off on अखिल भारतीय मालवा ट्रॉफी प्रतियोगिता का शुभारंभ

Malwa-trophyउच्च शिक्षा एवं जनसंपर्क मंत्री श्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने आज सिरोंज में अखिल भारतीय मालवा ट्रॉफी फुटबाल प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। गुरुवर पं. चन्द्रमोहन शर्मा की स्मृति में यह प्रतियोगिता प्रतिवर्ष आयोजित की जाती है। कार्यक्रम की अध्यक्षता सचिव खेल एवं युवा कल्याण श्री अशोक कुमार शाह ने की। उद्घाटन मैच में आदिवासी क्लब, इंदौर ने जीत दर्ज की।

श्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि फुटबाल प्रतियोगिता के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर खेल मानचित्र में सिरोंज का नाम पहुँचा है। भारतीय फुटबाल संघ की देखरेख में यह प्रतियोगिता होती है। मालवा फुटबाल ट्रॉफी की लोकप्रियता देश के खेल-प्रेमियों में पहुँची है। उन्होंने बताया कि सिरोंज में एक करोड़ 70 लाख की लागत से खेल स्टेडियम बनाया जा रहा है।

खेल सचिव श्री अशोक शाह ने कहा कि खेल विभाग के अंतर्गत गठित अकादमियों में ओलम्पिक के लिये खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने की योजना तैयार की गई है। प्रदेश में मुख्यमंत्री युवा ओलम्पिक का आयोजन करने का निर्णय लिया गया है। इसमें ब्लॉक, जिला एवं राज्य-स्तर पर प्रतियोगिताएँ आयोजित होंगी।

कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन और सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ हुआ।

प्रथम मैच में इंदौर ने जयपुर को हराया

इस अवसर पर प्रतियोगिता का प्रारंभिक मैच आदिवासी क्लब, इंदौर और जयपुर इलेवन, जयपुर के बीच खेला गया। मैच में दोनों टीमों के 1-1 से बराबर रहने के बाद पेनाल्टी शूट में इंदौर ने जयपुर को 5-4 से हराया। वहीं दूसरा मैच हीरोज क्लब कोटा, राजस्थान एवं यूनाईटेड क्लब महू के बीच सम्पन्न हुआ। मैच के पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री श्री लक्ष्मीकांत शर्मा एवं खेल एवं युवा कल्याण विभाग के सचिव श्री शाह ने खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त किया। प्रतियोगिता का फायनल मैच रविवार 3 फरवरी को होगा। टूर्नामेंट में देश की महत्वपूर्ण टीमें हिस्सा ले रही हैं।

संपर्क सेतु योजना का मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा शुभारंभ

Posted by mpsamachar On January - 29 - 2013Comments Off on संपर्क सेतु योजना का मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा शुभारंभ

shivraj-2मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज यहाँ स्वास्थ्य विभाग के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को विशेष सिम द्वारा जोड़ने के ‘संपर्क सेतु‘ कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम के तहत स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को 77 हजार सिमकार्ड वितरित की जा रही है। आशा दिवस पर आयोजित इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा विशेष रूप से उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में मोबाइल द्वारा प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य झाबुआ जिले के ग्राम गोपालपुरा की आशा कार्यकर्ता श्रीमती निर्मला मकवाना से बात की और स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी ली। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वास्थ्य विभाग को बधाई देते हुए कहा कि इस कार्यक्रम के जरिये स्वास्थ्य संबंधी सूचनाओं के त्वरित आदान-प्रदान से विभाग की सेवायें और बेहतर बनेगी। दूरस्थ क्षेत्रों के लिये तत्काल सूचनाएं मिल सकेगी। स्वास्थ विभाग का अमला जीवंत संपर्क में रहेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के जरिये टीकाकरण, संस्थागत प्रसव, जननी सुरक्षा और स्वास्थ्य संबंधी अन्य विषयों की जानकारी भी ली जाये।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने झाबुआ जिले की आशा कार्यकर्ता से सीधे बात करते हुये विभाग की तमाम योजनाओं की जानकारी ली। उन्होंने पूछा कि टीकाकरण कार्यकर्ताओं का भुगतान समय पर हो रहा है कि नहीं, क्षेत्र में कहीं कोई बीमारी तो नहीं फैली। संस्थागत प्रसव की स्थिति सहित विभागीय योजनाओं की जानकारी लेते हुये उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं को ग्रामीणों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें देने के लिये बेहतर कार्य करने को कहा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस मौके पर स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं की सीडी स्वास्थ्य सरगम‘ और आशा मार्गदर्शिका के ब्रोशर का विमोचन भी किया। कार्यक्रम में प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री प्रवीर कृष्ण, सचिव श्री सूरज डामोर, आयुक्त स्वास्थ्य श्री पंकज अग्रवाल, संचालक स्वास्थ्य डॉ. संजय गोयल, संचालक स्वास्थ्य अशोक शर्मा सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

संपर्क सेतु योजनासंपर्क सेतु योजना के अंतर्गत 77 हजार सिमकार्ड स्वास्थ्य विभाग की समस्त आशा, समस्त एएनएम, एम.पी.डब्लू. महिला एवं पुरूष सुपरवाइजर, खण्डचिकित्सा अधिकारी, स्वास्थ्य संस्थाओं (प्राथमिक/समुदाय स्वास्थ्य केन्द्र व सिविल अस्पताल) के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक, सिविल सर्जन, मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा अन्य अधिकारियों को प्रदान की जा रही है। इस सिम के वितरण के पश्चात प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ उच्च अधिकारी से लेकर उप स्वास्थ्य केन्द्र तक के अधिकारी से स्वास्थ्य कार्यकर्ता सीधी बात कर सकेंगे। प्रदेश के किसी भी दूरस्थ अंचल में बीमारी होने की स्थिति में त्वरित अवगत करा सकेंगे। दूसरी ओर अधिकारी की इन्हीं विषयों पर कार्यकर्ताओं से संपर्क कर सकेंगे तथा जानकारी ले सकेंगे तथा आवश्यक दिशा निर्देश दे सकेंगे।

राज्यपाल द्वारा 28वें ‘लोकरंग’ का शुभारंभ

Posted by mpsamachar On January - 28 - 2013Comments Off on राज्यपाल द्वारा 28वें ‘लोकरंग’ का शुभारंभ

lokrangराज्यपाल श्री रामनरेश यादव ने गणतंत्र दिवस की संध्या पर शनिवार को स्थानीय रवीन्द्र भवन परिसर-स्वराज पार्क में जन-जातीय और लोक-कलाओं के 28वें राष्ट्रीय समारोह ‘‘लोकरंग’’ का शुभारंभ किया। इस दौरान संस्कृति और जनसंपर्क मंत्री श्री लक्ष्मीकांत शर्मा, आदिम-जाति और अनुसूचित-जाति कल्याण मंत्री श्री विजय शाह और आयुक्त पुरातत्व और संस्कृति सचिव श्री पंकज राग, संस्कृति संचालक श्री श्रीराम तिवारी विशेष रूप से उपस्थित थे।

कार्यक्रम में राज्यपाल ने जन-जातीय आभूषणों और गोदना जैसी प्रथाओं पर केन्द्रित संस्कृति विभाग की विशेष प्रदर्शनी ‘अंगराग’ का भी शुभारंभ किया। राज्यपाल श्री यादव ने समारोह में ‘नाद’, ‘लय’ और ‘बाल खेल’ प्रदर्शनियों का भी शुभारंभ किया। राज्यपाल ने ‘समवेत’ सांस्कृतिक प्रस्तुति और लोक-नृत्य प्रस्तुतियों का अवलोकन भी किया।

‘‘नाद’’ प्रदर्शनी में भारत के सभी अँचलों में धार्मिक, सामाजिक विधि-विधान और सांस्कृतिक अनुष्ठानों में प्रयुक्त होने वाली घंटियों/घुँघरुओं का संग्रह प्रदर्शित है। नृत्य पर एकाग्र ‘‘लय’’ प्रदर्शनी का संयोजन मुम्बई के श्री सुबोध पोतदार का है। इसी तरह तीसरी प्रदर्शनी में बच्चों के खेल स्वरूपों खासतौर से जन-जातीय और देशज बाल खेल स्वरूप प्रदर्शित किये गये हैं।

राज्यपाल ने समारोह में मध्यप्रदेश संस्कृति विभाग के विशेष और पहले महाकवि कालिदास पुरस्कार से डॉ. केशवराव सदाशिव शास्त्री मुसलगाँवकर को पुरस्कृत किया। पुरस्कार स्वरूप एक लाख 51 हजार और प्रशस्ति-पत्र श्री मुसलगाँवकर को प्रदान किया गया। राज्यपाल श्री यादव ने कार्यक्रम में भारत के संविधान की पहली प्रति में चित्रांकन करने वालों में शामिल इंदौर के चित्रकार श्री दीनानाथ भार्गव को स्वराज संस्थान संचालनालय के ‘संविधान के चितेरे’ पुरस्कार से सम्मानित किया।

गणतंत्र दिवस समारोह में उत्कृष्ट प्रदर्शन वाले हुए पुरस्कृत

राज्यपाल श्री यादव ने कार्यक्रम में राज्य-स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह 2013 में परेड में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले आर्म्स वर्ग में सी.आई.एस.एफ. को प्रथम, आर.ए.एफ. को द्वितीय एवं मध्यप्रदेश विशेष सशस्त्र बल की प्लाटून को तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया। इसी तरह अनआर्म्ड वर्ग में एन.सी.सी. सीनियर आर्मी विंग गर्ल्स डिवीजन को प्रथम, एन.सी.सी. आर्मी विंग बॉयज डिवीजन को द्वितीय एवं खेल प्लाटून को तृतीय पुरस्कार दिया गया। राज्यपाल ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति में प्रथम सरोजनी नायडू कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, भोपाल, द्वितीय दिल्ली पब्लिक स्कूल तथा तृतीय स्थान पाने वाले रेड रोज स्कूल, लाम्बाखेड़ा को पुरस्कृत किया। राज्यपाल ने झाँकियों में खेल एवं युवा कल्याण विभाग को प्रथम, जेल विभाग को द्वितीय तथा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय मध्यप्रदेश को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया। श्री यादव ने लोक-नृत्य में बुंदेलखण्ड के बधाई नृत्य को प्रथम तथा बैगा जनजाति के परधौनी नृत्य को द्वितीय पुरस्कार दिया। खेल एवं युवा कल्याण विभाग को गणतंत्र दिवस समारोह में सर्वश्रेष्ठ घुड़सवारी प्रदर्शन के लिये पुरस्कृत किया गया।

लोक सेवा गारंटी कानून सॉफ्टवेयर कर्मी पुरस्कृत

राज्यपाल ने मध्यप्रदेश लोक-सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम-2010 को प्रभावी ढंग से लागू करने वाले अधिकारियों को उत्कृष्ट योगदान के लिये पुरस्कृत किया। पुरस्कृतों में श्री प्रकाश राव, सीनियर टेक्नीकल डायरेक्टर, एनआईसी, श्री कमलेश जोशी टेक्नीकल डायरेक्टर, एनआईसी, श्री सुशील अग्रवाल साइंटिफिक अधिकारी एनआईसी, श्री बृजेन्द्र कुमार गगरानी, सीनियर सॉफ्टवेयर डेव्हलपर, श्री अंचल अंकुरनेरकर, सीनियर सॉफ्टवेयर डेव्हलपर, श्री वरदमूर्ति मिश्र विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी एवं श्री राजेश बाथम, संचालक (ज्ञान प्रबंधन) शामिल थे।

विभिन्न क्षेत्र की प्रतिभाएँ और उत्कृष्ट कर्मी भी हुए पुरस्कृत

राज्यपाल ने लोकरंग के शुभारंभ कार्यक्रम में डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम प्रोत्साहन पुरस्कार के लिये चयनित भोपाल जिले के छात्र-छात्राओं को भी पुरस्कृत किया। पुरस्कृत छात्र-छात्राओं में शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, हमीदिया क्रमांक-1 की कु. सादमा जफर, शासकीय मॉडल उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, शाहजहाँनाबाद के धर्मेन्द्र सिंह तोमर, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, विद्यालय, बरखेड़ी की कु. रुखसार, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, आनंदनगर के दीपेश शुक्ला, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, जहाँगीराबाद की कु. तनजीम, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, जहाँगीरिया के फरहान, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, बैरागढ़ की कु. रूबीना खान, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, कोटरा सुल्तानाबाद के प्रशांत, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, गुनगा की कु. निधि गुप्ता शामिल थे।

कार्यक्रम में राज्यपाल श्री यादव ने देशभक्ति काव्य-पाठ विजेताओं को भी सम्मानित किया। प्राथमिक स्तर पर शासकीय कन्या विद्यालय, रतनगवां, जिला रीवा की कु. खुशी सिंह, माध्यमिक-स्तर पर शासकीय कन्या शाला, बुरहानपुर की कु. टीना, हाई स्कूल/हायर सेकेण्डरी स्तर पर शासकीय विजयाराजे कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, उज्जैन की कु. दीपा को पुरस्कृत किया।

जनगणना कर्मी को मिले पदक और प्रशंसा-पत्र

इसी तरह कार्यक्रम में राज्यपाल ने जनगणना-2011 में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों को जनगणना पदक एवं प्रमाण-पत्र प्रदाय किये। जिला-स्तर पर जनगणना रजत-पदक अनुविभागीय अधिकारी श्री ए.एस. पवार, डिप्टी कलेक्टर, अनुविभागीय अधिकारी डॉ. वरदमूर्ति मिश्रा, चार्ज अधिकारी श्री संजय कुमार श्रीवास्तव, तहसीलदार बैरसिया, चार्ज अधिकारी श्री आकाश श्रीवास्तव, तहसीलदार, चार्ज अधिकारी श्री अतुल सिंह, तहसीलदार, अतिरिक्त सहायक चार्ज अधिकारी श्री मयंक वर्मा, प्रशासकीय अधिकारी, नगर निगम भोपाल एवं पर्यवेक्षक श्री प्रमोद श्रीवास्तव, पटवारी, हुजूर को प्रदान किया गया। राज्यपाल के हाथों काँस्य-पदक और प्रमाण-पत्र पाने वाले जनगणना कर्मियों में श्री राजेश श्रीवास्तव, अनुविभागीय अधिकारी, तत्कालीन तहसीलदार, हुजूर और श्री हुकुमचंद बाथम, पीसीओ, तहसील, बैरसिया शामिल थे।

पचमढ़ी उत्सव का विधिवत शुभारंभ

Posted by mpsamachar On December - 27 - 2012Comments Off on पचमढ़ी उत्सव का विधिवत शुभारंभ

राष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर विशेष स्थान रखने वाली ‘सतपुड़ा की रानी’ पचमढ़ी में मंगलवार 25 दिसम्बर को पचमढ़ी उत्सव का विधिवत शुभारंभ हुआ। उत्सव के पहले दिन विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हुए।

उत्सव की शुरुआत में नागपुर से आई सुश्री उज्जवला ने लावणी नृत्य, उड़ीसा के प्रिंस ग्रुप द्वारा कृष्णा डांस और सतना की कु. प्रीति चंदेल ने कथक नृत्य की आकर्षक प्रस्तुति दी। पहले दिन पर्यावरण के प्रति जागरूकता और ‘स्वच्छ पचमढ़ी-ग्रीन पचमढ़ी’ के नारे के साथ पचमढ़ी के नागरिकों ने मैराथन दौड़ में भाग लिया। मैराथन दौड़ 5 एवं 10 किलोमीटर की दो श्रेणियों में हुई। प्रथम तीन प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया गया। पचमढ़ी उत्सव के कार्निवॉल में समस्त स्कूल के छात्र-छात्राओं ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

उत्सव में बेटी बचाओ अभियान के प्रचार-प्रसार के लिए होशंगाबाद से प्रारंभ हुई साइकिल रैली बाबई, सोहागपुर, पिपरिया होते हुए पचमढ़ी पहुँची। यह रैली आज 26 दिसम्बर को ओल्ड होटल मैदान से निकलकर पचमढ़ी नगर में बेटी बचाओ अभियान का संदेश देगी।

उत्सव के शुभारंभ समारोह में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती योजनगंधा सिंह जूदेव ने कहा कि पचमढ़ी प्रदेश का गौरव है और पचमढ़ी उत्सव प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक। विधायक श्री ठाकुर दास नागवंशी ने कहा कि उत्सव को और अधिक बेहतर बनाने के हरसंभव प्रयास किये जाएँगे।

कलेक्टर श्री राहुल जैन ने बताया कि उत्सव में इस बार बाल फिल्म महोत्सव, मैराथन दौड़, विभिन्न प्रतियोगिताओं का समावेश भी किया गया है। उत्सव के दौरान 30 दिसम्बर तक विभिन्न आकर्षक कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी। उत्सव में प्रदेश के बुनकरों, हस्त-शिल्पियों और स्व-सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पाद विक्रय के लिए उपलब्ध होंगे।

इस अवसर पर विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री भगवान सिंह धूत, ब्रिगेडियर श्री अजीत कुमार, जिला न्यायधीश श्री एस.के. शुक्ला उपस्थित थे।

पर्यावरण संरक्षण में युवाओं की असरदार भूमिका

Posted by mpsamachar On December - 11 - 2012Comments Off on पर्यावरण संरक्षण में युवाओं की असरदार भूमिका

पर्यावरण मंत्री श्री जयंत मलैया ने कहा है कि पर्यावरण संरक्षण का बेहतर वातावरण बनाने में युवा असरदार भूमिका निभा सकते हैं। इस काम में प्राध्यापक एवं शिक्षकों को अपनी भागीदारी सुनिश्चित करना चाहिए। श्री मलैया आज यहाँ पर्यावरण संरक्षण एवं प्रबंधन विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ कर रहे थे।

श्री मलैया ने कहा कि सम्पूर्ण विश्व पर्यावरण की चिन्ता से ग्रसित है। इस दिशा में पर्यावरण नियोजन एवं संगठन (एप्को) द्वारा देश के जाने-माने पर्यावरण विशेषज्ञों की सेवाएँ ली गयी हैं। पर्यावरण संरक्षण एवं इसके सुधार के लिए बहुमूल्य सुझाव प्राप्त हो रहे हैं। श्री मलैया ने प्रतिभागी महाविद्यालयीन प्राध्यापक एवं विद्यालय शिक्षकों का आव्हान किया कि वे पर्यावरण विषय की गहरी रुचि रखने वाले 5 से 6 छात्र का ग्रुप मास्टर प्लान तैयार करें। उन्होंने इप्को को इसके लिए 5 लाख की राशि दिए जाने की घोषणा भी की।

श्री मलैया ने पर्यावरण प्रदूषण पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि पर्यावरण सुरक्षा की अनदेखी की जा रही है। लगातार पोलीथिन का प्रयोग महत्वपूर्ण कारक है। इसके प्रयोग से जहाँ अण्डर वाटर का स्तर प्रभावित हो रहा है वहीं जानवरो द्वारा पोलीथिन खाने से हजारों जानवर काल के मुँह में समा जाते हैं। आम लोगों को पोलीथिन का उपयोग करने से रोकने के लिए स्वैच्छिक संस्थाओं और बुद्धिजीवियों के साथ ही शिक्षा क्षेत्र में संलग्न प्राध्यापक एवं शिक्षकों को अध्ययनरत युवा छात्रों को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है।

आवास एवं पर्यावरण विभाग के प्रमुख सचिव इकबाल सिंह बैंस ने एप्को द्वारा पर्यावरण क्षेत्र में किए जा रहे प्रयासों एवं आगामी कार्य-योजना पर प्रकाश डालते हुए कहा कि बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के सहयोग से ‘एप्को’ द्वारा पर्यावरण विषय पर रिफ्रेशर कोर्स प्रारंभ किए जाएंगे। उन्होंने पर्यावरण संरक्षण का प्रशिक्षण राजधानी भोपाल के अलावा अन्य स्थानों पर श्रंखलाबद्ध रूप से प्रारंभ करवाये जाने का आश्वासन भी दिया।

मूल्य आधारित शिक्षा विश्व को बचा सकती है

Posted by mpsamachar On November - 26 - 2012Comments Off on मूल्य आधारित शिक्षा विश्व को बचा सकती है

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि मूल्य आधारित शिक्षा और आध्यात्म से ही विश्व को भौतिकवाद से उत्पन्न समस्याओं से बचा सकते हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मुख्यमंत्री निवास से मूल्य शिक्षा जागृति शोभा-यात्रा का शुभारंभ कर रहे थे। इस यात्रा का आयोजन ब्रह्माकुमारीज शिक्षा सेवा प्रभाग द्वारा किया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारत में हमेशा सर्वधर्म समभाव की बात कही गयी है। हर धर्म में मनुष्य निर्माण की शिक्षा दी गयी है। सभी धर्मों का सार दूसरों का भला करना है। शिक्षा का उद्देश्य ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार देना है। जीवन का उद्देश्य स्पष्ट होना चाहिये। जीवन को अर्थपूर्ण कामों से सार्थक बना सकते हैं। विकास केवल भवनों, पुल, पुलियाओं का निर्माण करना नहीं है बल्कि इसमें मनुष्य का आध्यात्मिक विकास भी शामिल है। उन्होंने ‘बेटी बचाओ अभियान’ का उल्लेख करते हुए कहा कि बेटियों के प्रति समाज की सोच बदलना होगी। क्योंकि बेटी है तो सृष्टि है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में बेटियों के लिये कई अभिनव योजनाएँ शुरू की गयी हैं।

कार्यक्रम के आरंभ में सुश्री अवधेश बहनजी ने स्वागत भाषण दिया। भ्राता श्री मृत्युंजय ने कार्यक्रम के बारे में जानकारी दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यात्रा का शुभारंभ हरी झंडी दिखाकर किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान तथा उनकी पत्नी श्रीमती साधना सिंह का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी से जुड़े भाई-बहन उपस्थित थे।

adhi mahotsav 2017 adhi mahotsav bhopal adhi mahotsav news bhopal haat bazaar top trifed bhopal आदि महोत्सव इंदौर उज्जैन खण्डवा गुना ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ग्वालियर चर्चा निधन पन्ना पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी बाबा रामदेव बैठक भेंट भोपाल भोपाल हाट मंत्रालय मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री निवास मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मुलाकात युवा राज्यपाल राज्यपाल श्री राम नरेश यादव राज्य शासन राज्य सरकार राष्ट्रीय जनजातीय उत्सव रोजगार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग लोकार्पण विमोचन शुभारंभ श्री शिवराजसिंह चौहान श्री शिवराज सिंह चौहान सीहोर हत्या